onlykinkysex

    Brooke Benz

    Release Date : 18 August 2018

    FULL VIDEO HERE

    harddick21blog

    Beautiful girl with a beast

    यह कहानी तब की है जब मेरी दिवाली की छुट्टियाँ चल रही थी तो मैं अपने अंकल के वहाँ चला गया जो वड़ोदरा में रहते हैं। उनका तीन लोगों का परिवार है, अंकल-आंटी और उनका 7 साल का बेटा। यह कहानी मेरी आंटी के बारे में है। मेरी आंटी का फ़ीगर क्या बताऊँ दोस्तो, वो कद में मुझसे छोटी है पर दिखने में किसी कयामत से कम नहीं ! मेरी और आंटी की बहुत जमती थी और अंकल एक बिजनेसमैन हैं, अंकल मुझे बड़े बेटे की तरह कम और दोस्त ज्यादा रखते थे। एक दिन अंकल को किसी काम से दूसरे शहर जाना पड़ा। उस रात मैं और आंटी बैठे थे। मेरी और आंटी की अच्छी बनती थी पर मैंने कभी आंटी को उस नजर से नहीं देखा था पर उसके इरादे आज मुझे साफ नहीं लग रहे थे। फ़िर भी हम बैठे थे। वो मुझे बोल रही थी- पराग अब तुम बड़े हो गए हो, अब तो तुम्हारी शादी करनी पड़ेगी ! मै- क्या कहा आपने? आंटी- शादी बुद्धू शादी। मै- आंटी, अभी तो मेरी पढ़ाई चल रही है? आंटी- तो क्या शादी के बाद नहीं पढ़ सकते क्या? दोस्तो, मैं बता दूँ कि हमारी बिरादरी में शादी बहुत जल्द हो जाती है। मै- हाँ, पढ़ तो सकते है लेकिन ! आंटी- लेकिन क्या पराग? मेरे जवाब देने से पहले आंटी ने फ़िर पूछा- देख पराग, तेरी पसन्द में कोई और हो तो बता दो वरना ! मै- नहीं, मुझे कोई पसन्द नहीं है। फ़िर मैंने पूछा- वरना क्या? आंटी- मैंने तुम्हारे पापा से बात की है कि मेरी छोटी बहन काजल को अपने घर की बहु बनाएँ। मैं- पर वो तो तुम्हारी बहन है। आप यह कहानी गुरु मस्ताराम डॉट कॉम पर पढ़ रहे है |  पर दोस्तो, मैं अंदर से बहुत खुश था क्योंकि काजल दिखने में इतनी खूबसूरत है कि पूछो ही मत ! स्वर्ग की अप्सरा जैसी। आंटी- तो क्या हुआ? अगर मेरी बहन तुम्हारी बीवी बने? मै- पर अभी तो मैंने कमाना भी चालू नहीं किया और बड़ी प्रोब्लम तो यह है कि शादी के बाद क्या करते हैं, मुझे पता नहीं? आंटी- ओेई हरिचन्द्र, तेरे पापा का अच्छा बिजनेस चल रहा है तेरे अंकल का भी अच्छी तरह से चल रहा है तो क्या मेरी बहन भूखी रहेगी तेरे घर में? मैं- यह बात भी ठीक है ! इतने में आंटी बोली- तेरे दूसरे प्रोब्लम में मैं तेरी मदद कर सकती हूँ ! मै- वो कैसे? आंटी- मैं तुम्हें सब सिखा दूंगी। और मैं तैयार हो गया मैं तो सांसारिक जीवन कैसे जीते हैं यह सीखना चाहता था पर आंटी सेक्स सिखाना चाहती थी। बातों ही बातों में रात के 12 बज गये तो मैंने कहा- चलो सो जाते हैं। तो आंटी ने कहा- सीखना नहीं है? “मैं कुछ समझा नहीं?” तो अब आंटी ने अपनी शरम छोड़ते हुए कहा- इसकी क्लास तो रात में ही लगती है ! मै- यह आप क्या कह रही हैं? मुझे तो सब समझ आ गया था कि आज आंटी मुझसे चुदने वाली हैं, और मैं भी खुश था। और उसी ख्याल में मेरा लन्ड कब खड़ा हो गया पता ही नहीं चला। अब मैं भी गर्म हो गया था और आंटी तो जैसे ज्वाला की तरह गर्म थी। तो आंटी ने मुझे अपने बेडरूम की तरफ़ इशारा किया, मैं समझ गया कि लाईन साफ़ है। मैं जब अन्दर गया तो आंटी ने मुझे अपनी ओर जोर से खींच लिया और मुझे पूरे बदन पर चुम्बन करने लगी। मैं तो स्वर्ग की सैर कर रहा था क्योंकि पहले कभी किसी लड़की ने मुझे छुआ तक नहीं था। अब वो मेरा लन्ड पैन्ट के ऊपर से ही बुरी तरह से मसल रही थी और मेरे मुँह से ओह आह की आवाज निकल रही थी और उसे मुझे तड़पा कर मजा आ रहा था। अब तक मैं ऐसे ही खड़ा था। अगले ही मिनट आंटी बोली- पराग, मैं तुम्हें पसन्द नहीं हूँ क्या? मै- नहीं आंटी, आप तो सुन्दर हैं।

    आंटी- तू झूठ बोल रहा है ! अगर मैं तुम्हें पसन्द होती तो अब तक तूने मुझे चोद दिया होता ! आंटी तीर पर तीर छोड़ रही थी और मेरे सब्र का बान्ध टूट रहा था। पर वो मेरी आंटी थी तो मैं उसे चोदना नहीं चाहता था लेकिन मैं भी जवान था, जल गया आंटी की ज्वाला में ! और मैं उसके ऊपर चढ़ गया लेकिन वो मेरे इस वार के लिए तैयार नहीं थी। फ़िर मैं उस पर भूखे शेर की तरह टूट पड़ा और मैं उसको पूरे चेहरे पर चुम्बन करने लगा, वो भी मुझे किस करने लगी। आग दोनों तरफ से लगी हुई थी। अब आंटी ने मेरे शर्ट के बटन खोलने चालू किए और मुझे एक नशा सा छाने लगा। अब मुझे पता नहीं था कि मैं क्या कर रहा था पर आंटी तो पूरे मूड में थी। आंटी ने मेरी पैन्ट को नीचे कर दिया अब मैं सिर्फ अन्डरवीयर मैं आंटी के सामने खड़ा था पर अब मेरी बारी थी आंटी के कपड़े उतारने की | तो मैंने आंटी के ऊपरी वस्त्र उतारने लगा तो मैं थोड़ा डर रहा था, मैंने धीरे से उसके स्तन पर हाथ रख दिया तो उसने मेरे दोनों हाथों को अपने हाथों से दबा दिया, मैंने उसका ऊपरी वस्त्र निकाल फेंका। अब उसके दोनों सन्तरे मेरे हाथों में थे तो मैं उनसे खेलने लगा। आंटी बोली- इनसे खेलते रहोगे या कुछ और करने का भी इरादा है? तो मैंने आंटी से कहा- वैसे तो मैं बहुत कुछ करना चाहता हूँ मेरी जान ! इस बार आंटी थोड़ा शरमा गई तो मैंने कहा- शरमा क्यूँ रही हो? आंटी मजाक करते हुए- तुम तो मेरे बेटे जैसे हो। मैं- हाँ, तो आज बेटे से ही चुदवा लो ! आंटी- बड़ा आया चोदने वाला ! मैंने देखा है तुम्हारा लौड़ा ! छीः ! मुझे तो तुम्हारे लौड़े को लौड़ा कहने में भी शरम आ रही है।आप यह कहानी गुरु मस्ताराम डॉट कॉम पर पढ़ रहे है | मैं- क्यूँ, आपने कब देखा? आंटी- तो क्या हुआ अगर मैंने तेरा लण्ड नहीं देखा तो आज तो जी भर कर देखूँगी और…!! इतना कह कर वो मेरे लण्ड पर टूट पड़ी। मेरे लण्ड को मुँह में भर लिया मेरे मुँह से आह ह्ह..अओह की आवाज आ रही थी क्योंकि यह मेरा पहला सेक्स अनुभव था तो दोस्तो, मैं 2 मिनट में झड़ गया और मैंने अपना सारा वीर्य आंटी के मुँह में छोड़ दिया और दोस्तो, क्या बताऊँ, दिल को कितना सुकून मिला ! पर दोस्तो, मैंने हार नहीं मानी। थोड़ी ही देर बाद आंटी को कस कर पकड़ कर अपना लण्ड आंटी की चूत के मुँह पर रख दिया और एक झटका लगाया तो मेर लण्ड आंटी चूत में पूरा समा गया। दोस्तो, इस अनुभव का मैं विस्तार नहीं कर सकता ! थोड़े शब्दो में कहूँ तो ”स्वर्ग भी कुछ नहीं है इस चूत के आगे !” पर मुझे लगा कि आंटी को कुछ परेशानी थी, उसकी आँखों से पानी निकल रहा था तो मैं रूक गया और आंटी को किस करने लगा और आंटी से पूछा- आंटी आपको बहुत दर्द हो रहा है? आंटी- हाँ, बहुत हो रहा है, इस तरह से कोई चोदता है अपनी आंटी को? मै- आपकी कोई मदद कर सकता हूँ? आंटी- हाँ, मादरचोद चोद दे मुझे मसल दे मेरी जवानी को… अब मैं आंटी को जोर-जोर से चोदने लगा, आंटी दर्द के मारे मुझसे कस कर लिपट गई और मेरी पीठ में अपने नाखून गड़ा दिए। आंटी बुरी तरह चिल्ला रही थी पर मैंने उस पर और उसकी चूत पर बिल्कुल रहम नहीं किया और जोर-जोर से अपना लण्ड पेलता रहा आंटी की चूत में। आंटी चिल्ला रही थी और बोल रही थी- पराग ! और जोर से चोदो… बहुत मजा आ रहा है, अओह… पराग चोद दो मुझे ! आज मत छोड़ना ! आह…आ आह ! की आवाज से पूरा कमरा गूंज रहा था। कितनी सेक्सी आवाज थी दोस्तो ! मैं तो पूरी ताकत से चोद रहा था। इतने में सब खत्म हो गया।  मैंने 20 मिनट चुदाई करके आंटी की चूत में ही झड़ गया क्योंकि मुझे पता था की आंटी की नसबंदी का ओपरेशन हो चुका है। इसलिए कोई प्रोब्लम नहीं थी। हम दोनों पर एक मदहोशी सी छाने लगी। इस दौरान आंटी तीन बार झड़ गई थी तो उसकी हालत तो मुझसे भी खराब थी, उसकी आँखें नशीली हो गई थी, उसकी आँखों में एक अजीब सा नशा था, अब वो मुझे किस कर रही थी और मेरी छाती को भी चूम रही थी। इतना सब होने के बाद रात के 3 बज गए, मैं और आंटी पूरी रात साथ बिना कपड़ों के ही सो गए। सुबह जब मैं उठा तो आंटी ने मुझे चाय के लिए बुलाया तो मैं चला तो गया आंटी के पास पर दोस्तो, रात के कारनामे से मैं आंटी के साथ आँख नहीं मिला पा रहा था। मैं चाय लेकर कम्रे में आ गया पर मैं अपने आप को रोक नहीं सका, मैं चाय पी करके रसोई में चला गया क्योंकि आंटी वहीं थी। आप यह कहानी गुरु मस्ताराम डॉट कॉम पर पढ़ रहे है | मैं रसोई में जाते ही आंटी की गर्दन पर किस करने लगा, तो आंटी पीछे मुड़ कर मेरे होंठों पर किस करने लगी और बोली- पराग, मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ… क्या तुम भी मुझे प्यार करते हो ? मैं- आई लव यू | दोस्तो, मैंने आंटी से यह नहीं कहा कि आप शादीशुदा हैं या ऐसा कुछ ! वैसे तो आप सभी काफी समझदार हैं, आंटी मुझसे क्यूँ चुदना चाहेगी उसका कारण तो आप जानते हो।  

    teenfucksleep

    teenfucksleep.tumblr.com

    pornsexworlds

    go follow pornsexworlds for more

    harddick21blog

    Two BBC together

    दोस्तों मैने गाण्ड मारने पर बहुत कहानियाँ पढ़ी हैं, कुछ अच्छी होती हैं लेकिन ज़्यादातर झूठ होती हैं। ऐसा लगता है यह कहानी नहीं बल्कि लेखक की कल्पना है। जिन लोगों को सेक्स नहीं मिलता या जो अपनी ख्वाहिश पूरी नहीं कर पाते वो कल्पना से कहानियाँ लिखते हैं। अगर इन कहानियों को सच समझा जाए तो गाण्ड मारना बहुत आसान लगता है। बस, लंड के सुपारे को गाण्ड के मुँह पर रखो और ज़ोर से धक्का लगाओ- हो गया… लड़की ज़ोर से चिल्लाएगी ……” ऊऊऊऊुउउइ मर गयी……… मेरी गाण्ड फाड़ दी ………..” और थोड़ी देर बाद उसे मज़ा आने लगेगा !! असलियत में ऐसा नहीं होता है। आप लोगों ने भी ऐसी बहुत कहानियाँ पढ़ी होंगी। मैने बहुत गाण्ड मारी है और मैं आपको यकीन दिलाना चाहता हूँ कि गाण्ड मारना इतना आसान नहीं है। मेरे अनुभव में तो चूत लेना भी इतना आसान नहीं होता जितना यह लोग गाण्ड मारना समझते हैं। अगर आप सचमुच में गाण्ड मारना चाहते हो और आप चाहते हो कि लड़की को भी उतना ही मज़ा आए जितना आपको आता है और वो बार बार आपसे गाण्ड मरवाने की चाहत रखे तो आपको मैं सही विधि बताता हूँ। ध्यान से पढ़िए आपकी मनोकामना पूरी होगी…. इस विधि में लड़की की गाण्ड की बात की गई है लेकिन अगर आप लड़के की गाण्ड मारना चाहते हैं तो भी यही विधि लागू होगी क्योंकि गाण्ड दोनों की एक जैसी होती है।

    ज़रूरी बातें : गाण्ड मारने से पहले कुछ ज़रूरी बातों का ध्यान रखना होगा। अगर इन बातों का ध्यान रखा गया तो लड़की को भी उतना ही मज़ा आएगा जितना आपको और वो आपसे बार बार गाण्ड मरवाने की कोशिश करेगी। अगर इन ज़रूरी बातों को नज़रअंदाज़ कर दिया तो हो सकता है आप गाण्ड कभी मार ही नहीं पाएँगे !

    लड़की की मंज़ूरी सबसे पहले यह बहुत ज़रूरी है कि लड़की गाण्ड मरवाने के लिए राज़ी हो। इसके लिए आपको उसे यह भरोसा दिलाना होगा कि आप ज़बरदस्ती नहीं करेंगे और अगर किसी भी वक़्त वो मना करती है तो आप रुक जएँगे। लड़की को ज़्यादा दर्द नहीं होना चाहिए। दर्द को कम करने का तरीक़ा इस विधि में आगे बताया गया है।

    गाण्ड की बनावट भगवान ने गाण्ड को संभोग के लिया नहीं बनाया इसलिए इसकी बनावट, पोज़िशन और प्रक्रिया ऐसी है कि आदमी का लिंग आसानी से उस में प्रवेश नहीं कर सकता (जैसा की चूत में कर सकता है)। इसके लिए आप को गाण्ड की बनावट के बारे में जानकारी होनी चाहिए। गाण्ड का काम शरीर से मल बाहर निकलना है। इसके मुँह की तरफ दो छल्लेदार मांसपेशियाँ (रिंग मसल्स) होते हैं जो कि अपनी इच्छा से खोले या बंद किए जा सकते हैं। एक छल्ला बिल्कुल मुँह पर होता है और दूसरा करीब पौन इंच अंदर की तरफ होता है। इन मांसपेशियों को आप अपनी गाण्ड में महसूस कर सकते हैं। अपनी बीच की उंगली पर तेल या क्रीम लगा कर अपनी गाण्ड में डालने की कोशिश करें। जो बाहर की मांसपेशी है वो अपने आप सिमट कर सिकुड़ जाएगी क्योंकि उसका काम है बाहर की चीज़ को अंदर जाने से रोकना ! अपने आप को थोड़ा रिलॅक्स करो और गाण्ड की मांसपेशी को ढीला करो तो आपकी उंगली थोड़ा अंदर चली जाएगी। अब आप दूसरी मांसपेशी को महसूस कर सकेंगे जो कि आपकी उंगली को और अंदर नहीं जाने देगी। इस मांसपेशी को भी आप ढीला कर सकते हैं और थोड़ी कोशिश के बाद आपकी उंगली इसके भी पार हो जाएगी। जब दूसरी मांसपेशी पार कर ली तो फिर कोई और रुकावट नहीं होगी और आपकी उंगली आसानी से अंदर जा सकती है। गाण्ड की ये मान्सपेशियाँ काफ़ी मज़बूत होती हैं और इनको आसानी से पार नहीं किया जा सकता। ख़ास तौर से अगर लड़की की मर्ज़ी ना हो तो। दूसरी बात यह भी है कि उंगली के मुक़ाबले में लंड का घेरा (साइज़) ज़्यादा होता है, इस कारण भी गाण्ड के अंदर डालना मुश्किल होता है। गाण्ड की एक ख़ासियत है कि चूत की तरह इसमें कोई तरल (लिक्विड) चीज़ का प्रवाह नहीं होता। जब लड़की सेक्स की लिए उत्सुक होती है तो उसकी चूत में अपने आप गीलापन होता है जिससे लंड का प्रवेश आसान हो जाता है। यह प्रकृति का तरीक़ा है क्योंकि चूत को बनाया ही इस काम के लिए है। गाण्ड में कोई प्राकृतिक चिकनाहट नहीं होती इसलिए वो हमेशा सूखी सी रहती है। ऐसी हालत में लंड के प्रवेश से ना केवल लड़की को दर्द होगा बल्कि पुरुष को भी मज़ा नहीं आएगा। कुछ देर के बाद लंड में भी दर्द हो सकता है तो चुदाई का मज़ा किरकिरा हो सकता है। गाण्ड की इन मांसपेशियों के इर्द गिर्द बहुत सी चेतना-नसें(नर्व-एंडिंग्स) होती हैं जिनमें रक्त संचार होता है। इस कारण गाण्ड मरवाने के दौरान लड़की को भी बहुत मज़ा आता है, शर्त यह है कि उसे दर्द ना हो। गाण्ड ठीक से ना मारी जाए तो लड़की को बहुत दर्द होता है।

    गाण्ड की बनावट से यह साफ हो गया है कि: 1) गाण्ड में कोई बाहर की चीज़ आसानी से अंदर नहीं जा सकती। 2) गाण्ड के अंदर कुछ भी डालने के लिए गाण्ड की मांसपेशियाँ को ढीला करना ज़रूरी है। 3) गाण्ड की मांसपेशियों को लड़की अपनी मर्ज़ी से ढीली या टाइट कर सकती है। 4) गाण्ड को बाहरी चिकनाहट की ज़रूरत होती है। 5) गाण्ड में नर्व एंडिंग्स होती हैं जिससे लड़की को गाण्ड मरवाने मैं मज़ा आता है। (यही कारण है कि दुनिया में इतने पुरुष समलिंगी होते हैं और खुशी खुशी गाण्ड मरवाते हैं)

    गाण्ड की तैयारी क्योंकि भगवान ने गाण्ड को संभोग के लिए नहीं बनाया है तो यह आपकी ज़िम्मेदारी बनती है कि आप उसे इस काम के लिए तैयार करें। यह तैयारी तुरन्त नहीं हो सकती। इसमें 2-3 दिन से लेकर 6-7 दिन तक लग सकते हैं। जितनी आराम से तैयारी करेंगे, लड़की को आप पर उतना ही भरोसा बढ़ेगा और आपको भी उतना ही सुख गाण्ड मारने में मिलेगा। इसलिए जल्दबाज़ी मत करें।

    गाण्ड की सफाई अगर लड़की ने मंज़ूरी दे दी है और वो गाण्ड मरवाने का अनुभव करना चाहती है तो अपने आप वो अपनी गाण्ड को अच्छी तरह से साफ करके आएगी। गाण्ड अगर गंदी होगी तो सारा मज़ा खराब हो जाएगा। सबसे मज़ेदार तरीक़ा है जब आप दोनों एक साथ स्नान करो और इस दौरान एक दूसरे के गुप्तांगों को सहलाओ और साफ करो।

    ज़रूरी सामान साफ बिस्तर 1-2 सख़्त तकिये 1-2 छोटे तौलिए 1 मोटी मोमबत्ती (1.5 – 2.0 इंच चौड़ी, 6-8 इंच लंबी) 1 ट्यूब के-वाइ जेली / नारियल तेल (तेल से जेली बेहतर है) ताडालफिल टॅबलेट (गाण्ड मारने के लिए लंड सख़्त होना बहुत ज़रूरी है। अगर आपका लंड शिथिल है या पूरी तरह खड़ा नहीं है तो एक ताडालफिल या सिल्डेनफिल टॅबलेट सियलिस/वियागरा लें सकते हैं जैसे फ़ोर्ज़ेस्ट 10 या फ़ोर्ज़ेस्ट 20. जिनको हृदय रोग या रक्त चाप की बीमारी है उन्हें यह गोली नहीं लेनी चाहिए। इस गोली का असर 24 से 36 घंटे तक रहता है। गाण्ड मारने से 15-20 मिनट पहले ले सकते हैं। कभी भी एक गोली से ज़्यादा ना लें !) के वाइ जेली की ट्यूब रु 90/- और फ़ोर्ज़ेस्ट (रु 200/- की 4) किसी भी केमिस्ट की दुकान पर मिल जाएगी।

    शुरुआत ध्यान रखो कि आपकी उंगली के नाख़ून बढ़े हुए नहीं हैं और ठीक तरह से कटे हुए हैं। नाख़ून के किनारे तेज़ नहीं होने चाहिए, उन्हें ठीक से फ़ाइल कर लो। अगर नाख़ून बढ़े होंगे तो जब उंगली लड़की की गाण्ड में डालोगे तो उसे लग सकता है। लड़की को गाण्ड की बनावट के बारे में और रिंग मसल्स को किस तरह से ढीला या टाइट कर सकते हैं, के बारे में बताओ। अब प्यार से लड़की के कपड़े उतारो और एक साफ बिस्तर पर पीठ के बाल लिटा दो। उसकी टाँगों को मोड़ दो और थोड़ा खोल दो। अब उसके चूतड़ों के नीचे 1-2 सख़्त तकिये रख कर उसके चूतड़ उपर की तरफ उठा दो जिससे उसकी चूत और गाण्ड साफ दिखाई दे। खुद भी पूरी तरह नंगे हो जाओ। अब उससे प्यार भारी बातें करो और पूरे शरीर को सहलाओ, खास तौर से उसके गाल, गर्दन, स्तन, चूचुक, पेट, जांघें और टाँगें ! कुछ देर तक उसकी चूत और गाण्ड को हाथ ना लगाएँ। थोड़ी देर में लड़की की चूची सख़्त हो जाएगी और वो अपनी टाँगें और खोल देगी। अब उसकी चूत को प्यार से सहलाना शुरू करो जिससे वो उत्तेजित हो जाए और चूत में से पानी का रिसाव होने लगे। अब लड़की चुदाई के लिए तैयार है पर हमारा इरादा उसकी गाण्ड मारने का है। अपनी एक उंगली पर अच्छी तरह से के-वाइ जेली (या नारियल तेल) लगा कर लड़की की गाण्ड के मुँह पर सहलाओ। अभी उंगली अंदर डालने की कोशिश ना करो। उसे अपनी मांसपेशियाँ बारी बारी ढीली और टाइट करने को कहो। आप अपनी उंगली पर उसकी रिंग मसल्स को महसूस कर सकोगे। लड़की से प्यारी प्यारी बातें करो और उसको रिलॅक्स होने को कहो। थोड़ी देर में जब लड़की रिलॅक्स होने लगेगी तो उसकी गाण्ड भी थोड़ी ढीली हो जाएगी। अब अपनी उंगली पर थोड़ी और जेली लगा कर धीरे धीरे उसकी गाण्ड के अंदर धकेलो। अगर लड़की गाण्ड को टाइट कर ले तो फिर उसे विश्वास दिलाओ कि उसे दर्द नहीं होने दोगे। ज़रूरत हो तो उंगली बाहर निकल लो और उसकी चूत, जांघें और बूब्स को प्यार से सहलाओ। जब लड़की दोबारा रिलॅक्स हो जाए तो उंगली पर जेली लगा कर एक बार और गाण्ड में डालने की कोशिश करो, जल्दबाज़ी नहीं करना। गाण्ड की बाहरी रिंग मसल को धीरे धीरे ढीला कर के उंगली को करीब आधा इंच अंदर डाल दो। अब धीरे धीरे उंगली को आधा इंच तक अंदर बाहर करो। देखो कि लड़की को दर्द नहीं हो रहा है। अगर लड़की खुश नहीं है तो उंगली अंदर रख कर रुक जाओ और थोड़ी देर बाद फिर शुरू करो। अगर लड़की खुश है तो धीरे धीरे उंगली को और अंदर करो। कुछ दूर तक तो उंगली अंदर चली जाएगी पर फिर ऐसा लगेगा जैसे आगे कोई रुकावट है। यह उसकी गाण्ड की दूसरी रिंग मसल है। इसको पार करने की लिए एक बार फिर लड़की को रिंग मसल ढीला करने के लिए बोलो। (इस वक़्त लड़की को अपनी गाण्ड पर नीचे के तरफ ज़ोर लगाना चाहिए जैसा कि पॉटी करते वक़्त लगाते हैं, ऐसा करने से रिंग मसल खुल जाएगी और आप अपनी उंगली उसके पार ले जा सकते हैं). अगर लड़की रिलॅक्स नहीं करती है तो आपको धीरज रख कर धीरे धीरे उंगली से उसकी रिंग मसल को खोलने की कोशिश करनी होगी। याद रहे, कोई काम जल्दबाज़ी में ना करो। देखा जाए तो इस क्रिया में भी आप काफ़ी मज़ा ले सकते हो। किसी भी वक़्त अगर लड़की को तकलीफ़ होने लगे तो उंगली तुरंत बाहर निकाल लो और उसको प्यार करो। उसे यह पूरा विश्वास होना चाहिए कि गाण्ड मारने के वक़्त आप उसे तकलीफ़ नहीं दोगे। जब उंगली दूसरी रिंग मसल को पार कर जाए तो आपकी उंगली ने फ़तेह पा ली है। अब आप आराम से उंगली को जितना अंदर डालना चाहो डाल सकते हो। ध्यान रहे कि उंगली पर जेली या तेल अच्छी तरह लगा हो। अगर सूख गया है तो उंगली बाहर निकल कर दोबारा लगा लो और फिर से धीरे धीरे अंदर डालो। अगर एक बार उंगली अंदर चली गई है तो इसका मतलब यह नहीं है कि अब हमेशा आसानी से चली जाएगी। गाण्ड की मसल्स तो फिर से बंद हो गई होंगी, इसलिए हर बार गाण्ड में धीरे धीरे और प्यार के साथ ही प्रवेश करना है। जब आपकी एक उंगली गाण्ड के अंदर बाहर जाने लगे और लड़की को तकलीफ़ नहीं हो रही हो तो आप यही प्रक्रिया दो उंगलियों पर जेली लगा कर कोशिश करो। इसमें शुरू में थोड़ी मुश्किल होगी क्योंकि गाण्ड का छेद छोटा होता है। एक उंगली तो चली जाती है पर दो उंगलियाँ मोटी होती हैं. लेकिन यह काम भी प्यार से और धीरज से हो जाएगा। आप महसूस करोगे कि जैसे जैसे लड़की को आप पर भरोसा बढ़ेगा वो इस काम में आपको सहयोग देगी और थोड़ा बहुत दर्द भी सहन करने लगेगी। जब आपकी दो उंगलियाँ पूरी तरह अंदर चली जाएँ तो धीरे धीरे उंगलियों को दोनो तरफ घुमाना शुरू करो, इससे गाण्ड का पूरा छेद ढीला होगा। साथ ही साथ उंगलियों को अंदर बाहर भी करो। हो सकता है इतना सब कुछ करने के बाद आप दोनों थक गये हों। अगर ऐसा है तो उंगलियाँ बाहर निकाल लो और आप दोनों कुछ और कार्यवाही कर सकते हो। अगर लड़की खुश है तो वो आपके लंड को मुँह में ले कर चूस सकती है जिससे आपके तने हुए लंड को आराम मिलेगा। यह मैं इस लिए कह रहा हूं क्योंकि उंगली करने के चक्कर में आप का लंड ज़रूर तैयार हो गया होगा। पर अभी मंज़िल बहुत दूर है और आप को धीरज से काम करना होगा। दूसरी बात यह है कि जो लड़की गाण्ड मरवाने के लिए तैयार होगी वो लंड तो चूस ही लेती होगी। अगर नहीं करती है तो उसे मेरी “लंड चूसने की विधि” पढ़नी चाहिए। चलिए, आप दोनों ने आराम कर लिया। अब आगे बढ़ते हैं ! अब एक मोटी मोमबत्ती लो जिसका घेरा आपके तने हुए लंड के बराबर हो। इसकी लंबाई 6 इंच से कम नहीं होनी चाहिए। मोमबत्ती को अच्छी तरह चिकना कर लो। मोमबत्ती का सिरा पैना (शार्प) नहीं होना चाहिए। उसे चाकू से छील करके लंड-नुमा शेप दे दो। अब आगे के 3-4 इंच पर अच्छी तरह से जेली लगा लो। एक बार फिर लड़की को रिलॅक्स होने के लिए बोलो और उसकी गाण्ड के अंदर और बाहर भी अच्छी तरह से जेली लगा दो। कभी भी जेली लगाने में कंजूसी ना करो। अब मोमबत्ती का सिरा गाण्ड के मुँह पर रख कर धीरे धीरे अंदर डालने की कोशिश करो। शुरू में मुश्किल होगी। अगर ज़रूरत हो तो गाण्ड में एक उंगली डाल कर उसकी दोनों रिंग मसल्स को ढीला कर लो। लड़की को भी गाण्ड ढीली करने को कहो। जब मोमबत्ती करीब आधा इंच अंदर चली जाए तो एक दो बार उतना ही अंदर बाहर करो। लड़की के इशारों का ध्यान रखो कि उसे कोई तकलीफ़ तो नहीं हो रही। उससे बातें करते रहो। जब लड़की आधा इंच तक अंदर बाहर को सहन करने लगे तो आप मोमबत्ती को घुमाते हुए और अंदर डालने की कोशिश करो। (यकीन करो कि जेली सूख ना गई हो. ज़रूरत हो तो और लगा लो). मोमबत्ती थोड़ा और अंदर जाएगी और फिर रुक जाएगी। अब तो आपको मालूम है यह क्यों रुकी है, दूसरी रिंग मसल सामने है। लड़की के स्तनों को चूमो और उसकी चूत को सहलाओ। साथ ही उसे रिलॅक्स करने और गाण्ड को ढीला करने को कहो। जैसे ही वो गाण्ड को रिलॅक्स करेगी, मोमबत्ती आराम से अंदर चली जाएगी। अब थोड़ा इंतज़ार करो जिससे लड़की मोमबत्ती की मोटाई को अपनी गाण्ड में महसूस कर सके और उसका शरीर इस नई फीलिंग को समझ सके। थोड़ी देर के बाद मोमबत्ती को धीरे धीरे अंदर बाहर करना शुरू करो। बाहर करते वक़्त लड़की को कोई तकलीफ़ नहीं होगी पर अंदर करते वक़्त आप को ध्यान रखना होगा कि जल्दबाज़ी ना हो। अगर जेली कम हो गई हो या सूख गई हो तो और लगा लो। इस तरह मोमबत्ती से आप उसकी गाण्ड को चोदना शुरू करो। गुरु मस्तराम पर और भी बहुत मस्त मस्त तरीके है जो आप पढ़ कर ट्राई कर सकते है | धीरे धीरे लड़की की तकलीफ़ कम हो कर ख़तम हो जाएगी और वो आनंद महसूस करने लगेगी। अब आप ४-५ इंच तक मोमबत्ती अन्दर बाहर कर सकते हो। जब तक लड़की चाहे उसे मोमबत्ती से चोदते रहो और फिर धीरे धीरे मोमबत्ती को बाहर निकाल लो। यह काम भी धीरे धीरे ही करना चाहिए। मेरी राय में आपको यह उंगली और मोमबत्ती वाली प्रक्रिया दो तीन दिन तक करनी चाहिए। वैसे भी अब तक आप दोनों थक गये होंगे और इंतज़ार का फल हमेशा मीठा होता है। उम्मीद है आपने दो तीन दिन तक बताई हुई प्रक्रिया कर ली है और अब लड़की अपनी गाण्ड की मसल्स को ढीला और टाइट करना सीख गई है।

    गाण्ड मारना मुबारक हो !! अब आपकी साथी लड़की गाण्ड मरवाने के लिए पूरी तरह तैयार है। जिस दिन का इंतज़ार था वो आ गया है। आशा है आप भी तैयार होंगे। गाण्ड मारने के लिए ज़रूरी है कि आपका लंड मज़बूती से खड़ा हो। वैसे तो पहली बार गाण्ड मारने की कामना में आपका लंड अपने आप ही तना हुआ होगा लेकिन अगर ऐसा नहीं है (और आप हृदय या रक्त चाप के रोगी नहीं हो) तो आप फ़ोर्ज़ेस्ट १० या २० की एक गोली करीब 30 मिनट पहले ले सकते हो। अगर लड़की भरोसे वाली नहीं है तो कॉन्डोम का इस्तेमाल ज़रूर करो क्योंकि एच आई वी का खतरा गाण्ड मारने में सबसे ज़्यादा होता है। लेकिन अगर आप एक दूसरे को जानते हो और एक दूसरे पर भरोसा है तो कॉन्डोम की ज़रूरत नहीं है। एक ज़रूरी बात और है- कभी भी गाण्ड मारने के दौरान या उसके एकदम बाद, अपने लंड को लड़की की चूत में नहीं डालो। ऐसा करने से लड़की को चूत में इंफेक्शन हो सकता है। अगर चूत मारनी है तो पहले लंड को अच्छी तरह से धो लो।

    गाण्ड मारने के आसन गाण्ड मारने के दो आसन हैं। इन दो बेसिक आसनों के कई रूप हो सकते हैं जो आप अपने आप बना सकते हैं। आसन 1 इसमें लड़की पीठ के बाल लेटी होती है जैसा इस विधि के शुरू में बताया गया है और उसके चूतड़ के नीचे तकिये रखे जाते हैं जिससे उसकी गाण्ड उपर उठ जाए। इसको मिशनरी पोज़िशन या मॅन सुपीरियर पोज़िशन भी कहते हैं। आसन 2 इसमें लड़की अपने घुटने और हाथों पर होती है और उसकी गाण्ड की ऊँचाई आप अपने हिसाब से उपर नीचे कर सकते हो। कुछ लड़कियाँ अपना सर नीचे बिस्तर पर टिका देती हैं और गाण्ड उपर की तरफ उठा देती हैं। इसको रियर एंट्री या डॉगी स्टाइल भी कहते हैं।

    दोनों ही आसान ठीक हैं और आपको जो अच्छा लगे उसे इस्तेमाल करो। पहले आसन में लड़की आराम से होती है और आप उसके स्तन और चूत को देख व सहला सकते हो। लड़की भी आप को देख सकती है। आप एक दूसरे को किस कर सकते हो लेकिन लंड पूरा अंदर नही जा पाता। दूसरे आसन में लड़की जल्दी थक जाती है और आपको देख नहीं सकती। आप भी उसकी चूत और बूब्स को नहीं देख सकते हो ना ही ठीक से सहला सकते हो। लेकिन इस आसन में लंड ज़्यादा अंदर जा सकता है। इसमें लड़की भी पीछे की तरफ धक्का देकर लंड को प्रवेश में मदद कर सकती है।

    चलिए, अब गाण्ड मारते हैं! लड़की को पहले की तरह आरामदेह पोज़िशन में बिस्तर पर लिटा दो। उसके पूरे तन को अच्छी तरह से प्यार करो और उसे मीठी मीठी बातें बोलो। उसके पूरे शरीर को सहलाओ तथा चूमो। उसकी चूत जब गीली हो जाए तो उसे उंगली से थोड़ी देर तक चोदो और उसकी भग्नासा के इर्द गिर्द सहलाओ। कुछ देर में लड़की चुदाई के लिए तैयार हो जाएगी। अब पहले की तरह जेली लगा कर शुरू में एक और फिर दो उंगलियों से उसकी गाण्ड को तैयार करो। लड़की अब तैयार है, उम्मीद है आप का लंड भी तैयार होगा। जब पहली बार गाण्ड मारनी हो तो मेरी राय में दूसरा वाला आसान इस्तेमाल करना चाहिए (डॉगी स्टाइल) जिससे लड़की आपकी मदद कर सके और लंड के प्रवेश को कंट्रोल कर सके। तो लड़की को डॉगी स्टाइल में आने को कहो और उसके चूतड़ की ऊँचाई को अपने लंड की उँचाई के हिसाब से ऊपर नीचे करो। उसका सर आराम से बिस्तर पर रह सकता है। अपने पूरे लंड पर खूब अच्छी तरह से जेली लगा लो और लड़की की गाण्ड के अंदर बाहर भी जेली अच्छे से लगा लो। एक बार फिर दो उँगलियों से उसकी गाण्ड को ढीला कर लो। अब अपने लंड के सुपारे को गाण्ड के छेद पर रखो और धीरे से अंदर के तरफ धकेलो। अगर आपका लंड मोमबत्ती से बड़ा है तो धीरज से काम लो। धीरे धीरे, प्यारी-प्यारी बातें करते हुए और एक हाथ से उसकी चूत को सहलाते हुए अपने लंड को गाण्ड में धकेलते रहो। लड़की को अपनी गाण्ड ढीली करने के लिए याद दिलाते रहो। एक बात और है, जब हम गाण्ड की मांसपेशी को ढीला करते हैं तो वो सिर्फ़ एक क्षण (सेकेंड) के लिए होती है और फिर टाइट हो जाती है। उसको अपनी मर्ज़ी से हम ज़्यादा देर तक ढीला नहीं रख सकते। आप इस बात को अपनी गाण्ड में खुद उंगली डाल कर महसूस कर सकते हो। इसलिए आप और लड़की के बीच ताल-मेल की ज़रूरत है। जब आप अंदर को धकेलो, तभी लड़की गाण्ड ढीली करे नहीं तो फ़ायदा नहीं होगा। अगर गाण्ड का छेद ना खुले तो उंगली या मोमबत्ती का इस्तेमाल फिर करो और लड़की को रिलॅक्स करने को कहो। इस बात का ध्यान रखो कि लंड का घेरा काफ़ी ज़्यादा होता है और पहली बार आसानी से गाण्ड में नहीं जाता है। जेली लगी होने के कारण लण्ड फिसलता भी रहता है और गाण्ड में नहीं जा पाता। थोड़ी कोशिश के बाद आपका लंड करीब 1/4 इंच अंदर चला जाएगा। यहाँ पर रुक जाओ और लड़की से पूछो उसे कैसा लग रहा है। अगर उसे दर्द हो रहा हो तो लंड बाहर निकाल लो, हो सकता है आपका लंड काफ़ी बड़ा है। यह तो आपके लिए खुश खबरी है !! या फिर लड़की को डर लग रहा है ! लड़की से दोबारा पूछो कि वो क्या करना चाहती है। ज़्यादातर लड़कियाँ आपको दोबारा कोशिश करने को कहेंगी। अगर ना भी कहे तो भी आप धीरज रखो और कुछ देर और मोमबत्ती वाली प्रक्रिया करो। मैं आपको यकीन दिलाता हूं कि मेरी विधि से आप चलोगे तो कोई भी लड़की आपसे गाण्ड मरवाने के लिए मना नहीं करेगी। मेरे तज़ुर्बे में अच्छी तरह से मारी हुई गाण्ड में लड़कियों को चूत मरवाने से भी ज़्यादा मज़ा आता है। गाण्ड की बाहरी और अंदर की रिंग मसल्स के इर्द गिर्द बहुत नर्व-एंडिंग्स होती हैं जिसमें रक्त प्रवाह होता है जिस से गाण्ड मरवाने के दौरान लड़की को बहुत मज़ा आता है. आप धीरज से काम लो…. थोड़ी देर रुकने के बाद एक बार फिर लंड को गाण्ड के छेद पर रख कर अंदर डालने की कोशिश करो। जेली लगाना नहीं भूलना और जल्दबाज़ी नहीं करना। (मुझे मालूम है आपके लंड का सब्र ख़तम हो रहा होगा। अगर आपसे और ना रुका जाए तो चूत में डाल के संभोग कर लो। चिंता मत करो आपका लंड फिर तैयार हो जाएगा। जब लंड पहली रिंग मसल को पार कर ले तो थोड़ी देर रुक जाओ और लड़की को रिलॅक्स करने को कहो। उसको बताओ कि अब आप लंड को और अंदर नहीं करोगे। लड़की खुद पीछे की तरफ धक्का लगा के लंड को जितना चाहे अंदर करेगी। अब कंट्रोल लड़की के पास है और आपको उसे तकलीफ़ पहुँचने की चिंता नहीं करनी। जब कंट्रोल लड़की के पास आ जाता है तो आपको आश्चर्य होगा कि कितनी आसानी से वो आपके लंड को अंदर ले लेती है। आपको भी लड़की की टाइट गाण्ड का पहली बार अनुभव होगा। आपका लंड बिल्कुल टाइट फिट में जकड़ा जाएगा और आपको स्वर्ग महसूस होगा। ज़्यादातर लोग इससे ज़्यादा रोक नहीं पाते और क्लाइमॅक्स कर जाते हैं। अगर आप टारजन हैं तो कुछ देर तक लंड को पूरी तरह अंदर होने का आनंद उठाने दो, फिर धीरे धीरे लंड को बाहर की तरफ निकालने की कोशिश करो। लड़की की गाण्ड आपके लंड को कस के पकड़ लेगी। आपका लंड आसानी से बाहर नहीं आएगा। करीब आधा इंच बाहर निकाल कर फिर धीरे धीरे अंदर करो। यह प्रक्रिया 3-4 बार करो। हर बार अंदर धीरे धीरे ही करना है। लड़की को पूछो कि उसे कैसा लग रहा है। अगर वो ठीक है तो अब करीब एक इंच तक अंदर बाहर करना शुरू करो। अभी भी धीरे धीरे ही !! फिर लड़की से पूछो उसका हाल कैसा है… अगर वो खुश है तो और ज़्यादा अंदर बाहर करना शुरू करो। कोशिश करो कि लंड अंदर की रिंग मसल के बाहर नहीं निकल जाए। अगर उसके बाहर निकल जाएगा तो आपको फिर से धीरे धीरे अंदर डालना पड़ेगा और लड़की को भी मदद करनी होगी. (पर इस में आपको मज़ा भी बहुत आएगा) इस तरह धीरे धीरे आप ३-४ इंच अन्दर बाहर कर पाओगे। अगर अब तक भी आपका क्लाइमॅक्स नहीं हुआ है और लड़की को भी तकलीफ़ नहीं हो रही है तो धीरे धीरे अपना स्ट्रोक बड़ा करते रहो, ध्यान रखो कि जेली सूख ना गयी हो। ज़रूरत हो तो और लगा लो और फिर से शुरू हो जाओ। एक समय आएगा जब लड़की पूरी तरह से रिलॅक्स हो जाएगी और आपका लंड बिना मुश्किल के पूरा अंदर बाहर होने लगेगा। लड़की को दर्द नहीं होगा और वो आपके साथ मज़ा लेने लगेगी। वो अपने आप अपनी गाण्ड को आगे पीछे करने लगेगी और चाहेगी कि यह चुदाई ख़तम ना हो…… जब आपका क्लाइमॅक्स हो जाए तो आराम से लंड बाहर निकाल लो और लड़की को अच्छी तरह से प्यार करो। उसने दर्द सहकर भी आपको इतनी खुशी दी है। अगर लड़की का क्लाइमॅक्स नहीं हुआ है तो उसकी चूत और भग को सहला कर उसको चरम सीमा तक ले जाओ। फिर एक दूसरे की बाहों में जितनी देर तक लेट सकते हो लेते रहो। जब अगली बार उसी लड़की की गाण्ड मारनी हो तो यह ना समझना कि अब तो उसकी गाण्ड हमेशा के लिए तैयार हो गई है। जब तक 7-8 बार उसकी गाण्ड नहीं मार लोगे, आपको धीरज से ही काम लेना पड़ेगा। यह ज़रूर है कि पहली बार गाण्ड मारने के मुक़ाबले बाद के मारने में थोड़ा फ़र्क़ तो आ जाता है, पर इतना नहीं आता कि लड़की को तकलीफ़ ना हो। अगर आप कुछ अरसे (1-2 महीने) के बाद दोबारा गाण्ड मारने लगते हो तो आपको पूरी सावधानी फिर से बरतनी पड़ेगी जो इस विधि में बताई गई है। और अधिक आनंद देने के लिए लड़की अपनी मांसपेशियों के ज़रिए आप के लंड को जकड़ सकती है और ढील दे सकती है। इससे आपका लंड ज़्यादा देर तक तना रह सकता है और आपको मज़ा भी ज़्यादा आएगा। जब आपका लंड पूरी तरह अंदर हो तो लड़की को गाण्ड की मान्सपेशियाँ कसने और ढीला करने को बोलो और स्वर्ग प्राप्त करो। यह क्रिया चूत से भी हो सकती है पर गाण्ड की बात ही और है !!

    गाण्ड मारने के फायदे गाण्ड मारने के बहुत फायदे हैं: 1) दोनों को ज़्यादा मज़ा आता है क्योंकि गाण्ड चूत के मुक़ाबले ज़्यादा टाइट होती है और इसको ज़्यादातर लोग नहीं कर पाते हैं। 2) बच्चे होने का डर नहीं होता। 3) मासिक-धर्म के दौरान भी इसका मज़ा ले सकते हैं। पता नहीं ज़्यादातर लड़कियाँ गाण्ड क्यों नहीं मरवाती ! ज़्यादातर लड़कियाँ इस सुख को भोग नहीं पाती हैं क्योंकि हम मर्द सही तरीका नहीं जानते और शुरू में ही उन्हें बहुत ज़्यादा दर्द का अहसास करा देते हैं। उन बेचारी लड़कियों को पता ही नहीं कि वो क्या खो रही हैं। आशा है आपको मेरी विधि पसंद आई होगी। आप इस विधि का इस्तेमाल करो और बताओ कि आपको सफलता मिली या नहीं और लड़की को कैसा लगा। अगर कोई लड़की गाण्ड मरवाने को बिल्कुल राज़ी नहीं हो तो उसे यह विधि पढ़ने को बोलो। मुझे पूरा भरोसा है कि अगर वो तुमसे प्यार करती है तो ज़रूर राज़ी हो जाएगी।

    favorite-desi

    My all time favourite porn video💘 what a big pussy she has💘 love the way she takes dick into her pussy🖤🖤🖤🖤🖤🖤🖤🖤🖤🖤🖤🖤🖤🖤🖤🖤🖤

    👄👄👄👄👄👄👄👄👄👄👄👄👄👄👄👄👄👄👄🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸

    harddick21blog

    Desi, no..she can’t be a desi women

    Guys, please don’t write anything. If you are not sure than please ignore that portion. If you will not say where she is from still people would check her out..so no worries. If you don;t know, please don’t write any thing about her race. They are whites and any one could figure it out, where they are from if they would check the things minutely...:) 

    sacreddevil69-deactivated201901

    Young housewife with a slim young boy

    harddick21blog

    Skinny hung boy 

    मैं मकबूल खान आपके पास मेरा सेक्स एक्सपीरियंस लेकर आया हूँ, जिसमें मैंने मेरी बहन को चोदा है. मैं राजस्थान का रहने वाला हूँ. मेरे घर में अम्मी शाजिया 49 साल, अब्बू आरिफ 50 साल, मैं 29 साल का, मेरी बड़ी बहन सोनिया 31 साल की और छोटी बहन अफसाना 24 साल की है.

    यह बात कुछ समय पहले की है.

    मेरी बड़ी बहन सोनिया बड़ी ही चुदक्कड़ थी, वो बहुत से लड़कों से चुदवाती थी और उसका चक्कर मेरे अंकल से भी था. सोनिया की इन हरकतों की वजह से पापा मम्मी बहुत परेशान रहते थे और डरते थे कि कहीं छोटी लड़की भी उसके नक़्शे कदम पे न चल पड़े. इसलिए पापा ने एक लड़का देख कर सोनिया की शादी कर दी. सोनिया की शादी एक साल पहले हो गई थी. मगर वो सिर्फ तीन महीने ही ससुराल में रही और वापस घर आकर बैठ गयी क्योंकि उसकी चूत की खुजली कभी शांत नहीं होती थी और वहां सुसराल में वो अपने देवर से चुदने लगी थी. उसने उधर पड़ोस में एक यार भी बना लिया था. मगर मेरे जीजा ने सोनिया को उसके देवर के साथ चुदवाते देख लिया था और सोनिया को मार पीट कर घर भेज दिया.

    उसके घर आने पर पापा उस पर बहुत चिल्लाए, जीजा से बहुत अनुनय विनय की मगर मेरे जीजा उसे वापस ले जाने को तैयार नहीं हुए.

    अब उसको घर बैठे दो महीने हो चुके थे और पापा ने उसका घर से बाहर जाना बंद कर दिया था. सोनिया इन दिनों लंड के लिए तड़प रही थी और इसकी वजह से घर में लड़ाई झगड़ा होता रहता था. मेरी दोनों बहनें एक ही कमरे में सोती थीं और देर रात को उनके कमरे से सिसकारियों की आवाज़ आती थी.

    एक दिन मैंने सोचा ये सिसकारियों की आवाज़ किसकी है, देखना पड़ेगा. इसलिए मैंने एक रात को दरवाज़े के की-होल में से देखा. उस वक़्त रात के दो बजे थे. मैंने देखा कि मेरी बड़ी बहन सोनिया टाँगें फैलाकर अपनी चूत रगड़ रही है और आँखें बंद करके सिसकारियां ले रही है. उस रात को मैं ये देख कर अपने कमरे में आया और सोचा कि बहन को लौड़े की ज़रूरत है, मुझे घर पर हो रहे रोज़ के कलेश को भी खत्म करना था, तो मैंने सोचा कि बहन की चुत की खुजली मिटानी पड़ेगी.

    बस ये सोचते हुए मैं उस रात तो लंड हिला कर सो गया. सुबह से मैं अपनी बहन को चोदने की प्लानिंग करने लगा. अब मैं सोनिया के पास ज्यादा वक़्त बिताने लगा और उससे ज्यादा बात करने लगा. उसको ज्यादा से ज्यादा छूने की कोशिश करने लगा.. उसका सारा काम कर देता. उसको बाइक पे बिठा कर बाज़ार भी ले जाता, जिससे उसके मम्मे मेरी पीठ में बार बार टच होते. अब जब भी वो मुझे देखा करती तो मैं जानबूझ कर उसके सामने अपने लौड़े को मसलता और ज्यादातर बिना शर्ट के रहता. मैं ढीला पजामा भी पहनता कि न जाने कब लंड खुलने की जरूरत आ जाए.

    मैं अपना लंड कड़क करके उसके सामने जाता, जिससे मेरे पजामे में तंबू बना रहता और बिना अंडरवियर के मेरे लौड़े का आकार और लम्बाई अच्छे से दिखाई देती. वो भी मेरे खड़े लंड को लालच भरी नजरों से देखने लगी थी.

    कुछ दिन ऐसा ही चलता रहा. मैंने देखा कि सोनिया अब मेरी ओर खिंच रही थी. अब हमेशा ही उसका ध्यान मेरे पजामे पर रहता और वो मेरे खड़े लौड़े को देखती रहती. वो पजामे में हिलते हुए लौड़े को देख कर मुस्कुरा भी देती, मुझे पता था वो अब लाइन पे आ रही है. अब मुझे उम्मीद हो चली थी कि सोनिया की चूत अब मेरे लंड से ज्यादा दूर नहीं है.

    बस अब मुझे एक आखिरी काम ये करना था कि वो खुद सेक्स की बात करे. उसके लिए मैंने अपने मोबाइल में कुछ भाई बहन की पोर्न मूवी डाउनलोड की और एक गेम भी डाउनलोड कर लिया. मैं योजना के साथ उसके साथ बैठ कर गेम खेलने लगा. खेलते समय सोनिया मेरे लौड़े को ही देख रही थी. मैं भी अपने लौड़े के पास हाथ लगाता और खुजाता.

    अचानक मैंने सोनिया से कहा- आपा! वो बोली- क्या हुआ? मैंने कहा- आपा, ये गेम बहुत अच्छा है, आप खेल कर देखो.

    सोनिया ने मेरा मोबाइल ले लिया और मैं वहां से बहाना कर चला गया. उसने गेम देखा और कुछ देर गेम खेल कर वो मेरे मोबाइल में पोर्न देखने लगी. मैंने भी उसे आराम से मोबाइल देखने दिया.

    आधा घंटा वो पोर्न देखती रही. तभी मेरे मोबाइल पे मेरे दोस्त का फ़ोन आ गया और उसने बिना पोर्न मूवी बन्द किए हुए ही मुझे आवाज लगा दी. मैं आया तो उसने मुझे मोबाइल दे दिया. मैंने जब मोबाइल पे बात करके फ़ोन काटा तो पोर्न मूवी वापस प्ले हो गई.

    जब मैंने अपनी बहन की तरफ देखा तो वो मुझे ही देख रही थी. मेरे देखते ही उसने मुझसे नज़रें चुरा लीं और मुस्कुरा दी.

    फिर हम दोनों अपना अपना काम करने लगे. शाम को सोनिया ने मुझसे कहा कि में रात को जब कॉल करूँ, मेरे कमरे में आ जाना. मैं जानता था कि सोनिया मुझे रात को क्यों बुला रही है, मगर मैंने अनजान बनते हुए सोनिया से कहा- क्यों कोई काम है क्या आपा? तो उसने बताया कि वो रात को ही बताएगी. मैंने कहा- ठीक है.

    अब मुझे रात का बेसब्री से इंतज़ार था. मैं अपने बिस्तर पर लेटे हुए फेसबुक चला रहा था. रात को एक बजे सोनिया का कॉल आया कि मेरे कमरे में आ जाओ. मैंने कहा- ठीक है. मैं जल्दी से सोनिया के कमरे में गया जहां बेड पर मेरी छोटी बहन सो रही थी और नीचे बेड के पास सोनिया ने एक अलग बिस्तर बिछाया हुआ था. मैं गया और सोनिया के पास बैठ गया.

    मैंने कहा- क्या काम है? सोनिया ने कहा- भाई, तुमसे कुछ बात करनी है. मैंने कहा- क्या? सोनिया ने कहा- तुम्हारे फ़ोन में वो पोर्न मूवी मुझे अच्छी लगी, मुझे वो तुम मेरे मोबाइल में सेंड कर दो. मैंने कहा- मेरे फ़ोन में ही देख लो. उसने मुझे देखा, फिर वो शर्मा गयी.

    सोनिया ने कहा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है. मैंने कहा- नहीं है… उसने कहा कि तुमने कभी वो किया है? मैंने कहा- क्या वो? तो सोनिया बोली- वही, जो पोर्न मूवी में है. मैंने कहा- नहीं किया.

    फिर वो मुझसे खुलने लगी और कुछ देर बातें करने के बाद सोनिया ने कहा- तुम मेरे साथ सेक्स करोगे? मैंने कहा- लेकिन आपा, आप मेरी बहन हो. उसने कहा- उससे कोई फर्क नहीं पड़ता. मैंने कहा- मुझे वो सब करना नहीं आता. उसने कहा- भाई मैं तुझे सब सिखा दूंगी. मैंने कहा- ओके.. सिखाओ.

    यह कहते ही सोनिया ने मुझे अपनी बांहों में भर लिया. अब हम भाई बहन आपस में किसिंग करने लगे. मेरे किस करने के अंदाज़ से सोनिया समझ गयी कि मैंने पहले भी सेक्स किया है. उसने पूछा कि ऐसा किस तो पक्के खिलाड़ी ही करते हैं. तब मैंने उसको सब बताया कि मैंने बहुत सी आंटी और लड़कियों और भाभियों को चोदा है.

    सोनिया ने छोटी बहन की तरफ देखा और बोली- आज इसको मैंने नींद की गोली दे दी थी ताकि कोई समस्या न हो.

    ये सुनते ही मैं कमीज़ के ऊपर से ही सोनिया के मम्मे दबाने लगा. सोनिया गरम होने लगी. मैंने सोनिया की कमीज़ को उतार दिया, जिससे उसके मोटे मम्मे बाहर किसी बंद कबूतर की तरह उछल के बाहर आ गए. उस टाइम सोनिया ने ब्रा नहीं पहनी थी.

    फिर सोनिया ने मेरी शर्ट को भी खोल दिया, जिससे हम दोनों ऊपर से नंगे हो गए. अब मैं सोनिया को चाटने और चूसने लगा. सोनिया भी पागलों की तरह मुझे चूमने और चाटने लगी. हम दोनों बुरी तरह से वासना के दरिया में डूब कर कामुक आहें भरने लगे.

    करीब 15 मिनट के रोमांस और चुम्मा चाटी के बाद सोनिया ने कहा- अब मुझे जल्दी से लंड दे दो.. मैं बहुत दिनों से तड़प रही हूँ.

    मैंने सोनिया की सलवार उतारी और उसकी पेंटी के ऊपर से ही चूत पे हाथ लगाया. मैंने देखा कि उसकी चुत गीली हो चुकी थी. मैंने सोनिया की पेंटी एक झटके में उतार दी और चूत को मसलने लगा.

    सोनिया ने कहा- मेरी चूत को बाद में चाट और चूस लेना.. पहले इसको एक बार लंड से फाड़ दे. मैंने कहा- कंडोम नहीं है. तो उसने कहा- कोई बात नहीं.. तू बस जल्दी से चुत फाड़ दे.

    मैंने अपना मोटा लंड सोनिया की चूत पे रखा. पहले दो मिनट तक मैंने अपने लौड़े से बहन की चूत की रगड़ाई की और एक झटका लगा दिया, जिससे मेरा आधा लवड़ा सोनिया की चूत में समा गया. सोनिया ने एक ठंडी आह भरी और मुझे अपने से लिपटा लिया. उसके बाद मैंने एक झटका और दिया और पूरा लंड चूत में समां गया.

    उसके बाद सोनिया ने दोनों टांगें मेरी कमर में डाल कर मेरी कमर पकड़ ली और आहें भरने लगी. मैं ज़ोरदार झटके देने लगा. मेरे ज़ोरदार झटकों से सोनिया ऊपर नीचे हिलने लगी, जिससे उसके मोटे मम्मे भी झूलने लगे.

    अब मैं सोनिया के आगोश में था. मेरे होंठ सोनिया के होंठ चूस रहे थे और मेरे हाथ सोनिया के बड़े मम्मे मसल रहे थे. मेरा लवड़ा सोनिया की चूत फाड़ रहा था. दस मिनट की चुदाई के बाद सोनिया बहुत गरम हो गयी और नीचे से ही अपनी गांड उछाल उछाल के मेरा लवड़ा लेने लगी. उसके गांड उछाल कर लंड लेने से मुझे ऐसा लग रहा था, मानो सोनिया की चूत मेरे लंड के साथ मेरे अंडकोष भी अपनी चूत में भर लेगी. उसकी इस तड़प से ये भी पता चल रहा था कि वो कितनी चुदासी और प्यासी और चुदक्कड़ थी.

    फिर कुछ मिनट की चुदाई के बाद मैंने उससे पोजीशन चेंज करने को कहा.

    उसने हां कर दी, तो मैं नीचे लेट गया और सोनिया मेरे ऊपर आ गयी.

    अब सोनिया ने मेरा तना हुआ लवड़ा अपने हाथ से अपनी चूत पे लगाया और झटके से बैठ गयी. झटके से बैठने की वजह से मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया और फच की तेज आवाज़ आई. उस वक़्त मेरे लौड़े में कुछ दर्द सा भी हुआ, मगर चूत की गर्मी ने उसे ठीक कर दिया.

    अब सोनिया मेरे सीने पे दोनों हाथ रख कर मेरे लौड़े पे उछल रही थी और ‘आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह ओह यस..’ कर रही थी. दस मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों झड़ गए और सोनिया मेरे ऊपर निढाल होकर गिर गई. हम दोनों ऐसे ही काफी देर तक पड़े रहे.

    फिर सोनिया ने मुझे चूमते हुए कहा- भाई, आज तो मज़ा आ गया.

    उस रात मैंने अपनी बहन सोनिया को 4 बार और चोदा. उसके बाद घर में सब ठीक हो गया. सोनिया को लवड़ा मिल गया था और मुझे फ्री की चूत मिल गई थी. अब सोनिया ने घर में झगड़ा करना छोड़ दिया था.

    अगले 3 महीने तक मैंने सोनिया को और चोदा. फिर सोनिया के पति उसे लेने आए और वो चली गयी. मगर जब भी वो घर आती है, मैं उसे ज़रूर चोदता हूँ.

    harddick21blog

    Threesome fun hubby and his friend

    If you happen to feel discomfort or pain during sex, don’t end the lovemaking there. See how you can move into it so that it helps you open to that discomfort or pain. You may need phases of moving very slowly or even not moving at all. Ask for what you feel you may need and don’t hesitate to improvise.

    You will be surprised to find that when you don’t push away sensations or emotions, they actually tend to dissolve naturally.

    A deeply tuned in lover won’t be focused on getting to a happy end. A deeply tuned in lover is someone who is ready to go with you to places they have never been to, and hold you through anything along this journey.

    Have you ever experienced love like that?

    sensualhotwife

    When you let your wife have that young man with the big cock….

    taffydragon1972

    Hot love watching a big cock hammer a wife

    harddick21blog

    Brutal fun with stranger’s wife

    It does take one very important prerequisite: safety of the container.

    Safety provides a space of trust.

    If you feel unsafe with your partner you need to figure out what can help you feel safer. Maybe there is a conversation that needs to take place? Sometimes it can be as simple as asking each other simple questions about where you both stand in relation to each other, and receiving answers. Requesting things like more touch, more words of appreciation or quality time together can bring deeper trust.

    harddick21blog

    Brutal sex with a BBC

    Now, you may say: “oh I’ve done so much work on myself, and again - there is something wrong with me?!”

    No, not that. Nothing is wrong with you. But blaming the world or giving responsibility to someone else for how we feel in our lives… is a major way of giving away your power.

    If the issue is within you - it’s great news. Because it means you are in charge of it: you created it and - yes yes - you can change it.

    Soft cock and soft heart

    We tend to think that lovemaking requires a hard cock. As soon as the man is no longer erect most couples end the lovemaking. Of course if he ejaculated he will have the refractory period as there is a loss of energy. But if he didn’t ejaculate and the cock is soft - is it the sign to stop? My invitation is to reframe the idea that to make love you need to be hard. My invitation is to learn to trust the intelligence of the body. When the cock becomes soft don’t label it as a failure or end. Stay with it and find new ways of making love. Find the edge that this softness is inviting you to. Feel the vulnerability of it. A woman whose vagina is activated will be able to have a lot of pleasure from a soft cock. It feels a bit like having a man’s heart in your pussy ♥️ Of course it is not always possible to do if you have to use a condom... So do make your conscious choices. ♥️It is a soft heart that allows a soft cock.♥️ But can you handle the intensity of a soft heart?

    harddick21blog

    Black mamba in Car Jamba

    Stay with it and find new ways of making love. Find the edge that this softness is inviting you to. Feel the vulnerability of it.

    A woman whose vagina is activated will be able to have a lot of pleasure from a soft cock. It feels a bit like having a man’s heart in your pussy ♥️

    Of course it is not always possible to do if you have to use a condom... So do make your conscious choices.

    brownmanxxx

    Black guy from the bar with wife as husband records. ♠

    harddick21blog

    Black fun 

    Women can Ruin you.

    When they can’t feel the anchor of your purpose, they wave around emotionally like untethered kites. Our lack of depth, commitment to mission and the boyish desire to be emotionally breastfed makes them go crazy. Their bodies tighten and their shine dims by having to hold their own masculine in their own safekeeping. They become shadows by the Light we hide.

    nargis-khan

    Jaipur Call Girls Housewife Sex Available

    harddick21blog

    True enjoyment

    This is a powerful immersion where you will first experience an active movement meditation to mobilise your body to begin to loosen tensions and stresses. You will then be guided, using connected breathing, to fill your body with oxygen and to fully release any trapped energy, emotions or trauma that is held within your body. Finally you will be supported to be present with yourself to integrate the experience.

    harddick21blog

    BBC and Hubby together

    Suddenly I understood where all the hundreds of emails are coming that I receive everyday; All those messages of people writing me they have depression, feel lonely, don‘t like their bodies or completely lost. - This current world is so focused on the materialistic. We are lacking community, support and true connection;... a connection that does not depend on how you look or how old or young you are... how successful you are .. or how much money you got..

    thor3518

    I’d love to see my wife get fucked like this by someone else

    jai-isha

    One of the best i’ve seen so far…Isha?? Wanna try?

    neel-nikki

    Nice fuck

    jonyjenyfacebook

    i also want to see my wife getting fucked like this

    harddick21blog

    Hard and brutal fun 

    This longing isn’t about wanting or asking for something. This longing is something that originates from the depth of the feminine Mystery which we all have access to. Longing originates from the spaciousness of the womb. Longing is something we can rest into, longing is where all the answers are.

    Are you interested in moving in the world, resting in your heart’s longing and feeling totally aligned with your purpose and your unique gift at the same time?

    harddick21blog

    Hard pounding

    You can only make love for real when you are willing to let go of everything. Then you find happiness in sacrificing yourself to infinity. Nothing lasts. Nothing. Surrender as if you were dying right now. Then, when you die, You will have no regrets. Because you will know that nothing is left undone.

    sexybabesdotcom

    Sexy indian aunty sucking cock like lollipop… aaaahhh… sexyy

    harddick21blog

    Cock sucker

    One day i was just going through some profile and i saw this..trust me since then am thinking about this lady and her sucking style. She is enjoying and sucking the dick fullest. She knows what she is doing and how she can give pleasure to her partner. Her eyes, lips and hand work in tendum to get extra and more satisfaction out of it. 

    Desi wife fucked hard

    One more desi video from our one of the best porn site. Desi videos are too good as their is nothing unusual and nothing to hide. Their emotions and expressions are not scripted..they reflect what is coming out from them. Their whisper and their moaning also their is no texture. Their sex is always one of the best sex and wonderful to watch on screen.  

    heusedmywife

    Watching him fuck your wife mercilessly, up to the point of no return, then shooting inside her warm pussy..

    harddick21blog

    Brutal sex

    This guy, seems has decided that he will tear her apart. The way he is fucking her shows there is no tomorrow. I am sure they both are enjoying because somewhere i read that if a guy fuck a girl brutally she enjoys. This position and position of camera is amazing. It gives a new look to this video. Wonderful banging by a hunk.

    amigodoscornos

    É MUITO BOM METER NA ESPOSA DE UM CORNO COM ELE OLHANDO….

    harddick21blog

    Driving ass

    Nasty ass fucking. White chick is ramming by a white dude. He is trying to insert entire his dick inside her and making her feel every inch of it. He is fucking her in a nice and solid manner, which girl is also appreciating by giving him same back. The moment when he is fucking her, her plumpy ass shakes which is very good on camera.

    priyavinodsaraf

    Priya get fuck by tumblr friend Indianmilflover

    harddick21blog

    Priya...aah aaah aah 

    From tumblr also one can get pussy. All he has to do is carry some cash with him. This guy, seems to be very hungry for pussy that is why he is nailing her hard. Priya is one among dirtiest slut who loves to get banged by hard and young thick dick. Such slut needs dick every time in her hot, horny and wet pussy. Her hubby, Pravin get such dicks for her. 

    niti-bobby007

    Niti with her friend and bobby recording lust time

    harddick21blog

    Bulldozer on Niti

    Niti is one of the horniest and sexiest gal in town. She is getting fucked everyday and every night in all single and married’s dream. Infact some couple said, they fuck his wife while keeping Niti on their mind. Girl is in demand due to her performance in bed. Her hindquarters are damn big and everyone starts shaking their penny after seeing them.