@couplelko8684
Couple from Lucknow interested in SRSP, swap etc
Posts
63
Last update
2021-03-15 03:45:17

    Reasons to be a Swingers

    I have written several articles about how fun sex can be and have been asked, why swing? Taking excerpts from our favorite authors Ed and Dana’s “Consider Swinging,” here are the top ten reasons to swing. Remember Swinging is recreational sex. Responsible non-monogamy. Many couples bowl together for fun and recreation, swingers have sex for fun and recreation. Here is how it can work:

    Reason 10 Enjoyable company. Swingers are the kind of people that are exciting and fun to be with. They are happy, honest, vibrant, intelligent, attractive and very friendly. Swingers enjoy being swingers all the time. The club environment is free but swingers are great fun at parties, picnics, movies, dinner, ball games and any place people go for fun and recreation. Everything’s better when shared with wonderful people.

    Reason 9 A very healthy lifestyle. Most swinging scenes discourage heavy alcohol consumption, prohibit drug use and can provide good cardiopulmonary exercise. The best way to stay healthy and avoid colds is to know there is a social event coming up soon. Swinging will get you out and about more often than any other hobby.

    Reason 8 Play dress up. Yes! Finally an environment that gives you the opportunity to wear those daring dresses and leather lingerie. You can shop the adult catalogs and stores and have a place to show off. You will not get arrested, assaulted or laughed at. Most women and men enjoy dressing up and strutting their stuff.

    Reason 7 Getting your fantasies fulfilled. Two ladies? Three men? Same sex? Intimate moment with a stranger? Being watched? Watching others? Large piles of anonymous flesh? If you can fantasize about it, the swing lifestyle can help fulfill it. Swing is about consensual and discreet participants hosting your fantasy.

    Reason 6 Improve your sexual technique. You and your partner may be very adept lovers but you don’t know what you don’t know. Some things need to be seen and practiced, not just read about.

    Reason 5 Staying “attractive” is good for you. Nothing is more motivation to stay on a diet, or exercise then the prospect of a swing party. Many times we stop maintaining our attractiveness when we settle in a relationship. If we want to be “swappable” we need to shake that up. This is not always just about looking like a “10″ but attractiveness is about the attitude of a “10.”

    Reason 4 Satisfy your appetite for variety. You probably have a loving, wonderful, sexy partner but why limit yourself? Big muscles, big boobs, shapely butt or pendulous penis, blondes, red heads, brunette or bald, on top, on bottom, on the side, it is all out there. Life is a smorgasbord of delights. Step up to the feast!

    Reason 3 Good friends. Nothing outside your own family is more valuable than friendship. If you are one of the lucky ones, you have a few really good friends. Stick around swingers for a while and you will find several more. This intimate lifestyle is the perfect venue for meeting other couples that truly share your interests and approach to life.

    Reason 2 Better friends. The sad truth is jealousy; envy and similar sexual issues break friendships among couples. The second best reason to swing is the positive effects it can have on friendships. There is no reason to hide your desire for your friend”s partner when that desire is openly welcomed. There is no reason to be fearful of your partner having an affair behind your back when you enjoy watching and joining in. It is fantastic when everyone is relaxed and real; the sexual tensions are removed from the friendship.

    The Top Reason To Consider Swinging Is “The couple that plays together….” You have heard talk of “non-monogamous” lifestyles. This is different. If swinging were just about freely having sex with other people it would not need a special name. What makes swinging special is that couples do it together.

    There are very few things that draw partners together better than the social and sexual

    दो अनुभवी जोड़ों के साथ दस दिन की थाईलैंड की यात्रा. (दसवाँ भाग)

    दसवां दिन

    ये हमारा आखरी दिन था थाईलैंड को गुडबाय बोलने का और अपने साथ कुछ यादें समेट कर जाने का. भीगी आँखों के साथ हमने बेंकोक को गुड बाय कहा और निकल पड़े अपने देश के लिए. मेरे पति मुझे एअरपोर्ट पर लेने आये थे. एअरपोर्ट से वो सीधा मुझे होटल ले गए जहाँ उन्होंने अपने दस दिन की प्यास बुझाई मेरे साथ सेक्स करके.

    एअरपोर्ट से सभी हमारे साथ ही होटल पहुंचे और वहां पर सभी ने अपने अपने पर्त्ने के साथ मस्ती की और थोडा आराम करके शाम को सभी मिले. ये पहले से ही तय था के सैम दस दिन के बाद सभी से होटल में ही मिलेंगे और सभी के साथ मस्ती करने के बाद ही अपने अपने घर को जाएंगे. सभी ने इस बात पर अपनी सहमती भी दिखा दी थी इसलिए कोई तकलीफ आने वाली नहीं थी.

    शाम के वक्त सभी साथ बैठे ड्रिंक लिया और अपने अनुभव एक दुसरे से बांटने लगे. उन्होंने जो विडियो और फोटो लिए थे सभी सैम के साथ शेयर किआ. सैम उन सभी फोटो को देखकर खुश हुए और कहा चलो मेरी बीवी ने तो सब कुछ एन्जॉय किआ. सैम के चेहरे पर संतुष्टि के भाव उमड़ रहे थे. सैम काफी खुश थे. मैंने और मेरे अन्य साथियों ने सैम को खुश देखकर काफी ख़ुशी का इजहार किआ.

    रात के वक्त हम सभी का ग्रुप सेक्स प्लान हुआ जिसमें सभी आदमी और औरतें एक साथ सेक्स करेंगे. उस दिन भी सबसे पहले मेरे से ही शुरुवात हुई. सैम ने मेरी गांड और रवि ने मेरी चूत में लौड़ा दे रखा था और अमित के लंड को मैं चूस रही थी. सैम के झटके इतने तेज होते थे के मैं कभी कभी अमित का लौड़ा गले तक फंसा हुआ पाती थी.

    इधर अनु और जया ने भी अमित को को मजे देने शुरू किये. जया अमित के पास जाकर उसे अपने चूचे चूसने और दबाने को दे रही थी और अनु सैम के साथ लग गई थी. कुछ देर बाद उन दोनों को भी इसी तरीके से तीनों मर्दों ने चोदा. सभी ने एक दुसरे का साथ एन्जॉय किआ. 

    अगली सुबह हम सभी अपने अपने घर को चले. ये थी मेरी दस दिन की थाईलैंड की ट्रिप की कहानी. मैंने अपने पति को इस दौरे पर बहुत मिस किआ. दोनों कपल ने मुझे बहुत अछे से संभाला और मेरा ख़याल रखा. दोनों औरतों अनु और जया ने मुझे अपनी बहिन की तरह रखा और दोनों आदमियों ने मुझे अपनी दूसरी बीवी की तरह रखा.

    ये एक न भूलने वाला और कभी न सोच सकने वाला टिप था हम सभी पांच लोगों के लिए. उम्मीद करती हूँ आपको ये मेरी कहानी पसंद आई होगी.

    आपकी अपनी

    हॉट एंड सेक्सी अरचु

    दो अनुभवी जोड़ों के साथ दस दिन की थाईलैंड की यात्रा. (नौवाँ भाग)

    नौंव दिन

    हम बेंकोक के समुद्र में किस तरह जीव जंतु रहते हैं देखने गए जो की एक बहुत बड़ा मरीन है और उसमें तरह तरह के स्पीशीज और पानी के जानवर होते हैं. ये एक एक्वेरियम की तरह होता है. तरह तरह की रंग बिरंगी मछलियों को पानी में तैरते हुए देखकर बहुत मजा आ रहा था. उसमें कुछ इस तरह की मछलियाँ भी थी जिन्हें हमने कभी न देखा न सुना था. 

    समुद्र में अन्य तरह के जानवर भी थे जो काफी अजीब थे और सुन्दर भी दिख रहे थे. लोग उनके साथ किनारे पर रहकर ही अठखेलियाँ कर रहे थे. हम सभी उनको मस्ती में झूम रहे थे. समुद्र में जाने का मन भी हो रहा था पर जब हमने इस तरह के जानवर देखे समुद्र में तो डर के मारे समुद्र में जाने की हिम्मत नहीं हुई. हम सभी ने समुद्र के किनारे और बोट पर ही बैठकर समुद्र के नज़ारे लिए. 

    आज हमारा आखरी दिन था तो सोचा आखरी बार बुद्धा मंदिर के दर्शन कर लूँ. हम सभी बुद्धा के मंदिर गए और वहां से दर्शन के बाद सीधा अपने होटल आ गए. दोपहर तक का समय ऐसे ही पास हो गया था तो हमने सोचा होटल में थोडा अपने परिवार के साथ चैटिंग या स्काइप कर लेंगे. मैंने होटल आते ही स्काइप पर सैम को कॉल किआ जिसे सैम ने अटेंड भी किआ. 

    वैसे तो मैं रोज ही सैम से बात करती रहती थी और उसे हमारे होने वाले और हो चुके प्रोग्राम के बारे में बताती रहती थी. सैम से मैंने उनका हाल चाल पुछा और बच्चों और परिवार के अन्य सदस्यों का हाल चाल पुछा. उन्होंने सब ठीक हैं ये कहा और ये भी कहा सभी तुम्हें बहुत मिस कर रहे हैं. उसके बाद सैम ने थोडा मस्ती लेते हुए कहा मुझे अपने बूब्स दिखाओ.

    मैंने भी सैम को निराश नहीं किआ और उसे उसकी ख्वाहिस पूरी करने में मदद की. सैम खुश हो गए और कहने लगे अब मैं बेसब्री से तुम्हारा एअरपोर्ट पर इन्तेजार कर रहा हूँ, जल्दी आओ. स्काइप करने के बाद मैंने थोडा रेस्ट किआ और उसके बाद हम सभी शाम को तैयार होकर होटल लॉबी में मिले. आज की रात हमारी सबकी आखरी रात थी यहाँ तो सभी ने इसे आखरी बार यादगार बनाने की सोची. 

    रात में सभी ने चुदाई का जबरदस्त प्रोग्राम बनाया जिसमें चूत चुदाई के साथ गांड की भी चुदाई होनी थी. हम दोनों तो मान गए पर जया नहीं मानी जिसे हम दोनों ने बाद में समझाकर किसी तरह से मना लिया. सभी मर्दों ने बारी बारी से औरतों को अच्छे से रौंदना शुरू किया. औरतों ने भी पूरे दम ख़म के साथ मर्दों को मुकाबला दिया जिसे मर्दों ने बाद में मान लिया. 

    पूरे कमरे में फच फच ऊऊह्ह अआः उम्म्म्मम्म जैसी आवाजें आने लगी थी. जब दो आदमी दो औरतों को चोद रहे थे तब एक औरत खाली थी उसने डिलडो पहन लिया और रवि की गांड में लंड देना शुरू कर दिया. रवि इधर चुदाई कर रहा था और वो रवि की गांड मार रही थी. उसके बाद जैसे ही दूसरी खाली हुई उसने अमित की गांड डिलडो से मारनी शुरू कर दी. 

    दोनों मर्दों ने जम कर इस चुदाई का मजा लिया और दिया भी. इस तरह हमारा पहला सेशन ख़तम हुआ. दुसरे सेशन के लिए हम लोगों ने थोडा वक्त लिया और उसके बाद शुरू हुआ गांड मराने का खेल. और इस खेल में सबसे पहले मेरी गांड के साथ खेल शुरू हुआ. मैंने पहले से इस खेले में पी एच डी की हुई है सैम के साथ इसलिए मुझे कोई इतनी तकलीफ नहीं होगी इसलिए सभी ने मुझसे शुरू किआ. 

    रवि जी, ने भी बिना कोई रहम किये हुए मेरी गांड मारी. ऐसा लग रहा था जैसे मैंने अभी कुछ देर पहले जो डिलडो से रवि जी की गांड मारी है उसी का बदला निकाल रहे हो. बहुत मजा आया मुझे उनकी चुदाई में. अमित ने अनु की गांड अच्छे से बजाई. सबसे अंत में जया ने रवि से चुदवाने की बात रखी, क्यूंकि ये उसका पहली बार था और वो अपने पति से ही अपनी गांड खुलवाना चाह रही थी. 

    रवि जी ने जया की गांड मारी और उधर अमित जी फिर से तैयार हो गए मेरी गांड मारने को. मैंने तो खुद को वैसे ही उनकी दूसरी बीवी बता दिया था इसलिए मेरे ना करने का सवाल ही नहीं उठता था. उन्होंने मुझे रगड़ना शुरू कर दिया और अनु ने उसी वक्त हमारी विडियो और फोटो को खींचना शुरू किआ. अंत में जब सब कुछ समाप्त हुआ तो सब अपनी बिखरी हुई साँसों और अपने अन्तवस्त्रों को समेटने में जुट गए. 

    थोड़ी देर बाद हम सभी ने अपनी पेकिंग की और सोने चले गए. इस तरह एक और दिन जो की आखरी था उसका अंत हुआ. 

    दो अनुभवी जोड़ों के साथ दस दिन की थाईलैंड की यात्रा. (आठवाँ भाग)

    आठवाँ दिन

    आज के दिन की शुरुवात हम सभी ने सियाम पार्क से शुरू की. बहुत सुना था इसके बारे में तो सोचा आज चलकर इस पार्क को देख भी लेते हैं. ये पार्क एक मनोरंजन स्थल है जो की बेंकोक के खान ना यायो जिले में स्थित है. स्वर्णभूमि एअरपोर्ट से यहाँ तक पहुँचने में केवल बीस मिनट लगते हैं. पर्यटकों के बीच ये खासा मशहूर है इसलिए हर यात्री एक बार यहाँ आने के बाद आता जरूर है. 

    यहाँ के वाटर पार्क में सात आकर्षित करने वाली चीजें हैं और उनमें से प्रमुख है 13,600 स्क्वायर मीटर का एक तालाब जो की 2009 तक गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में था. विश्व में उससे बड़ा कोई तालाब नहीं था 2009 तक..इस पार्क में आपको चालीस अलग अलग तरह की राइड के आप्शन मिलते हैं. कुल मिलकर यहाँ विश्व स्तर के वोर्तेक्स, रोलर कोस्टर और फ्री फाल जैसे राइड हैं जिन पर हर पर्यटक जाकर बैठना चाहता है. 

    हम सभी ने लगभग सभी झूलों का आनंद लिया. रोलर कोस्टर राइड में तो इतना मजा आया के उसका कोई वर्णन ही नहीं किआ जा सकता. सभी ने अछे से अपना समय सिआम पार्क में व्यतीत किआ और चार पांच घंटों तक वहां समय बिताने के बाद वापस अपने होटल में आ गए. 

    होटल आकर थोडा आराम किआ और शाम के वक्त सभी मिले. हमारे मर्दों ने जो हम तीनों के लिए किया था उसके हम सभी औरतें उनको थैंक यू बोलना चाहते थे पर अलग अंदाज से. उसके लिए हम सभी ने सोचा, “इनको हमारे लेस्बो सेक्स का लुत्फ़ उठा लेने दिया जाए, उनके लिए भी नया होगा और उन्हें अच्छा भी लगेगा और इस तरह हम उन्हें थैंक यू भी कह देंगे.”

    कमाल, की बात ये थी इन सब में के हमने अपने मर्दों को आज सेक्स नहीं करने देने का मन बना लिया था और गर हमें कुछ करने का होगा तो हम आपस में सेक्स करेंगे और उन्हें सिर्फ देखने का मौका देंगे. एक बार सब तय हो गया तो बस हम सभी समय का इन्तेजार करने लगे. 

    सभी ने साथ में ड्रिंक लिया और म्यूजिक पर डांस करने लगे और इधर हम तीनों ने एक दुसरे को किस करना शुरू कर दिया..जैसे ही दोनों आदमियों ने हमें ऐसे गुत्थम गुत्था होते हुए देखा तो वो लोग हैरान हो गए. उनको ऐसे हैरान होते हुए देख मैंने उन्हें शान्ति से बैठ कर शो को एन्जॉय करने को कह दिया. हमारी इस हरकत को देखकर वो सभी काफी चौंक गए उन्हें ऐसा भी कुछ होगा की उम्मीद नहीं थी. 

    हम सभी ने नाचते हुए स्ट्रिप टीज करना शुरू कर दिया. आदमियों ने जब ये देखा तो उन्होंने गंदे गंदे कमेंट पास करना शुरू कर दिया जिसको सुनने के बाद हम लोग और ज्यादा उत्तेजित होकर मस्ती करने लगे. हम सभी ने एक दुसरे की चूत, चूची और गांड को चूसना शुरू कर दिया और एक दुसरे की गांड और चूत भी डिलडो से मारना शुरू किआ.

    मर्दों ने जब हमें ऐसे मस्ती करते हुए देखा तो वो लोग ताव में आ गए और नंगे होकर हमारे गांड पर स्लैप करने लगे. उन्होंने हमारी गांड में अपनी ऊँगली डालते हुए खूब मस्ती की और कहा आज तक ऐसा मजा उन्होंने अपनी जिंदगी में नहीं लिया है. उन्होंने कहा, तीनो औरतें एक नंबर की चुदक्कड और खुले दिमाग की महिला हैं. हम लोगों ने काफी मस्ती की जिसे हमारे आदमियों ने खूब एन्जॉय भी किआ. इसके बाद हम सभी ने साथ में

    डिनर किआ और अपने अपने रूम में जाकर सो गए और इस तरह एक और दिन ख़तम हुआ.

    दो अनुभवी जोड़ों के साथ दस दिन की थाईलैंड की यात्रा. (सातवाँ भाग)

    सातवाँ दिन

    कल का दिन आखिरी था हमारा फुकेट में इसलिए हम लोगों ने जितना घूमना था और जितनी फोटोग्राफी करनी थी सब कर ली. बीच भी गए और मसाज का भी पूरा आनंद उठाया. आज के दिन हम सभी फुकेट से निकल पड़े बेंकोक के लिए यादों को अपने कैमरे में और दिल में कैद किये हुए. फुकेट से बेंकोक का सफ़र पूरे नब्बे मिनट का है. जहाज से नीचे का दृश्य बड़ा है आँखों को सकून देने वाला है. 

    एअरपोर्ट से हम लोग सीधा अपने पहले से बुक किये हुआ होटल पर आये और आते ही अपने अपने रूम में चेक इन कर लिया. इस बार मैंने रवि और अनु के साथ अपना रूम शेयर किआ और ऐसा हमने रास्ते में ही सोच लिया था. इस बात के लिए अमित और जया ने भी हामी भर दी थी..उन्होंने कहा “थोड़े मजे रवि और अनु को भी लूटने दो…अरचु, मेरी जान”. 

    रूम में आने के बाद हम लोगों ने एक बढ़िया सा शावर लिया. शावर में हम तीनों साथ ही गए थे और नंगे होकर एक दुसरे के जज्बातों को छूते हुए एक दुसरे को नहलाया. शावर के बाद हमने थोडा आराम किया और सभी अपने तय किये हुए जगह जो के होटल की लॉबी थी वहां जाकर मिले. लॉबी में हमने साथ में लंच किआ और आगे का प्रोग्राम फिक्स किआ. 

    प्रोग्राम में हमारे रात में खुले बीच में मस्ती और करने मेनू शामिल किआ गया…हमारे दो लंडअर्चियों द्वारा. जिसे हम सभी ने ख़ुशी से स्वीकार कर लिया. हम सभी का सपना था कभी न कभी खुले बीच में अपने पार्टनर या किसी और के पार्टनर के साथ जी भर का सेक्स करेंगे..जो की आज पूरा होना जा रहा था इसलिए किसी ने ना करने की जेहमत नहीं उठाई.

    सभी रात की तैय्यारियों में लग गए और मैं सीधा जाकर अपने बेड पर सो गई. मैंने सोना इसलिए बेहतर समझा क्यूंकि रात में जागना था और मेहनत करनी थी और इसमें शरीर को थोडा आराम देना जरूरी था नहीं तो परफॉरमेंस पर बहुत बुरा असर तो पड़ता ही साथ ही साथ में शरीर पर भी बुरा असर पड़ना था. मैंने अपनी कुछ घंटों की नींद पूरी कर शाम तक अच्छे से फ्रेश हो गई.

    हम सभी ने अपना डिनर करने के बाद सारी चीजों का प्रबंध किआ होटल स्टाफ की मदद से आज की रात के लिए और ठीक नौ बजे तैयार होकर बीच के लिए निकल पड़े. गाडी ने हमें बीच पर ले जाकर छोड़ दिया और हम सभी बीच पर एक साथ हाथों में हाथ डाले घूमने लगे. हमें एक सुरक्षित और शांत जगह की तलाश थी जहाँ पर हम अपने मंसूबों को पूरा करते थे. 

    हम लोग बीच पर एक बहुत ही खुली हुई ड्रेस जो के बिकिनी और थोंग का मिश्रण था पहने हुए घूम रहे थे. हमारी ड्रेस इतनी खुली हुई थी लोग उस ड्रेस को देखकर अपने मुंह को खोले बगैर रह नहीं पा रहे थे. हमारी ड्रेस में से हमारे चूचे और गांड के दर्शन सभी को साफ़ साफ़ हो रहे थे. हम लोगों ने जान बूझकर ऐसा पहना था ताकि लोगों का ध्यान हमारी तरफ हो. 

    खैर थोड़ी मशक्कत के बाद हमें एक सुनसान, सुरक्षित और शांत जगह मिल ही गई.  जगह मिलने के बाद हमने उस जगह का पहले अच्छे से मुआयना किआ और सारी तसल्ली करने के बाद ही हम लोग अपनी आगे की तैय्यारी को अंजाम देने के लिए जूट गए. हम लोगों ने वहां अपने सामान को सेट किआ और कुछ चीजें वहां बिछा दी..ताकि मस्ती में कोई खलल न पड़े.

    एक बार सभी चीजों का प्रबंध हो गया तब हम सभी बेखौफ्फ़ होकर मस्ती के सागर में डूबने को तैयार होने लगे. हमने अपने अपने कपडे उतारने शुरू कर दिए और कुछ ही क्षण में हम सभी नंगे थे. हम सभी एक दुसरे को नंगे देखकर काफी उत्तेजित हो चुके थे. रवि और अमित के लंड के लौड़े में तनाव के कारण उभरी हुई नसें साफ़ देखि जा सकती थी…मैं समझ गई थी ये लोग अब पूरी तरह से बेताब हो चुके हैं.

    रवि और अमित ने मुझे और जया को साथ में चोदने के लिए अपने पास बुला लिया और अनु को लोगों पर नजर रखने को कहा. कोई आता दिखे या कोई परेशानी दिखे तो सभी को आगाह करना उसका काम था. अनु को उसके साथ साथ उन्होंने फोटो और विडियो बनाने का भी काम दिया था. 

    रवि ने मुझे पकड़ लिया और मेरे दोनों बूब्स दबाने लगे. इधर अमित ने जया को पकड़ कर उसकी चूत को चूसना शुरू कर दिया. रवि बूब्स दबाते दबाते मेरे दूध को मुंह में भर बच्चे की तरह उसको चूसने लगे. साथ ही रवि ने अपनी अंगुली मेरी चूत में पेल दी. मैं तो बस सिहर कर रह गई और पूरी मस्ती में आने लगी. 

    रवि ने तब अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और उधर अमित ने जया की चूत में लंड दाल चोदने लगे. अनु हम सभी की फोटो और विडियो बनाने में लगी हुई थी. हम लोग खुले आसमान के नीचे खुल्ले आम चुदाई कर रहे थे. रवि का लंड सटा सट मेरी चूत में अन्दर जा रहा था. रवि मेरे चूचे को दबा रहा था और मुझे किस करे जा रहा था. 

    हमारी घुटी घुटी सी चीख निकल रही थी जो खुले आसामन के नीचे सिर्फ अनु सुन सकती थी और उसका कैमरा. अनु ने हर एंगल से हमारी चुदाई के दौरान की फोटो और विडियो ली. थोड़ी देर की चुदाई के बाद दोनों मर्द हमारी चूत से लंड बाहर निकाल झड गए और इसी दौरान हम भी झड़े.

    उसके बाद दोनों मर्दों ने थोडा सुस्ताने के बाद हम तीनों को फिर से अच्छी तरीके से चोदा और थोड़ी देर के लिए शांत हो गए. तभी एक दम से रवि और अमित ने कहा,“ आज हम दोनों अरचु डार्लिंग की गांड अपनी बीवी के सामने मारेंगे”. दोनों की बीवियां सुन कर मुस्कुरा उठी और मेरी तरफ देखने लगी.  मैं भी मुस्कुरा कर

    उनका जवाब दिया और फिर क्या था दोनों मर्द मुझ पर टूट पड़े. अमित ने मेरे मुंह में अपना लौड़ा ठूंस दिया और रवि ने मेरी गांड में. अमित मेरे मुंह में जोर जोर से लौड़ा घुसा रहा था और रवि मेरी गांड में. ये दोनों औरतें भी अपने मर्दों का जोश बढ़ा रही थी. कह रही थी, “ गांड फाड़ दो, साली कुतिया की. साली चुदक्कर ले मेरे पति का मोटा लौड़ा अपनी गांड में और मजे ले.” उन दोनों के ऐसा कहने पर मैं भी उत्तेजित होकर दोनों को अछे से जवाब देने लगी. थोड़ी देर गांड रवि ने मारी उसके बाद अमित ने भी अपना लंड मेरी गांड में घुसा दिया और उसने भी कोई कोर कसर बाकी नहीं रहने दिया. दोनों के झड़ जाने के बाद हम लोग थोड़ी देर तक और रुके उसके बाद हम लोग वापस अपने होटल आ गए. थकावट हावी हो रही थी इतने घमासान के बाद.हम लोग वापस अपने होटल में आकर सो गए और इस तरह मेरे इस एक सुखद दिन का अंत हुआ. 

    दो अनुभवी जोड़ों के साथ दस दिन की थाईलैंड की यात्रा. (छठा भाग)

    छठा दिन

    आज हम लोगों को यहाँ आये हुए पूरे छ दिन हो गए थे. समय कैसे रेत की तरह हाथ से निकल रहा था कुछ पता ही नहीं चल रहा था. हमारे दिन पूरे मौज मस्ती के साथ जा रहे थे. हम लोग हमेशा ही ऐसे किसी ट्रिप के बारे में सोचा करते थे और इस बार फाइनली हम सभी ने इस सपने को पूरा कर लिया. काफी रिलैक्स हो गए थे आज के दिन तक हम सभी. एक दुसरे की कंपनी को भी अच्छे से एन्जॉय कर रहे थे.

    कल के मसाज की याद और चुदाई तो आज भी ऐसा लग रहा था जैसे भारी पड़ रही है. कल के मसाजर के बारे में सोच सोच कर आज भी चूत गीली हो रही थी. बहुत ही बढ़िया मसाज किआ उसने अनु और जया भी उसी के बारे में बातें कर रहे थे. उसने हम तीनो को बराबरी से टाइम दिया और पूरी तरीके से मस्ती के सागर में डुबो दिया था और हम लोग उसी के हैंगओवर में डूबे हुए थे अभी तक. 

    आज हम लोगों का प्लान फी द्वीप पर जाने का था. फुकेट से चलकर हम लोग फी फी द्वीप पर दोपहर के बारह बजे के आसपास पहुंचे थे. अगले चार पांच घंटे हमें इसी द्वीप में गुजारने थे. फी फी समूह के द्वीपों में दो द्वीप प्रमुख हैं. जिस द्वीप पर हम पहुंचे उसका नाम फी फी डॉन जो की यहां का सबसे बड़ा द्वीप है. इसी के पास एक और छोटा द्वीप है उसका नाम फी फी ले है. 

    दोनों द्वीपों के समुद्र तट बेहद सुन्दर हैं और साथ ही कुछ जगहों पर स्नोर्क्लिंग भी कराई जाती है. हम सभी ने पहले से ही ठान रखा था के हमें कहीं और नहीं जाना है सारा समय समुद्र में नहाने में और अठखेलियाँ करते हुए बिताना है. अगर हम सभी बोर हो गए तो फिर कहीं और का प्लान उसी वक्त करेंगे. 

    इस द्वीप में होटल और दुकानों की कतारें हैं. कुछ सालों पहले आई हुई सुनामी में ये द्वीप भी तबाह हुआ था पर अब ये पूरी तरह से दुबारा से बस चूका है. सरकार ने होटल और दुकानों की संख्या को सिमित रखा है यही वजह है की इस इलाके की अकूत नैसर्गिक सुन्दरता पर पर्यटन का कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ा है.

    फी फी का समुद्री तट एक बेहद सुन्दर समुद्र तट है. अगर भारत की बात करें तो अंडमान का राधानगर का समुद्र तट इसके आस पास ठहर सकता है. तट के पास का पानी हरे रंग का दीखता है पर थोड़ी दूर पर ये रंग बदलते बदलते गहरे नीले रंग का हो जाता है. छोटी छोटी पहाड़ियों से घिरे होने के कारण यहाँ ऊंची ऊंची लहरें भी नहीं उठती हैं पर जैसे जैसे आप समुद्र में आगे बढ़ते जाते हैं पानी आपकी छाती और गर्दन तक पहुँच जाता है. 

    हम सभी ने पैरा सेलिंग किआ. पैर सेलिंग में पैराशूट का एक हिस्सा मोटरबोट से बंधा होता है. मोटरबोट पूरी गति से आगे बढ़ता है और दुसरे सिरे पर पैराशूट पर चढ़ा व्यक्ति आसमान से बातें करता है. मैंने पैरासेलिंग दोनों मर्दों के साथ एक एक बार की और ऊपर आसमान से बातें करते हुए उनके लौडों से भी अपनी गांड की बात करवा दी. दोनों मर्द काफी खुश हुए इस पैर ग्लाइडिंग के बाद. 

    थोड़ी देर तक समुद्र में नहाने के बाद सब थोड़ी थकान महसूस कर रहे थे. जेटी के पास के एक होटल में खाने का इन्तेजाम था. कल की तरह ही खाने को हमें मिला था. खाने के बाद हम लोगों ने वापस फी फी से फुकेट वापस अपने होटल में आने के लिए तैयार हो गए. सच कहूँ तो इतने रमणीक स्थान से वापस आने का मन नहीं हो रहा था. वैसे हम सभी ने इन जगहों की बहुत सारी फोटो और विडियो बना ली थी. 

    वापस होटल पर शाम को पहुंचे. थोड़े आराम के बाद हम सभी रात के खाने पर साथ मिले और साथ में ही डिनर किआ. थकान सभी पर हावी हो रही थी और सभी के चेहरे से दिख भी रही थी इसलिए आज सभी ने सॉफ्ट फन को करने का सोचा. सॉफ्ट फन को हमने अपने कैमरे में खींच कर यादों की तरह सहेज कर रख लिया. 

    बाद में सभी अपने अपने रूम में जाकर सो गए और इस तरह हमारे एक और दिन कम हो गया.

    दो अनुभवी जोड़ों के साथ दस दिन की थाईलैंड की यात्रा. (पांचवा भाग)

    पांचवा दिन

    इस दिन के लिए हम लोगों ने एक अलग से प्लान बनाया जहाँ पर हम पीछे के दिनों से कुछ अलग करने वाले थे. यहाँ हमने बीच, मसाज और कुछ वाटर स्पोर्ट्स खेलना था जो हमने पिछले दिनों किआ नहीं था. पांचवा दिन था और थोडा अलग कुछ करना था और होना था तो हमने सोचा शुरुवात बीच से करते हैं. 

    हम लोग पटोंग बीच गए जो एशिया का पार्टी कैपिटल कहलाता है. ये अपने बीच और नाईट लाइफ के लिए काफी मशहूर है. यहाँ चारो तरफ होटल, रेस्टोरेंट और नाईट क्लब है और पर्यटकों आकर्षित करता है. में  अपने वाटर स्पोर्ट्स के लिए काफी मशहूर है. मस्ती के लिए आने वालों के लिए ये एक स्वर्ग से कम नहीं है. बंगला रोड और बीच रोड पर अनेकों मस्ती के परिसर, खूब सारे बार फैले हुए है. 

    शहर महिला के लिए मशहूर होने के साथ साथ ट्रांसजेंडर के लिए भी काफी मशहूर है. यहाँ पर आदमी भी सेक्स करने के लिए आसानी से मुहैय्या हो जाते हैं होटल की तरफ से. इसे देखना केवल एक गलती ही मानी जाएगी…क्यूंकि इसको देखने से ज्यादा इसे महसूस करने में मजा है. ये फॅमिली और कपल दोनों के लिए ही होते हैं और लोग इसको भी ट्राय करते हैं. 

    मसाज पार्लर भी यहाँ काफी मशहूर हैं और ज्यादा तर भारतीय मर्द काम के बहाने से आकर मसाज पार्लर में मसाज के साथ चुदाई का भरपूर आनंद लेते हैं. नुआद थाई एक मसाज है जो यहाँ काफी मशहूर है. ये एक कामुक मसाज है जिसे ज्यादातर लोग लेना पसंद करते हैं. कुछ लोग अपने सेहत को दुरुस्त रखने के लिए भी इस मसाज का इस्तेमाल करते हैं. इस मसाज में सब कुछ प्राकृतिक रूप से किआ जाता है जो सेहत के लिए काफी फायेदे मंद होता है. 

    पटोंग बीच में वाटर स्पोर्ट्स भी काफी हैं. जिनमें स्कूबा डाइविंग, सर्फिंग, स्टैंड अप पेडल बोर्डिंग, काईट सर्फिंग वो समुद्र किनारे..रंगीन समुद्री जीवन, गर्म पानी और आसान पहुंच के बहुतायत के साथ आकर्षण केंद्र हैं. हम लोगों  स्कूबा डाइविंग के बारे में सोचा और चल पड़े उसके लिए. समुद्र का पानी गर्म था इसलिए हमें और आसानी हुई स्कूबा डाइविंग में. 

    स्कूबा डाइविंग में सभी ने पूरी मस्ती की और उसके बाद दुसरे वाटर स्पोर्ट्स को भी एन्जॉय किआ. इतनी मस्ती के बाद भूख ने सभी पर धावा बोल दिया. कपडे बदल कर हम सभी अपने रिसोर्ट जो हमने आज के लिए पटोंग पर बुक किआ था वहां आ गए और वहां ही हमने अपना लंच आर्डर कर दिया. 

    लंच में हमने सी फ़ूड जो काफी मशहूर है उसका आर्डर दिया. इंडिया में सी फ़ूड ट्राय किया है पर हम यहाँ के और वहां के स्वाद में फर्क देखने के लिए इसको ट्राय कर रहे थे. हमारा लंच रिसोर्ट पर आया और हमने अपना लंच फिनिश कर लिया. अगर स्वाद की बात करूँ, तो मुझे अपने इंडिया के सी फ़ूड का ही स्वाद ज्यादा पसंद आया फुकेट के मुकाबले. 

    खाने के बाद हम लोगों ने थोडा आराम किआ और शाम के वक्त वापस होटल को निकल पड़े. वापस लौटते वक्त अमित और रवि ने होटल के रिसेप्शनिस्ट से मेल मसाजर हम तीन औरतों के लिए प्रबंध करने को कहा. साथ ही ये भी हिदायत दे दी..की मसाजर कम उम्र का हो और हथियार लम्बा, मोटा और मजबूत हो ताकि महिलाओं को पूरा मजा मिल सके. 

    रिसेप्शनिस्ट ने कहा, “उसे कुछ समय का वक्त चाहिए और मसाजर वो सीधा रूम में भेज देगी”. हम सभी अपने रूम में आ गए पर कोई अलग नहीं हुआ..मतलब ये के सभी एक ही रूम बैठे बेसब्री से मसाजर का इन्तेजार कर रहे थे. आदमियों ने हमारी मसाज देखनी थी और अपने लौड़े को मुट्ठी से शांत करना था और हम औरतों को अपनी थकान के साथ साथ विदेशी लौड़े से चुदाई करानी थी. 

    करीब दस मिनट ही बीते होंगे के मसाजर हमारे सामने आ गया. मसाजर को देखने के बाद हम सभी हैरान हो गए. मसाजर अपने सामान्य से कपडे में आया हुआ था जो के एक शोर्ट और एक ढीली सी टी शर्ट थी. उसके नैन नक्श भी काफी आकर्षक थे. शरीर भी मजबूत और कसा हुआ था. सिक्स पैक एब्स दिख नहीं रहे थे पर उसके शरीर में थे. कसरत करता  था पर बॉडी बिल्डर की तरह नहीं था. उसकी उम्र भी यही कोई 22 या 23 के आस पास रही होगी. 

    हमें चाहिए भी इसी तरह का कोई लड़का था जो हमसे कम उम्र का हो और पूरे जोश से भरा हुआ हो. हमें देख कर उसने मुस्कुराते हुए कहा आप सभी अपने कपडे उतार कर इधर लेट जाएँ. हमने भी मुस्कुराते हुए ही उसके आदेश का पालन किआ. हम तीनों ने अपने सारे कपडे उतार दिए और उसके बताये हुए स्थान पर जाकर लेट गए. 

    हमारे मर्द हैरान हो रहे थे एक मसाजर तीन औरतों को किस तरह संभालेगा लेकिन उन्होंने कुछ कहा नहीं और जो हो रहा था वही देखने लगे. जैसे हम तीनों लेते उसने अपने टी शर्ट को उतार दिया और हम तीनों के पास आ गया. उसने हमें पेट के बल लेटने को कहा था. अपने हाथ पर हल्का तेल लेकर उसने हमारे पीठ और गांड के मांसल हिस्से पर लगाया और अपने हाथों से आराम से मसाज करने लगा. 

    उसने पैरों के पिंडलियों पर भी तेल से आराम से मसाज किआ और पैरों के जॉइंट्स और पॉइंट्स पर भी हौले से समय लगाकर और अँगुलियों के पोर से दबा दबा कर मसाज किआ. फिर उसने हम तीनों को पीठ के बल लेटने को कहा और हमारे बूब्स पर तेल डाल कर उसको दबाकर मसाज करने लगा. हम तीनो को बराबरी से समय देकर मसाज कर रहा था वो मसाजर.

    हम लोग वैसे ही चुदासी हो रहे थे ऊपर इस तरह के मसाज ने हमें और तपा दिया. सबसे ज्यादा परेशान हम चूत की मसाज में हो गए…इस तरह का चूत का मसाज हमने जिंदगी में नहीं लिया. इस को शब्दों में बयान करना मेरे लिए संभव नहीं है. हम लोग इस मसाज के बाद चुदाई के लिए बेचैन हो उठे थे और अभी तक उस मसाजर ने अपने लौड़े को हमें दिखाया भी नहीं था. 

    अभी वो मसाज कर ही रहा था के बेचैनी के मारे मैंने उसके पेंट के ऊपर से उसका लौड़ा पकड़ लिया. मुझे पकड़ते ही एहसास हो गया ये दीखता छोटा और मासूम है पर इसका लौड़ा घोड़े के जैसा है. जब तक वो खुद कुछ करता तब तक मैंने उसके बटन को खोल कर उसका घोड़े जैसा मजबूत लौड़ा सबके सामने निकाल कर रख दिया.  जैसे ही सभी ने देखा औरतों के साथ साथ मर्दों को भी बल पड गए. सभी हैरान हो गए उसके हथियार को देखकर. उसके औजार का साइज़ लगभग दस इंच का था और उसकी मोटाई ढाई ऊँगली के बराबर थी. हम सभी औरतों ने एक दुसरे को देखा और मुस्कुराए और आँखों ही आँखों में ये सन्देश दे दिया के आज खूब मजा आने वाला है. 

    जैसे ही मसाजर नंगा हुआ मैंने उसके लौड़े को अपने मुंह में स्लुर्प करके ले लिया. मसाजर ने उस वक्त तक हमारा मसाज करना बंद नहीं किआ था. जैसे ही लंड लिया उसे समझ में आ गया अब उसे हमारी चूत की मसाज करनी है अपने सांड जैसे लंड से. उसका लंड इतना बड़ा था के मुंह में पूरा आ भी नहीं रहा था लेकिन मैंने फिर भी उसे अपने मुंह से निकाला नहीं बल्कि उसे दिक्कत होने के बाद भी चूसती ही रही. 

    गरम तो वो हम लोगों को नंगा देखकर ही हो गया था और अब जब इस स्थिति में हम लोग पहुँच गए थे तब उसकी भी बेतावी और बढ़ गई थी. उसने भी अब जवाब देना शुरू किआ…उसने मेरी चूत को अपने जीभ से टच किआ और अनु की चूत में ऊँगली पेल दी. मैं तो सर से ऊपर तक गनगना गई, और मुझे ऐसा महसूस हुआ जैसे आज ही मेरी सारी तमन्नाएं पूरी हो गई हैं.

    थोड़ी देर चूत चाटने के बाद उसने मुझे अपने तरफ खींच कर मेरी चूत की सीध में अपना लौड़ा कर मुझे अपने सीने से लगा लिया. मतलब वह उस टेबल पर आकर चढ़ गया और उसने मुझे उठा कर अपने लौड़े पर बिठा लिया. उसका कड़क लौड़ा मेरी चूत के मुहाने पर ही अटक कर रह गया. उसने फिर एक क्रीम लगाईं और मेरी चूत के मुंह पर लौड़ा रखकर एक जोरदार झटका मारा. 

    उसके इस जोरदार झटके से उसका लौड़ा दनदनाता हुआ फटाक से एक दम आधा मेरी बुर में प्रवेश कर गया. मैं तो दर्द से तड़प उठी लेकिन मैंने उसे इस बात का एहसास होने नहीं दिया. उसने इस बात को समझते हुए आराम आराम से लंड मेरी बुर में डालना जारी रखा और एक हाथ से मेरी चूचियों की घुंडियों को दबाना और दुसरे चूची को मुंह से चुसना शुरू कर दिया. मैं तो आनंद के सागर में गोते लगाने लगी. उसके इस अंदाज़ ने मुझे उसका दीवाना बना दिया. थोड़ी देर में मैंने ही उसे कहा पूरा अन्दर पेल दो और रुकना नहीं. उसने भी वही किआ और एक ही झटके में पूरा लंड अन्दर ठूस दिया. दर्द हुआ पर मैंने इस बार कोई हाय तौबा नहीं मचाई.

    उसने भी अन्दर डाल कर चोदना शुरू कर दिया था और मुझे एक मस्ती की नई दुनिया में ले गया. उसके हर झटके से मैं एक नया अनुभव प्राप्त कर रही थी. उसके लंड की थाप को मैं अपनी गर्भाशय तक महसूस कर पा रही थी. वो सही मायने में मर्द के जैसा काम कर रहा था. उसने फिर मुझे पोजीशन बदल कर चोदा…हर पोजीशन में उसने मुझे दुगुने जोश के साथ चोदा और पूरा मस्त कर दिया.  सभी लोग मेरी चुदाई को ध्यान से देख रहे थे किसी की पलकें

    नहीं झपक रही थी. अनु और जया अपनी चुदाई भूलकर हम दोनों की इस चुदाई को ही देख रहे थे. जैसे ही वो मुझसे फारिग हुआ तब उन दोनों का नंबर आया. उसने उन दोनों को भी बहुत अछी तरह से चोद कर खुश किआ.  जाते वक्त उसे टिप भी अच्छा दिया अमित और रवि ने..और हम औरतों ने उसे एक किस दी और उसे कहा बहुत अच्छा मसाज करते हो. जिसे उसने हंस कर स्वीकार किया और थैंक यू बोलकर चला गया.  खास बात ये रही की इन लम्हों को दोनों रवि और अमित ने अपने कैमरे में कैद कर लिया ताकि बाद में इन यादों को ताजा किया जा सके.  इस तरह मेरे पांचवे दिन का बेहद सुखद और मजबूत तरीके

    से अंत हुआ. 

    दो अनुभवी जोड़ों के साथ दस दिन की थाईलैंड की यात्रा. (चौथा भाग)

    चौथा दिन

    हम सभी योजनानुसार पहले तीन दिन पट्टाया रहने वाले थे उसके बाद फुकेट जाना था. चौथे दिन सभी अपनी खट्टी मीठी यादों का पुलिंदा अपने मन में समेटे हुए निकल पड़े फुकेट के लिए. पट्टाया से फुकेट हवाई सफ़र दो घंटे का है. हम फुकेट पहुंचकर सीधा अपने होटल गए और वहां अपने अपने रूम में चले गए. फुकेट में हमने केवल दो ही रूम बुक किये थे.

    दो रूम का मतलब ये था मुझे किसी भी एक जोड़े के साथ रूम शेयर करना था. अब ये मुझे पर निर्भर करता था मुझे किसी जोड़े के साथ जाना है. मैंने सोचा रवि और अनु के साथ मैं वैसे भी पट्टाया में रह चुकी हूँ..तो इस बार मैं अमित और जया के साथ उनके रूम में रहूंगी. इस तरह से दोनों को अच्छा भी लगेगा और मुझे भी कुछ नया स्वाद मिल जाएगा. 

    इतना सोचने के लिए मुझे कुछ समय लग गया..और जैसे ही एक बार मैंने सोच लिया तो फिर सीधा सामान लेकर अमित और जया के कमरे में पहुँच गई. रूम में जाकर हम तीनों इतने थके हुए थे की कुछ नहीं देखा जहाँ भी जगह मिली वहीँ पड़ गए. मैं और जया बेड पर और अमित सोफे पर जाकर आराम करने लगे. किसी ने भी अपने कपडे बदलने तक का इन्तेजार नहीं किआ.

    हालांकि सफ़र दो घंटे का ही था पर एअरपोर्ट पर रुकना और फिर ट्रेवल दो घंटे का फिर होटल तक का सफ़र काफी थका देने वाला था. थोड़ी देर के आराम के पाश्चात हम तीनों उठे और शावर लेने का सोचा. शावर के लिए हम तीनो साथ ही जाने को तैयार हो गए. हम तीनों ने एक दुसरे के सामने ही अपने कपडे उतार दिए और साथ में ही एक भी बाथरूम में घुस गए. 

    मुझे इस बात का अंदाज़ा था जब हम तीनों साथ में जाएंगे तो अमित की बदमाशी को न मैं और न ही जया रोक पाएंगे..और वैसे भी हम रोकेंगे भी किसलिए हमें भी तो मस्ती चाहिए थी. खैर जैसे ही हम बाथरूम में गए अमित की मस्तियाँ शुरू हो गई. अमित ने कभी मेरे चूचे तो कभी गांड पर हाथ फेरना शुरू कर दिया.

    अमित के छूते ही मेरी चूत पानी से लपलपा गई और मुझे अपनी सहेली में गुदगुदी महसूस होने लगी. जया भी गरम होने लगी इस छेड़ छाड़ से, और उसने भी मेरे चूचे को छूना शुरू कर दिया. अमित ने शावर ओन कर दिया और हम दोनों को बिलकुल अपने पास में खींच कर शावर लेने लगा. जैसे ही पानी की ठंडी बूँदें बदन से टकराई चुदाई के लिए उमंगें जवान हो गई. 

    जया का भी कुछ इस तरह का हाल हो रहा था पर अमित ने तो जैसे हम दोनों को और तडपाने की कसम सी खा ली थी. अमित हम दोनों की चुदास को बढ़ा तो रहे थे पर उसको बुझाने के लिए कोई ठोस लौड़ा उठा नहीं रहे थे. जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने अमित के लौड़े को अपने मुंह में लेकर उसे चूसना शुरू कर दिया और उधर अमित ने जया के दूध अपने मुंह में भर कर उसे चूसने लगे.

    जया के मुंह से आह ऊऊह और उम्म्म जैसे आवाजें आने लगी. अमित ने उसकी चूत में अपनी बीच की ऊँगली डाल कर उसको अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया जिससे उसकी हालत और ख़राब होने लगी. जया जोर जोर से आहें और सीत्कार भरने लगी. इधर मैंने भी अमित के लौड़े को बदस्तूर चूसना जारी रखा जिसे अमित ने भी मस्ती में स्वीकार किआ.

    थोड़ी देर बाद अमित ने हम दोनों के बदन पर साबुन लगाया और हम दोनों को अपने हाथों से नहलाने लगे. नहलाते हुए ही अमित ने हम दोनों की चूत को चूसा और ऐसे चूसा के हम दोनों ही आनंद से सराबोर हो उठे. उसके बाद हम दोनों ने अमित के बदन पर साबुन लगाया और हम तीनों शावर लेकर वापस रूम में आ गए. अमित को इस शावर में खूब मजा आया जिसे अमित ने हम दोनों को कहा भी .

    शावर के बाद हम लोगों ने अपने गीले बदन को तौलिये से साफ़ किआ और जैसे ही कपडे पहनने वाले थे तभी अमित ने अपनी एक इच्छा बताई हम दोनों को..जिसे सुन कर मैं थोडा हैरान हो गई. अमित जी मेरी गांड मारना चाहते थे जया के सामने क्यूंकि आज तक जया ने अमित को अपनी गांड नहीं दी थी और अमित जी ऐसा करके जया को भविष्य में गांड देने के लिए तैयार करना चाहते थे. 

    जया, के सामने मेरी गांड मारने में अमित को कोई दिक्कत नहीं थी और न ही जया को कोई दिक्कत….तो मुझे कौन सी दिक्कत होने वाली थी..मैं तो सैम के साथ अक्सर ही अपनी गांड मरवा लिया करती थी इसलिए मुझे कोई दिक्कत नहीं आने वाली थी. मैंने भी उन्हें इस बात के लिए हाँ कह दिया. मैंने उन्हें कहा मैं आपकी दूसरी बीवी हूँ और अपनी बीवी के साथ कुछ भी करने के लिए आपको उससे कुछ पूछने की जरुरत नहीं है.

    अमित ने जैसे ही ये सुना वो ख़ुशी से पागल हो उठा और उसने ख़ुशी के मारे मुझे किस कर लिया. अमित की ख़ुशी मुझे उसके चेहरे से ज्यादा उसके तौलिये में लिपटे हुए औजार से ज्यादा दिख रही थी. मैंने जब अमित की ख़ुशी को उसके तौलिये से बाहर आते देखा तो मैं और खुश हो गई. अमित ने भी आव न देखा ताव झट से मेरे बदन पर लिपटे हुए तौलिये को खीच डाला और मुझे पूरा मादरजात नंगा कर दिया.

    जया उसी वक्त जाकर एक क्रीम ले आई…जो अमित जी, अपने लंड पर लगा कर उसे मेरी गांड में पेलने वाले थे. इधर अमित जी ने मुझे अपनी बाहों में लेकर मुझे अपने होठों से चिपका लिया और अपनी जीभ को अन्दर घुसा कर मुझे चूमने लगे. उनके जीभ से उन्होंने मेरे पूरे मुंह को चूस डाला और उनका जवाब मैंने भी बदले में उनकी जीभ को चूस कर दिया. 

    उनको चूमने के दौरान मैंने उनके लंड को अपने हाथ में पकड रखा था और उस पर हौले हौले अपने हाथ चला रही थी जिससे अमित और मस्ती में आ रहे थे. अमित का लौड़ा अब पूरी मस्ती में आ गया था और अब अपने आराम के लिए गुफा ढूंढ रहा था. थोड़ी देर तक ऐसा ही चलता रहा जब तक जया क्रीम लेकर नहीं आई.  जया के आते ही अमित ने इशारे से उसे मेरी गांड और उनके लंड पर क्रीम लगाने को कहा. उसने भी आदेश का पालन किआ और पहले मेरी गांड के छेद पर क्रीम लगाया उसके बाद अमित के लंड पर. जैसे ही अमित के लंड पर क्रीम लग गया उसने मुझे घोड़ी बना दिया वही और कहा अपने हाथ सोफे पर रख लो. अमित ने मुझे उस पर हाथ रखने को कहा जहाँ जया बैठी हुई थी…तौलिये में. अमित ने उसे कहा तुम भी नंगी हो जाओ और इसके लेस्बो की तरह पेश आओ और इधर उसने मेरी गांड में अपना लपलपाता लौड़ा एक बार में पेल दिया. मैं किसी तरह से उसके बोझ को संभाल  लिया और खुद को शांत करने लगी. मैं खुद को शांत करती उससे पहले ही उन्होंने शॉट पर शॉट लगाना शुरू कर दिया

    जिससे मुझे सँभालने का भी मौका नहीं मिला. अमित जी, ने तो आज कसम ही खा रखी थी ऐसा महसूस हो रहा था. उनके धक्के से दर्द काफी हो रहा था पर साथ ही साथ मजा भी काफी आ रहा था. इधर अमित भी काफी मस्ती में आ रहे थे. उन्होंने भी एंगल बदल बदल कर मेरी गांड में लौड़ा पेलना जारी रखा. कभी कभी उनकी स्पीड इतनी बढ़ जाती थी की मुझे लगता था जैसे आज वो मेरी गांड फाड़ ही डालेंगे. मैं जोर जोर से आअहाआअह आआआआआआआअह ऊऊऊओह्ह्ह्ह ऊऊऊऊऊऊओम्म्म्म कर रही थी. खुद अमित के मुंह से भी कुछ

    ऐसी ही आवाजें आ रही थी. पूरा रूम चुदाई की आवाज से गूँज रहा था. पुच पुच और थप ठप की आवाज हर ओर सुनाई दे रही थी. अमित कुछ ज्यादा ही जोश में आ गया था और उसने मेरी गांड पर जोर जोर से थप्पड़ मारना शुरू कर दिया जिसे मैंने मस्ती के साथ स्वीकार किआ और मुझे अच्छा लग रहा है को मैंने अपनी गांड से जोर लगाकर उसे जताया.  थोड़ी देर की बम्पर चुदाई के बाद अमित निढाल होकर मुझ

    पर गिर पड़े और इस तरह हमारी इस भयंकर चुदाई का अंत हुआ. अमित के चेहरे से ख़ुशी को महसूस किआ जा सकता था. अमित के चेहरे पर संतुष्टि के भाव थे. जया भी अपने पति को देखकर काफी खुश थी हालांकि उसने कुछ किया नहीं लेकिन फिर भी हम दोनों के लिए खुश थी.  हम लोग उठे और कपडे बदल कर रात के खाने का आर्डर दिया. सभी ने साथ में ही खाना खाया और उसके बाद रात में ही थोडा शहर देखने निकल

    पड़े. घूम फिर कर जब वापस आये तो एक बार फिर चुदाई का कार्यक्रम शुरू हुआ और उसके बाद हम सभी थक कर सो गए. इस तरह हमारी यात्रा का चौथा दिन पूरा हुआ. 

    दो अनुभवी जोड़ों के साथ दस दिन की थाईलैंड की यात्रा. (तीसरा भाग)

    तीसरा दिन

    तीन दिन हो गए थे इस देश में आये लेकिन हमने कुछ ऐसा नहीं किआ था जिससे मन को शांति मिले और आत्मा को सकून मिले. इंडिया से निकलते वक्त किसी ने कहा था यहाँ बुद्ध के मंदिर में जाकर दर्शन करना बहुत अच्छा महसूस होगा. आज के दिन हम सभी जल्दी उठे और सभी मिले तो सहमती से ये निर्णय हुआ के आज हम लोकल मार्किट घूमेंगे और बुद्ध की प्रतिमा के दर्शन करेंगे. 

    इन लोगों को सहमती को बनाने वाली भी मैं ही थी…मैंने ही दोनों आदमियों के दिमाग में ये बात डाल दी थी जिसे उन दोनों ने ख़ुशी से स्वीकार भी कर लिया था. मंदिर जा रहे थे इसलिए सभी ने अपना नाश्ता स्किप कर दिया और ये निश्चित किया दर्शन के बाद बाहर ही कहीं किसी होटल में खाना खा लेंगे. मंदिर जाना था इसलिए सभी जल्दी तैयार हो कर जल्दी ही निकल पड़े. 

    मंदिर पहुँच कर हम लोग सीधा बुद्ध की प्रतिमा के दर्शन को पहुंचे और जल्दी पहुँचने की वजह से ज्यादा भीड़ भी नहीं मिली हमें और बहुत अच्छे से और बढ़िया से बुद्ध भगवान् के दर्शन हो गए. सुबह सुबह कोई जल्दी उठता नहीं है और सभी जल्दी आते नहीं हैं इसलिए भीड़ कम थी वहां मंदिर में. बारह बजे के बाद मंदिर बंद हो जाता है इसलिए जल्दी जाना ही बेहतर होता है.

    दर्शन के बाद हमने पहले बुद्ध की प्रतिमा के चक्कर लगाए उसके बाद हमने मंदिर के चक्कर लगाए. ऐसा करना बहुत ही शुभ माना जाता है सभी के लिए और इसका मुझे पता था इसलिए मैंने खुद तो चक्कर लगाए ही साथ में उन दोनों कपल को भी अपने साथ लेकर पूरा चक्कर लगवा दिया जिससे मेरे भले के साथ साथ उनका भी भला हो जाए. 

    चक्कर लगाने से पहले हम लोग थोड़ी देर मंदिर के प्रांगन में भी बैठे थे. मंदिर में जाकर मन काफी शांत हो गया था. मंदिर के प्रांगन में लोगों को बैठे देख मैं भी वहां कुछ देर बैठ गई और शांति से प्रतिमा को निहारती रही. थोड़ी देर बाद जब मैं वहां से उठी तो मन एक दम प्रसन्न और हल्का हो गया था. अब सब कुछ अच्छा लग रहा था.

    मंदिर में ऐसा होता ही है, कितनी भी परेशानियाँ और तकलीफ आये आप वहां जाकर एक बार बैठ जाए भगवान् के पास तब देखिये क्या फर्क आता है आप में..मैंने भगवान् से कुछ चीजों के लिए प्रार्थना की, जिसमें प्रमुख था दुनिया में शांति, लोगों में भाई चारा और प्यार और अंत में मैंने कहा प्रभु आप हमेशा मेरे साथ रहना कभी नहीं छोड़ना मुझे.

    ऐसा इसलिए किआ क्यूंकि मुझे पता था मैंने अगर तिजोरी मांग ली तो सिर्फ तिजोरी ही मिलेगी…लेकिन अगर मैंने सेठ मांग लिया तो सेठ के साथ साथ तिजोरी भी मिल ही जाएगी. वैसे भी भगवान् जब स्वयं साथ होंगे तो जरूरतें उन्हें खुद पता होंगी कैसे पूरी करनी है..फिर मेरी सारी समस्या उनके माथे पर हो जाएगी जो वो अपने आप निपटा दिया करेंगे. 

    मंदिर से बाहर निकल कर हम लोग सीधा लोकल मार्किट में आ गए. जहाँ पर शुरू हुई हमारी खरीददारी. इंडिया से निकलते वक्त लोगों की कुछ फरमाइश आई थी तो सोचा चलो यहाँ से कुछ कुछ चीजें उनके लिए खरीद लेते हैं. हम लोग काफी दूकान घूमे और कुछ कुछ जगह से हमने अपने लिए कुछ कुछ सामान लिया. लगभग सारी दुकानें देख डाली हम सब ने. 

    वहां पर खरीदने को काफी चीजें हैं और काफी मन को ललचाने वाली चीजें भी बहुतायत में हैं. जितना समझ में आया मैंने वो खरीद लिया और बाकी दोनों महिलाओं ने भी जो उन्हें लगा खरीदना चाहिए उन्होंने ले लिया. देखते देखते दोपहर का वक्त हो चूका था और अब तक सभी के पेट में भूख के मारे चूहे कूदने लगे थे तो सभी खाने के लिए शॉप ढूँढने लगे.

    मंदिर के वजह से सुबह का नाश्ता स्किप हो गया था. इसलिए अब सभी भूख से व्याकुल हो रहे थे. एक अच्छी जगह देखकर हम बैठ गए और वहां हमने खाने का आर्डर दिया. खाने में वहां के लोकल पकवान को भी हमने चखा और उसका लुत्फ़ उठाया सभी ने. खाना खाने के दौरान सभी ने कहा थोडा और घूम कर होटल को चलते हैं. 

    लंच के बाद हम सब ने थोड़ी और खरीद दारी की और तब तक शाम भी होने को आ गई तो हम सब वापस अपने होटल साथ में लौट आये. होटल आकर सभी सुबह जल्दी उठने की वजह से सुस्ताने लगे और कुछ तो थोड़ी देर की झपकी भी लेने लगे. मैंने आकर एक शावर लिया और आराम से थोड़ी देर का आराम लिया जिससे बॉडी को थोडा आराम मिल जाए. 

    शाम के वक्त हम सभी लोग डिनर से कुछ देर पहले इकठ्ठा हुए और आगे के प्लान के बारे में सोचने लगे. बातों बातों में मर्दों ने कहा क्यूँ न आज तुम लोग होटल के सर्विस बॉय को सेक्सी अंदाज में परेशान करो और उसको हम लोग छुप कर देखेंगे. ये सुनकर सभी महिलाएं हंसी और परुषों को हाँ कर दिया और अपनी योजना बना ली की किस तरह आगे काम करना है.

    हम सारे लोग होटल में वापस लौट आये. जहाँ पर सारे मर्द छुप गए और ऐसे छुपे जहाँ से वह हमें देख सके. छुपने से पहले उन्होंने हमारी मदद करने के इरादे से सर्विस बॉय को कॉल कर रूम में बुला दिया. अब रूम में मैं, जया और अनु ही रह गए थे जिन्हें कोई भी देख सकता था और बाकि दो रूम छुपे बैठे थे किसी कोने में ताकि नजारा देख कर मजा ले सकें. 

    मैंने और अनु ने अपने कपडे उतार दिए और पूरे नंगे होकर बेड में कम्बल लेकर सोने का नाटक करने लगे. जया सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी और सर्विस बॉय के आने का बेसब्री से इन्तेजार करने लगी. जैसे ही घंटी बजी हम सभी ने एक दुसरे को आँखों ही आखों में इशारे किये और जया को आगे जाने को कहा. जया ने जाकर दरवाजा खोला और सर्विस बॉय को अन्दर बुलाया.

    जया को ऐसे देखकर सर्विस बॉय हैरान हो गया. उसने इस तरह की कुछ घटना के घटने को सोचा तक नहीं था. और वह जो इस वक्त देख रहा था उसने ऐसा कभी देखा भी नहीं था. जया के इशारा करने पर वह रूम में आया और जया के ठीक पीछे पीछे चलने लगा और एक कमाल की बात उसकी नजर जया के गांड और उसके बदन से एक पल को भी नहीं हटी.

    जिसे हम सभी देख पा रहे थे. जया ने भी कोई मौका नहीं छोड़ा अपने अंग प्रदर्शन का. हम ने देखा उसकी जिप वाली जगह में कसाव आ रहा है और जो की लाजिमी आना ही है अगर कोई किसी महिला को इस स्थिति में देख ले. जया ने आगे उसे कहा..जरा बेड के पास भी कुछ परेशानी है देख लो..जो की हमने पहले से ही प्लान कर रखा था.

    उसके पास आते ही हमने अपने कम्बल को ऐसे साइड किया जैसे हम काफी गहरी नींद में हैं और हमारे कम्बल ऐसे साइड हुए जिससे हमारी पूरी नंगी और गोरी गांड एक दम से उसके सामने आ गई. उसने जैसे ही हमें इस हाल में देखा उसके तो लौदा पेंट फाड़ कर आने को बेताब हो गया. उसकी हालत ख़राब हुए जा रही थी. ये देख देख कर हम दोनों की चूत से पानी निकलने लगा था..

    लेकिन हम लोगों ने कुछ ऐसा किआ नहीं..और जया ने भी इस बात को भांप लिया था. जया को लगा अब इसे और परेशान नहीं करना चाहिए इसे जाने देना चाहिए …इसलिए उसने उसे जाने की इजाजत दे दी. बेचारा बाहर निकलता निकलता भी हम सभी को देखता हुआ जा रहा था. बाहर जाते जाते भी वो अपनी पेंट को ठीक करता हुआ जा रहा था. 

    उसके जाते ही हम दोनों उठे और सभी को बुलाया और उस घटना को साथ में हंस हंस कर एक दुसरे को बता रहे थे. सभी को मजा आया और सभी ये कह रहे थे आज से पहले जिंदगी में कभी ऐसा मजा नहीं आया है. इस दिन को ये सभी कभी नहीं भूलेंगे और ये उनकी एक यादगार और सबसे मजेदार ट्रिप में से एक होगी. 

    इसके बाद हम सभी नंगे ही बालकनी में आ गए और ड्रिंक्स लेने लगे. थोड़ी देर बातचीत और ड्रिंक्स लेने के बाद हम सभी अपने अपने सूट्स में जाकर नींद की आगोश में समां गए. आज किसी ने कुछ करने का सोचा नहीं था..इसलिए आज कुछ मस्ती नहीं हुई थी.  इस तरह तीसरा दिन समाप्त हुआ. 

    दो अनुभवी जोड़ों के साथ दस दिन की थाईलैंड की यात्रा. (तीसरा भाग)

    तीसरा दिन

    तीन दिन हो गए थे इस देश में आये लेकिन हमने कुछ ऐसा नहीं किआ था जिससे मन को शांति मिले और आत्मा को सकून मिले. इंडिया से निकलते वक्त किसी ने कहा था यहाँ बुद्ध के मंदिर में जाकर दर्शन करना बहुत अच्छा महसूस होगा. आज के दिन हम सभी जल्दी उठे और सभी मिले तो सहमती से ये निर्णय हुआ के आज हम लोकल मार्किट घूमेंगे और बुद्ध की प्रतिमा के दर्शन करेंगे. 

    इन लोगों को सहमती को बनाने वाली भी मैं ही थी…मैंने ही दोनों आदमियों के दिमाग में ये बात डाल दी थी जिसे उन दोनों ने ख़ुशी से स्वीकार भी कर लिया था. मंदिर जा रहे थे इसलिए सभी ने अपना नाश्ता स्किप कर दिया और ये निश्चित किया दर्शन के बाद बाहर ही कहीं किसी होटल में खाना खा लेंगे. मंदिर जाना था इसलिए सभी जल्दी तैयार हो कर जल्दी ही निकल पड़े. 

    मंदिर पहुँच कर हम लोग सीधा बुद्ध की प्रतिमा के दर्शन को पहुंचे और जल्दी पहुँचने की वजह से ज्यादा भीड़ भी नहीं मिली हमें और बहुत अच्छे से और बढ़िया से बुद्ध भगवान् के दर्शन हो गए. सुबह सुबह कोई जल्दी उठता नहीं है और सभी जल्दी आते नहीं हैं इसलिए भीड़ कम थी वहां मंदिर में. बारह बजे के बाद मंदिर बंद हो जाता है इसलिए जल्दी जाना ही बेहतर होता है.

    दर्शन के बाद हमने पहले बुद्ध की प्रतिमा के चक्कर लगाए उसके बाद हमने मंदिर के चक्कर लगाए. ऐसा करना बहुत ही शुभ माना जाता है सभी के लिए और इसका मुझे पता था इसलिए मैंने खुद तो चक्कर लगाए ही साथ में उन दोनों कपल को भी अपने साथ लेकर पूरा चक्कर लगवा दिया जिससे मेरे भले के साथ साथ उनका भी भला हो जाए. 

    चक्कर लगाने से पहले हम लोग थोड़ी देर मंदिर के प्रांगन में भी बैठे थे. मंदिर में जाकर मन काफी शांत हो गया था. मंदिर के प्रांगन में लोगों को बैठे देख मैं भी वहां कुछ देर बैठ गई और शांति से प्रतिमा को निहारती रही. थोड़ी देर बाद जब मैं वहां से उठी तो मन एक दम प्रसन्न और हल्का हो गया था. अब सब कुछ अच्छा लग रहा था.

    मंदिर में ऐसा होता ही है, कितनी भी परेशानियाँ और तकलीफ आये आप वहां जाकर एक बार बैठ जाए भगवान् के पास तब देखिये क्या फर्क आता है आप में..मैंने भगवान् से कुछ चीजों के लिए प्रार्थना की, जिसमें प्रमुख था दुनिया में शांति, लोगों में भाई चारा और प्यार और अंत में मैंने कहा प्रभु आप हमेशा मेरे साथ रहना कभी नहीं छोड़ना मुझे.

    ऐसा इसलिए किआ क्यूंकि मुझे पता था मैंने अगर तिजोरी मांग ली तो सिर्फ तिजोरी ही मिलेगी…लेकिन अगर मैंने सेठ मांग लिया तो सेठ के साथ साथ तिजोरी भी मिल ही जाएगी. वैसे भी भगवान् जब स्वयं साथ होंगे तो जरूरतें उन्हें खुद पता होंगी कैसे पूरी करनी है..फिर मेरी सारी समस्या उनके माथे पर हो जाएगी जो वो अपने आप निपटा दिया करेंगे. 

    मंदिर से बाहर निकल कर हम लोग सीधा लोकल मार्किट में आ गए. जहाँ पर शुरू हुई हमारी खरीददारी. इंडिया से निकलते वक्त लोगों की कुछ फरमाइश आई थी तो सोचा चलो यहाँ से कुछ कुछ चीजें उनके लिए खरीद लेते हैं. हम लोग काफी दूकान घूमे और कुछ कुछ जगह से हमने अपने लिए कुछ कुछ सामान लिया. लगभग सारी दुकानें देख डाली हम सब ने. 

    वहां पर खरीदने को काफी चीजें हैं और काफी मन को ललचाने वाली चीजें भी बहुतायत में हैं. जितना समझ में आया मैंने वो खरीद लिया और बाकी दोनों महिलाओं ने भी जो उन्हें लगा खरीदना चाहिए उन्होंने ले लिया. देखते देखते दोपहर का वक्त हो चूका था और अब तक सभी के पेट में भूख के मारे चूहे कूदने लगे थे तो सभी खाने के लिए शॉप ढूँढने लगे.

    मंदिर के वजह से सुबह का नाश्ता स्किप हो गया था. इसलिए अब सभी भूख से व्याकुल हो रहे थे. एक अच्छी जगह देखकर हम बैठ गए और वहां हमने खाने का आर्डर दिया. खाने में वहां के लोकल पकवान को भी हमने चखा और उसका लुत्फ़ उठाया सभी ने. खाना खाने के दौरान सभी ने कहा थोडा और घूम कर होटल को चलते हैं. 

    लंच के बाद हम सब ने थोड़ी और खरीद दारी की और तब तक शाम भी होने को आ गई तो हम सब वापस अपने होटल साथ में लौट आये. होटल आकर सभी सुबह जल्दी उठने की वजह से सुस्ताने लगे और कुछ तो थोड़ी देर की झपकी भी लेने लगे. मैंने आकर एक शावर लिया और आराम से थोड़ी देर का आराम लिया जिससे बॉडी को थोडा आराम मिल जाए. 

    शाम के वक्त हम सभी लोग डिनर से कुछ देर पहले इकठ्ठा हुए और आगे के प्लान के बारे में सोचने लगे. बातों बातों में मर्दों ने कहा क्यूँ न आज तुम लोग होटल के सर्विस बॉय को सेक्सी अंदाज में परेशान करो और उसको हम लोग छुप कर देखेंगे. ये सुनकर सभी महिलाएं हंसी और परुषों को हाँ कर दिया और अपनी योजना बना ली की किस तरह आगे काम करना है.

    हम सारे लोग होटल में वापस लौट आये. जहाँ पर सारे मर्द छुप गए और ऐसे छुपे जहाँ से वह हमें देख सके. छुपने से पहले उन्होंने हमारी मदद करने के इरादे से सर्विस बॉय को कॉल कर रूम में बुला दिया. अब रूम में मैं, जया और अनु ही रह गए थे जिन्हें कोई भी देख सकता था और बाकि दो रूम छुपे बैठे थे किसी कोने में ताकि नजारा देख कर मजा ले सकें. 

    मैंने और अनु ने अपने कपडे उतार दिए और पूरे नंगे होकर बेड में कम्बल लेकर सोने का नाटक करने लगे. जया सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी और सर्विस बॉय के आने का बेसब्री से इन्तेजार करने लगी. जैसे ही घंटी बजी हम सभी ने एक दुसरे को आँखों ही आखों में इशारे किये और जया को आगे जाने को कहा. जया ने जाकर दरवाजा खोला और सर्विस बॉय को अन्दर बुलाया.

    जया को ऐसे देखकर सर्विस बॉय हैरान हो गया. उसने इस तरह की कुछ घटना के घटने को सोचा तक नहीं था. और वह जो इस वक्त देख रहा था उसने ऐसा कभी देखा भी नहीं था. जया के इशारा करने पर वह रूम में आया और जया के ठीक पीछे पीछे चलने लगा और एक कमाल की बात उसकी नजर जया के गांड और उसके बदन से एक पल को भी नहीं हटी.

    जिसे हम सभी देख पा रहे थे. जया ने भी कोई मौका नहीं छोड़ा अपने अंग प्रदर्शन का. हम ने देखा उसकी जिप वाली जगह में कसाव आ रहा है और जो की लाजिमी आना ही है अगर कोई किसी महिला को इस स्थिति में देख ले. जया ने आगे उसे कहा..जरा बेड के पास भी कुछ परेशानी है देख लो..जो की हमने पहले से ही प्लान कर रखा था.

    उसके पास आते ही हमने अपने कम्बल को ऐसे साइड किया जैसे हम काफी गहरी नींद में हैं और हमारे कम्बल ऐसे साइड हुए जिससे हमारी पूरी नंगी और गोरी गांड एक दम से उसके सामने आ गई. उसने जैसे ही हमें इस हाल में देखा उसके तो लौदा पेंट फाड़ कर आने को बेताब हो गया. उसकी हालत ख़राब हुए जा रही थी. ये देख देख कर हम दोनों की चूत से पानी निकलने लगा था..

    लेकिन हम लोगों ने कुछ ऐसा किआ नहीं..और जया ने भी इस बात को भांप लिया था. जया को लगा अब इसे और परेशान नहीं करना चाहिए इसे जाने देना चाहिए …इसलिए उसने उसे जाने की इजाजत दे दी. बेचारा बाहर निकलता निकलता भी हम सभी को देखता हुआ जा रहा था. बाहर जाते जाते भी वो अपनी पेंट को ठीक करता हुआ जा रहा था. 

    उसके जाते ही हम दोनों उठे और सभी को बुलाया और उस घटना को साथ में हंस हंस कर एक दुसरे को बता रहे थे. सभी को मजा आया और सभी ये कह रहे थे आज से पहले जिंदगी में कभी ऐसा मजा नहीं आया है. इस दिन को ये सभी कभी नहीं भूलेंगे और ये उनकी एक यादगार और सबसे मजेदार ट्रिप में से एक होगी. 

    इसके बाद हम सभी नंगे ही बालकनी में आ गए और ड्रिंक्स लेने लगे. थोड़ी देर बातचीत और ड्रिंक्स लेने के बाद हम सभी अपने अपने सूट्स में जाकर नींद की आगोश में समां गए. आज किसी ने कुछ करने का सोचा नहीं था..इसलिए आज कुछ मस्ती नहीं हुई थी.  इस तरह तीसरा दिन समाप्त हुआ. 

    दो अनुभवी जोड़ों के साथ दस दिन की थाईलैंड की यात्रा. (दूसरा भाग)

    दूसरा दिन योजना के अनुसार दुसरे दिन हम एक सुनसान वोंग अमात बीच पर सूरज की रौशनी में थोडा रिलैक्स करने के लिए गए. हम तीनो औरतों ने एक बहुत ही छोटी बिकिनी पहन रखी थी जो छुपाती कम और दिखाती ज्यादा थी, में खुद को सभी बीच पर आने जाने वालों के सामने एक्सपोज कर रहे थे. लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करना किसको अच्छा नहीं लगता है और मर्द तो औरत को जब भी देखेगा खा जाने वाली नजरों से ही देखेगा खासकर जब औरत कम कपडे पहने हुए हो. बीच पर एक लम्बे वाक् के बाद हम लोग ने बीच पर थोडा धुप सेंकने के इरादे से वहीँ लेट गए. लेटने के कुछ ही मिनट बाद एक मसाज करने वाला आकर हमसे बीच मसाज लेने की बात करने लगा..जिसे हमने प्यार से मना कर दिया और आपस में सोच विचार कर ये निर्णय लिया हम दुसरे दिन किसी और बीच पर मसाज लेंगे. पांच छ घंटे यूँही बीच पर धुप सेंकते और लोगों को ललचाते हुए और आँखें सेंक कर हम सभी वापस अपने होटल पर आ गए. घर आकर सबसे पहले मैंने शावर लिया क्यूंकि बीच पर रेत पर लेटने से बदन में चिपचिपाहट कुछ ज्यादा ही हो रही थी और थोड़ी देर जाकर सो गई. रात में जब सभी डिनर को इकठ्ठा हुए तब ये तय हुआ की हम आज रात को पट्टाया के एडल्ट क्लब जाएंगे और वहां मस्ती करेंगे और पट्टाया की नाईट लाइफ को एन्जॉय करेंगे. जानकारी के अनुसार नाईट क्लब का शो रात के आठ बजे से शुरू होकर सुबह के दो बजे तक चलता है. हम क्लब में रीवीलिंग ड्रेस पहन कर पहुँच गए. इंडिया में हम ऐसे ड्रेस तो पहन नहीं सकते इसलिए जैसे ही हमें मौका मिला यहाँ तो हमने इसे अपने हाथ से जाने नहीं दिया. हमें लोगों की घूरती हुई नजर जो हमारे ढंके हुए हिस्से को खोजती हैं काफी पसंद आती हैं इसलिए हम ऐसे कपडे खासकर ऐसे जगह पहनना पसंद करते हैं. जैसे ही हम सब क्लब पहुंचे तो देखा हम सभी हैरान हो गए, क्लब में सभी नंगे जोड़े बैठे हुए थे और एक दुसरे के साथ एन्जॉय कर रहे थे. खैर हम लोग अन्दर गए और थोडा सेटल होने की कोशिश करने लगे. अन्दर जाकर सेटल होने के बाद किसी ने शराब तो किसी ने वोडका लिया और बेसब्री से शो के शुरू होने का इन्तेजार करने लगे. फाइनली, जब शो शुरू हुआ तब सबसे पहले वहां महिला पोल डांसर आई. महिला पोल डांसर एक सेक्सी ऑउटफिट में आई और पोल के साथ डांस करने लगी जिससे वहां क्लब में मौजूद काफी लोगों के पोल खड़े हो गए. पोल डांसर ने पता नहीं क्या सोच कर मेरे पास आई और मुझे टीज करना शुरू कर दिया. तरह तरह के पोज दिखा कर मुझे कुछ जताना चाह रही थी शायद. जो मैंने बाद में समझा, “उसके अंदाज का मतलब था हमें वहां कपडे पहन कर नहीं नंगे होकर उसके डांस का लुत्फ़ लेना था”. जब मुझे ये बात समझ आई तब मैंने उसकी तरफ बिना कुछ कहे देखा और मुस्कुरा कर रह गई. उसने मेरे मुस्कराहट का जवाब एक सेक्सी मुस्कराहट के साथ दिया. थोड़ी देर बाद पोल डांसरों ने जिसके लिए सभी मर्द बेसब्री से इन्तेजार कर रहे थे अपने हाथ में अपना पोल लेकर अपना स्ट्रिपटीज वाला शो शुरू कर दिया और इधर सारे मर्द लोग चिल्लाने और शोर मचाने लगे. देखते ही देखते माहौल बहुत गर्म हो गया और मैं देख सकती थी काफी मर्दों के हाथ में उनके लौड़े थे और सभी लौड़े पर उन लड़कियों को बिठाने के लिए बुला रहे थे. ये सब देखकर सभी डांसर मस्ती में आ गए और कुछ ही पल लगे होंगे सभी मॉडल ने अपने पूरे कपडे उतार दिए और नंगे होकर नाचने लगे. सारे मर्द ख़ुशी से पागल होने लगे और मस्ती में लड़कियों के पास तक जाने की कोशिश करने लगे और ऐसा तब तक हुआ जब तक लड़कियों का शो ख़तम नहीं हुआ. शो ख़तम होने के बाद ही ये सारे लौड़े वाले मर्द कहीं शांत हुए. थोडा ब्रेक था अगले शो के शुरू होने में तो सभी थोडा पीने को कुछ ले आये और सामान्य होने की कोशिश करने लगे. लड़कियों ने तो उनका असामान्य करने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी. मर्दों की मस्ती के बाद अब औरतों की मस्ती की बारी थी और इसलिए सभी औरतें शांत होकर शांति से अगले शो का इन्तेजार कर रही थी जो के सिर्फ उन्हीं के लिए था. अगले शो में लड़के अपने बदन पर सिर्फ तौलिया लपेट कर आने वाले थे और महिलाओं के साथ मस्ती करने वाले थे. हमारे इन्तेजार की घडी समाप्त हुई और फिर सामने से कुछ देर बाद मर्दों का ग्रुप अपने बदन पर सिर्फ टॉवल लपेट कर आया और हमारे सामने नाचने लगा. सभी लड़के एक दम बढ़िया कद काठी के थे. सभी एक दम फिट और कसरत करने वाले लग रहे थे. शरीर का एक एक हिस्सा सही जगह पर फिट किया हुआ प्रतीत हो रहा था. उनको देखकर मेरे तन बदन में झुरझुरी सी दौड़ रही थी और मैं उन सभी के सामने जाकर उनसे कुछ भी करवाने को तैयार होने लगी थी…इतनी मस्ती चढ़ गई थी मुझे….फिर एक दम से पता नहीं क्या हुआ और मैं संभल गई. उन लोगों का अंदाज इतना रोमांटिक था की क्लब में आई हुई सारी महिलाएं उनकी मजबूत और मांसल बाहों में समाने को बेचैन हो रही थी. सभी टॉवल लपेट कर नाच रहे थे. नाचते नाचते कभी कभी वो सारे टॉवल नीचे भी गिरा देते थे जिसे देखकर सभी महिलाएं जोर हूटिंग करने लगती थी. माहौल एक दम गर्मजोशी से आगे बढ़ रहा था और खासकर महिलाएं इस को कुछ ज्यादा ही एन्जॉय कर रही थी. तभी उनमें से एक मेरे करीब आकर अपना टॉवल हटा कर मेरे सामने खड़ा हो गया. उसका एक दम कड़क लम्बा, मोटा और मजबूत लौड़ा सीधा मेरी आँखों के सामने आ गया..उसका लौड़ा इतना लम्बा था के वो मेरी नाक तक को बड़े आराम से टच कर पा रहा था… ऐसा होते देख सभी हंसने लगे. और मैं भौंचक्की होकर उसको देखे जा रही थी क्यूंकि कुछ ऐसा होगा और इतनी जल्दी होगा इसका मुझे कुछ अंदाजा नहीं था. वह सामने नाच रहा था और मुझे अपने लौड़े पर हाथ रखने और उसको छूने के लिए इंसिस्ट कर रहा था और इधर सभी लोग चिल्लाने लगे, “हाथ में ले लो लौड़ा, सुन्दर हसीना ऐसा मौका फिर कभी नहीं मिलेगा”. लोगों के उकसाने पर मैंने जैसे ही उसके कड़क लौड़े को अपने हाथ में लेने के लिए हाथ बढाया तभी अनु ने अपने कपडे उतार कर सीधा उसके लौड़े को अपने हाथ में लेकर उसे दबाने लगी. मैंने अनु को इतना बोल्ड कभी नहीं देखा और उसके इस बोल्ड हरकत को तो सपने में भी उम्मीद नहीं किआ था. अनु ने उसके लौड़े को दबाते हुए उसे निमंत्रण दे दिया था चुदाई का जिसे उस लड़के ने स्वीकार किआ और उसे अपना लौड़ा चुदाई से पहले चूसने को कहा. अनु ने भी उसे निराश नहीं किआ और गप से उसका लौड़ा अपने मुंह में ले लिया और उसे लेमन चूस की तरह चूसने लगी. अनु के मुंह से सिर्र्रर्र्प सिर्र्र्रर्र्र्प की आवाज आ रही थी और मैं और जया हैरानी से उसे देखे जा रहे थे. जया ने भी ज्यादा देर तक देखा नहीं उसने भी एक जवान विदेशी गोरा ढूंढ लिया और एक कोने में उसे लेकर घुस गई और मैं तब तक अकेली खड़ी सोचे जा रही थी कैसे शुरू करूँ कैसे इन दोनों औरतों की तरह मजे लूँ… थोड़ी देर उन दोनों को देखने के बाद मैंने भी हिम्मत बाँध कर अनु को ज्वाइन कर लिया और उसके साथ उस लड़के को मस्ती देने और लेने लगी. क्लब में सभी लोग किसी न किसी के साथ लगे हुए थे. सारे मर्द जो बच गए थे, मूक दर्शक बने कार्यक्रम को देख रहे थे. सारी औरतें जो क्लब में आई थी सभी नंगी होकर डांसर के साथ मस्ती करने लगी, कुछ ड्रिंक करने लगी और कुछ डांसर को ब्लोजॉब देने लगी. सभी मस्ती में पूरे सराबोर होकर दुनिया की परवाह किये बगैर मस्ती के आलम में झूम रहे थे और एक दुसरे की कंपनी को एन्जॉय कर रहे थे. शो ख़त्म होने के बाद हम सब पट्टाया के एडल्ट क्लब को एन्जॉय करके अपने रूम पर वापस लौट आये. वापस आकर मैंने अपने रूम के बजाय अमित और जाया के रूम में जाना ठीक समझा क्यूंकि एडल्ट क्लब की मस्ती के बाद मेरी चूत गीली हो चुकी और उसमें एक कड़क लौड़े की जरुरत मुझे महसूस होने लगी थी. रूम के अन्दर जाते हैं अमित ने सीधा मुझे पकड़ा और मुझे बलात्कार करने वाले अंदाज़ में सोफे पर ढकेल दिया. धकेलने के बाद सीधा अपना लौड़ा निकाला और मेरे पेंटी को हल्का सा साइड करके अपना लौड़ा मेरी चूत में पेल दिया. जया, भी हम दोनों को सिर्फ दर्शक बन कर देख रही थी और अपनी चूत को सहलाने लगी. अमित ने बिना कोई रहम किये हिये मेरी चूत में धडाधड लौड़े का प्रवेश जारी रखा जिसे मैंने भी मस्ती से अपनी चूत में गटक रही थी. शायद अमित को मेरी स्थिति समझ आ गई थी इसलिए उन्होंने इन्तेजार में समय व्यस्त नहीं किआ और सीधा काम पर लग गए. चूत गीली होने के कारण अमित का लौड़ा आसानी से अन्दर हो गया और अन्दर बाहर होने लगा. मैं आआआआअह आआआआआआह उम्म्म्म कर रही थी. पहले अमित मेरे ऊपर थे बाद में सोफे पर सीधा बैठते हुए उन्होंने मुझे अपने ऊपर आने को कहा तो मैं उनके लौड़े पर जाकर बैठ गई. अमित ने नीचे जो ताबड़तोड़ झटके लगाए उसका कोई शब्दों में बयान नहीं है. अमित ने मेरी गांड को थप्पड़ मार मार का लाल कर दिया था… और मेरे चूचे बुरी तरह से काटते हुए चूस रहे थे. मैं भी इस चुदाई का पूरी तरह लुत्फ़ लेते हुए अमित का साथ दे रही थी. चोदते वक्त अमित के मुंह से गन्दी और भद्दी गालियाँ निकल रही थी. अमित कह रहे थे, तू बड़ी चुदक्कड है छिनाल आज तेरी चूत का भोसडा बना दूंगा और मुझे चोदे जा रहे थे. थोड़ी देर बाद अमित अपनी मंजिल पा गए और मुझे भी अपनी मंजिल मिल गई. हम दोनों के चेहरे पर संतुष्टि के भाव उमड़ आये. थोड़ी यूँहीं लेटने के बाद अमित मुझे किस कर उठ गए और जया को किस करते हुए थैंक यू कहा. जया को मैंने भी थैंक यू कहा क्यूंकि उसने हमें डिस्टर्ब नहीं किआ और चुपचाप हम दोनों को देखती रही.   जया, ने मुस्कुरा कर कहा मैं समर को चोद कर तुमसे बदला लुंगी और हम दोनों इस बात पर मुस्कुराते हुए कपडे बदलने लगे. कपडे बदलकर, थकावट कुछ ज्यादा ही हावी होने लगी. एक तो पूरा दिन बीच पर फिर रात में क्लब और उस पर ये पलंगतोड़ चुदाई इंसान को थकावट तो होगी ही इसलिए मैंने सोने का निर्णय लिया और उन्हीं के कमरे में उनके साथ ऐसे ही सो गई.

    दो अनुभवी जोड़ों के साथ दस दिन की थाईलैंड की यात्रा. (पहला भाग)

    मैं अरचु आज आपको अपने थाईलैंड के दौरे जिस पर मैं अपने दो अनुभवी और पहचान के जोड़ों के साथ दस दिन के लिए गई थी की कहानी सुनाने जा रही हूँ. कहानी को शुरू करने से पहले इसके किरदारों के बारे में थोड़ी जानकारी दे देती हूँ ताकि कहानी को पढने वालों को किरदारों को समझने में और उनके रोल को कहानी में समझने में आसानी हो जाए.

    रवि जी और अनु एक आकर्षक कपल हैं. रवि जी का व्यक्तित्व काफी मनमोहक है और उन्हें काफी महारत हासिल है चुदाई के खेल में. उनका लौड़ा भी काफी कड़क और मजबूत है. अनु रवि जी की घरवाली, एक सुडौल शरीर और आकर्षक महिला हैं. उनके चूचे भी एक दम सुडौल और बड़े दीखते हैं. उनकी गांड थोड़ी बाहर को उभरी हुई है जो किसी भी मर्द के पेंट में टेंट बनाने को काफी है.

    अमित जी, एक मजबूत कद काठी के हट्ठे कट्ठे इंसान हैं. बिस्तर के खिलाड़ी तो हैं ही उसके अलावा उनके सेंस ऑफ़ ह्यूमर भी काफी कमाल का है. उनका हथियार भी बहुत मस्त और मजेदार है. लम्बी रेस में महारत हासिल है उन्हें. जया, के नैन नक्श काफी तीखे हैं और शरीर भी गजब का है. जया के चूचे बड़े और मोटे हैं जो उसके शरीर की शोभा बढाते हैं. जया की गांड ज्यादा बाहर नहीं है पर है काफी बढ़िया जो अक्सर मर्दों को पसंद आता है.

    दस दिन का थाईलैंड दौरा मैंने और सैम ने प्लान किआ और बाद में अपने कपल दोस्तों रवि 43, अनु 41 और अमित 40, जया 38 को भी इसमें शामिल किआ. प्लान सैम का था पर किस्मत सैम के साथ नहीं थी, अचानक ऑफिस में कुछ जरूरी काम आने की वजह से सैम को दौरा रद्द करना पड़ा. खैर, कुछ कर नहीं सकते थे जो उपरवाला तय करता है होता बिलकुल वैसा ही है.

    सभी निराश हो गए और मैं कुछ ज्यादा क्यूंकि सब कुछ प्लान करने वाला बंदा ही न जाए तो दुःख होना तो लाजिमी ही है. सैम ही सबसे ज्यादा इस दौरे पर जाने के लिए उत्सुक था और काफी खुश भी था इस दौरे को लेकर. आखिरी मौके पर जब ऐसा मसला सामने आया तब हमने इस दौरे को रद्द करने का सोच लिया और इस के लिए हम एक साथ बैठे और एक मत से फैसला लेने के लिए तैयार हो गए.

    सभी ने एक सुर में इस दौरे को रद्द करने के लिए हामी भर दी थी पर अकेले सैम ने कहा “इस दौरे को रद्द नहीं करना अरचु सबके साथ जाएगी और इस दौरे का पूरा लुत्फ़ उठाएगी”. सैम हमेशा से ही सपोर्टिव पति रहे हैं हर मामले में. सैम के द्वारा जोर डालने पर सभी कपल ने भी दौरे को रद्द न करने का फैसला किआ और मैंने भी उनके साथ अकेले जाने का निर्णय किआ.

    हालांकि, अकेले मुझे जाने का मन नहीं हो रहा था क्यूंकि दस दिन बिना परिवार के रहना थोडा मेरे लिए भी मुश्किल था पर सैम के बार बार जिद करने और समझाने पर मुझे हामी भरनी पड़ी क्यूंकि सैम ने इसके लिए एडवांस में ही टिकेट और होटल बुक करवा लिया था और अब एन मौके पर उसे कैंसिल करने से काफी नुक्सान होता था इसलिए मैं इस दौरे पर जाने के लिए तैयार हो गई. वैसे जितने भी कपल थे उन सब के साथ पहले हम लोग चुदाई के मैदान में दो दो हाथ कर चुके थे इसलिए कोई ख़ास परेशानी होने वाली थी नहीं इसलिए भी मैंने हाँ किआ.

    जाने से पहले मैंने थोडा अपना मेकओवर करने का सोचा और इसके लिए अपनी बॉडी का वैक्स करवा लिया उसके बाद मैंने कुछ वेस्टर्न कपडे, लिंगरी और कुछ रात में पहनने के लिए सेक्सी टाइप मेक्सी ले ली जो पारदर्शी थे. जाने वाले दिन हम सभी ने एअरपोर्ट पर मिलने का सोचा और बेसब्री से जाने की तारीख का इन्तेजार करने लगे. आखिर, में वो तारिख भी आ ही गई जिसका हमें बेसब्री से इन्तेजार था. सैम मुझे लेकर एअरपोर्ट छोड़ने आये. मैं सभी से गले लग कर मिली और तभी सैम ने सबसे गले मिलने के बाद सभी को कहा. “दोस्तों, दस दिन तक ये तुम्हारे पास है इसका अच्छे से ख़याल करना और इसका ध्यान रखना. ये आज से दस दिन तक तुम लोगों की रेस्पोंसिबिलिटी होगी.”

    मैं सैम को गले मिलकर सिक्यूरिटी चेकिंग के लिए एअरपोर्ट के अन्दर आ गई अपने दोस्तों के साथ. चेक इन के बाद हम सभी फ्लाइट में बैठे और फाइनली…हम सभी पट्टाया, में एक लम्बे सफ़र के बाद पहुँच गए.

    पहला दिन हम सभी ने होटल में चेक इन किआ और अपने अपने रूम में चले गए.दोनों कपल अपनी बीवियों के साथ और मैंने अकेले अपने रूम में चेक इन किआ. रूम में जाने के बाद मैंने शावर लिया और जिस तौलिये से अपना बदन पोंछा था उसी को पूरे नंगे बदन पर लपेट लिया और वैसे ही अपनी बालकनी में आ गई थोडा रिलैक्स करने के लिए. सफ़र भी काफी लम्बा था और सैम भी नहीं था इसलिए थोडा सा मैं अपने दिमाग और बदन को सकून देने के इरादे से बालकनी में आना बेहतर समझा.

    मैं अपने को थोडा शांत करने के इरादे से आई थी बालकनी में लेकिन दोनों आदमियों अमित और रवि के इरादे कुछ और ही थे और इन्होने कुछ अलग ही प्लान कर रखा था जिसके बारे में मुझे कुछ भी पता नहीं था. ये लोग आये और मुझे बाथरूम सेक्स के बारे में बताने लगे जो इन्होने थोड़ी देर पहले अपनी अपनी बीवियों के साथ किआ था. इन्होने अपने आने वाले कार्यक्रम के बारे में भी बता दिया ये लोग तीन दिन पट्टाया और तीन दिन बैंकाक रुकने वाले हैं.

    उन्होंने कहा,“ कुछ समय हमने तुम्हारे साथ बिताने के लिए सोचा क्यूंकि तुम अकेली हो और बोर हो रही होगी इसलिए हम दोनों ही तुम्हारे पास चले आये और तुम्हें सिर्फ टॉवेल में वो बालकनी में ऐसे खड़े देख कर थोडा हैरान हो गए”. थोड़ी देर ऐसे ही यहाँ वहां की बातें होती रही उसके बाद हम सभी ने साथ में चाय पिया और अपने मस्ती के कार्यक्रम को डिस्कस किआ किस तरह हम इन दस दिनों को मस्ती के लिए इस्तेमाल करने वाले हैं. कुछ घंटे इसी तरह बीते उसके बाद ये दोनों अपने रूम में वापस चले गए और मैं भी सोने के लिए चली गई.

    शाम को हम सभी शाम के स्नैक्स के वक्त इकठ्ठा हुए जिसमें वाइन और शराब भी शामिल था. दोनों आदमी रिसेप्शनिस्ट के पास गए और पट्टाया के बीच और एडल्ट क्लब्स की जानकारी लेने लगे. इसके बाद सभी ने साथ में डिनर किआ और अपने अपने रूम में चले गए. मैं भी अपने रूम में जाकर अपने कपडे बदलने लगी और मैं हमेशा ही ऐसा करती हूँ सोने के वक्त थोड़े आरामदायक कपडे पहन कर सोती हूँ इसलिए हमेशा की तरह अभी भी कपडे बदलकर सोने का इरादा था मेरा और मैं वही कर रही थी के तभी रवि आये और उन्होंने कहा अपने कपडे बदलकर हमारे रूम में आ जाओ उनके साथ रात बिताने के लिए.

    मैंने भी फटाफट अपने कपडे बदलकर उनके रूम की तरफ चल पड़ी. जैसे मैं दरवाजे से अन्दर गई तो देखा के रवि और अनु एक दम नंगे हैं और अपनी फोटो खींच रहे हैं. उन्होंने मुझे देखा तो कहा “आप भी हमें ज्वाइन कर लो, और बिना किसी शर्म और संकोच के मस्ती करो.” जब हमने अपने खूबसूरत बदन और लम्हों को अपने कैमरे में कैद कर लिया तब हम लोग नंगे ही बालकनी में आ गए और वहां बैठ कर मस्ती की बातें करने लगे.

    इधर रवि जी हम दोनों औरतों को नंगी देखकर काफी गर्म हो चुके थे जिसे हम दोनों औरतों ने महसूस कर लिया था और ये भी समझ लिया था के जितनी देर तक ये रुके हैं बस उतनी देर तक ही ये शांत हैं अगर एक बार शुरू हो गए तो इनको रोकना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है और ऐसा ही हुआ..बालकनी में जाकर बैठे हुए कुछ ही देर बीते होंगे की रवि जी की मस्तियाँ शुरू हो गई..और हम दोनों औरतें उसको देखकर सिर्फ मुस्कुरा कर रह गई.

    रवि जी ने हम दोनों के चूचों को दबाना और हमें चूमना शुरू कर दिया. रवि जी का लंड पूरा तरह तन कर खड़ा था जो आज हम दोनों को चोद कर ही शांत होने वाला दिख रहा था. रवि जी ने मेरे चूचों को चूसना और अनु के चूचों को अपने हाथों से दबाना जारी रखा. जैसे ही रवि जी ने अनु के चूचों को चूसना शुर किआ मैं रवि जी के टांगों के नीचे बैठ कर उनके कड़क लौड़े को अपने मुंह में ले लिया और उसको चूसना शुरू कर दिया.

    रवि जी तो एक दम से हैरान हो गए और इस कदर हैरान हो गए के उन्होंने अनु के चूचे को एक पल के लिए चूसना बंद कर दिया और मुझे देखने लगे. मैंने भी कनखी मारते हुए उन्हें इशारा किआ आप अपना जारी रखो और मैं अपना काम जारी रख रही हूँ. रवि जी के लौड़े का सुपाड़ा एक दम उनके ज्यादा उत्तेजित होने से पानी पानी हो रहा था जिसे मैंने अपने जीभ से चाट चाट कर साफ़ किआ. उनके लौड़े को मैं एक बार में बड़े ही आराम से अपने मुंह के अन्दर ले पा रही थी.

    रवि जी के मुंह से मस्ती के मारे आआआह आआआह और जोर से चूसो अरचु डार्लिंग जैसे बोल निकल रहे थे. इधर रवि जी, अनु के चूचों को छोड़ उसके चूत पर भूखे शेर की तरह टूट पड़े थे. मैं इधर उन का लंड चूस रही थी और वो अनु के चूत का जाम पी रहे थे. उसके बाद उन्होंने कहा, “अनु, अब ताश के असली पत्ते खोले जाए तो खेल का मजा ही आ जाए,..उन्होंने आगे कहा, अपनी रानी के साथ तो बहुत खेला आज किसी दूसरी रानी के साथ खेलकर देखता हूँ और इतना कहकर वो मेरी तरफ मुखातिब हुए.

    मैं घुटने के बल बैठी हुई थी और वो अनु को छोड़ अब सीधे खड़े हो गए जिससे उनका लौड़ा मेरे मुंह के सामने आ गया. मैं लौड़े के उठान को और उसके उभरे हुए नसों को साफ़ देख पा रही थी. रवि जी ने मुझे उठाया और अपने सीने से लगते हुए मुझे गोद में उठा लिया और पास ही में पड़े सोफे पर ले गए.

    अनु भी पीछे पीछे आ गई. उसके बाद रवि जी ने, मेरी टांगों के बीच में आकर…अपनी पोजीशन सही बनाई. उन्होंने अपना लौड़ा चूत के ऊपर रखकर अन्दर डालने के बजाय उसको ऊपर नीचे कर मुझे और उत्तेजित करना शुरू कर दिया. मैं बुरी तरह से अपने चूत में लौड़ा लेना चाहती थी लेकिन रवि जी अन्दर डाल ही नहीं रहे थे. तभी अनु ने कहा, क्यूँ तडपा रहे हो बेचारी को अब तो अन्दर दाल दो…ऐसा सुनते ही रवि जी, ने एक ही झटके में अपना लौड़ा अन्दर डाल दिया.

    मैं इस धक्के के लिए तैयार नहीं थी लेकिन मैं इसे बर्दाश्त कर गई. रवि जी ने पूरा लौड़ा अन्दर देकर अपना पूरा भार मेरे बदन पर दे दिया और धीरे धीरे अपने लौड़े को मेरी चूत में अन्दर बाहर करने लगे. रवि जी ने एक बार मुझे किस करने के बाद मेरे एक चूचे को मुंह में लिया और दुसरे को अपनी हाथों से मसलने लगे. मैं सीत्कार कर रही थी, और रवि जी मुझे घिरनी की तरह चोदे जा रहे थे. आआआआआह ऊऊऊऊऊऊऊह उम्मम्म्म्म ऊऊऊईइ माआआआआ जैसी आवाजें माहौल को और रंगीन बना रहे थे.

    अनु को कुछ समझ नहीं क्या करे तो उसने सीधा अपनी चूत को आकर मेरे मुंह पर रख दिया और मैं उसके चूत को चूसने लगी. इधर रवि जी भी मेरे चूचों को छोड़ अनु के चूचे दबाने लगे. और इस तरह चुदाई होने लगी. रवि जी ने उस रात मुझे हर पोजीशन में चोदा जिसे मैंने खूब एन्जॉय किआ. बाद में रवि जी ने अनु को भी चोदा और हम दोनों को खुश कर दिया. इस तरह हमारी पहली पट्टाया रात का अंत हुआ…एक जबरदस्त चुदाई के साथ. कहानी जारी रहेगी.

    My First Group Sex

    Aaj mai apko btati hun hamari 1st group sex ki kahani or yaadein taaza krugi.

    Jb humne swinging suru ki tb 4-5 baar 2 alag alag couple ke sath swap krne ke baad humne socha group fun ka.

    Hum Delhi pahunche jinke sath 1st time swap kiye the unke sath unke ghar pe swap krne ke baad hum unke car se raat ko Sikar ke liye nikle jahan hume group sex ka plan kiya tha.

    Hum dono cpl apne apne partner badal ke baith gye or nikal gye. Mai aage wali seat pe thi unke sath jo drive kr rhe the or mere hubby piche unki wife ke sath. Hum sub itne ghum mil gye the 4-5 swap ke baad ke ki ab koi sharam nhi aati thi kisi ko kisi se. Bich bich me hum ek dusre ko kiss krte toh toh kabhi lund nikal ke khelte toh kabhi boobs chuste toh kabhi chut me ungli krte pure raaste hum soft fun krte huye gye SIkar.

    Raaste me hum ek dhaba pe ruke chai pine ke liye or fir hum dono lady wahan ke log ko seduce ki bina bra panty ke kapde pehan ke.

    Kuch dur jaane ke baad hum dono lady nangi photo shoot krayi highway pe or jungle me.

    Subah hum Sikar pahunche apne cpl friend ke yahan or naashta krke hum apne apne room me chale gye aaram krne.

    Dopehar me fresh hoke lunch krke sb baatein krne lge or raat ke fun ka plan banane lge.

    Shaam ko humne shopping or local market ghumne ka plan kiya. Hum sub ladies new nity or new designer bra panty li fun ke liye.

    Shopping ke baad hum dinner ke liye restaurant gye or fir dinner krke ghar wapas aa gye. Men sb aate time beer vodka namkeem sb leke aaye.

    Ghar aate hi humne plan kiya ki aaj ki raat 2 groups bnegi…….1st FMF & 2nd MFM means koi bhi men ya lady apne partner ke sath nhi jayega or dono groups apne apne partner ke sath alag room me enjoy krenge. Mai FMF group join ki Sikar wale men ke sath or other lady jiske saath aayi thi or mere hubby & other men Sikar wale ki wife ke sath join krenge. Fir humne drinks lena start kiya or music dance suru ho gya or dhire dhire sb naashe me jhum rhe the or soft fun bhi start ho gya. Kuch der ke baad dono group apne apne partners ke sath apne room me chale gye fun ke liye.

    Hum jaise hi room me gye woh hum dono lady ko bhuke sher ki tarah kiss krne lge or kapde utarne lge or ek durse ko nange krne lge fir woh mujhe kiss krne lge or dusri lady unke lund ke sath khelne lgi or chusne lgi fir mai bhi niche gyi or lund chusne lgi or fir ek ek krke woh raat bhar hum dono ko khub chode. chudai me hum itna mast ho gye the ki time ka pta hi nhi chala or subah ke   baj gye the fir hum fresh hoke teeno nange hi so gye dono side me hum lady or bich me woh dono ke kandhe pe haath rakh ke kiss krke hum so gye.

    Jb nind khuli toh dopehar ho chuki thi or sb fresh hoke drawing hall me sb ek dusre se experience share kr rhe the or fir men sb lunch bahar se order kiye or woh sb bole ki jb delivery boy aayega toh hum sb ladies ko usko seduce krna hai or plan kiye.

    Jb delivery boy aaya tb mai gyi towel me door kholne or andar bulayi or boli paise leke aati hun. Mai room me gyi or dusri lady gyi usko paise dene loose tee bina bra ke jisme more than half ceavage or boobs dikh rhi thi uski itne me 3rd lady gyi pani ke puchne only in camisole…..woh 3 ladies ko aise dekh ke pagal ho gya tha or lund khada ho gya tha uska itne ek ne awaaz lgayi or woh darr ke mare bhag gya.

    Fir hum lunch krke aaram krne gye room me.

    Shaam ko sb fresh hoke raat ka plan bna rhe the kaise krna hai group fun.

    Plan bnane ke baad sb men gye drinks or beer laane ke liye tb hum ladies bhi plan ki jb woh drinks krenge tb hum unko seduce krenge or apna lesbo show start krenge.

    Un sub ke aate hi hum ladies boli aaj drinks hum serve krenge or surprise denge.

    Kitchen me jaake hum ladies drinks bna ke apna dress change krke new nity or bra panty pehan li jo humne shopping ke time li thi.

    Fir humne slow music start krke unko drinks di or hum ladies apna dance start krke seduce krne lgi or dhire dhire striptease krne lgi or apne kapde utar ke unke chehre pe fek di or nude dance krne lgi. Yeh sb dekhte hi sb ke sb shocked ho gye but un sb ke liye asli shock baaki tha fir humne apna apna drinks leke dance krne lge or drinks ko ek dusre ke lips pe gira ke pina lge fir boobs pe gira ke piye or fir chut pe gira ke pi…..yeh dekh ke sb pagal ho gye or enjoy krne lge or comments krne lge sbke sb nashe me fir humne ek dusre ko kiss ki boobs chusi chut chati or gaand bhi……

    Sb ke sb comment kr rhe the yeh hamari biwi kitni mast randi ho gyi saali dusro ke sath chud chud ke khul gyi gyi…..yeh hassen raat kabhi nhi bhulenge yaaro…..cheers for all 3 ladies……

    Fir according to plan hum apna group fun start kiye drawing hall me…..according to plan only 2 men ke sath fun hoga so hum sb ladies 2-2 men select kr 

    Mai Sikar wale or unke friend ko choose ki as daily toh apne pati se toh chudti hi hun.

    Fir hamara group fun start hua or pura room aaaahhhhh ooohhhh yyyeeeaaahhhhh chodo randi bna do aaawaz se bhar gya.

    Jisko jiske sath mann kr rha tha woh uske sath openly sb kuch kr rhe the.

    Kabhi koi kisi ko chodta to koi gaand pe maar ke bolta saali mast randi hai yeh or gaand bhi mast hai.

    Jisko jiske lund ke sath khelne ka mood tha woh uske sath khelne lgti or chusti.

    Aise hi 2-2 round ke baad sb thak gye or fir wahin sb let gye or fir decide hua ki ab last me sb teeno ladies ki gaand maarege sbke saamne.

    Mai or Sikar wali lady taiyar thi as hum dono krti thi but ek lady ready nhi thi but usko manaane ke baad maan gyi but boli phle hum dono ko dekhegi fir woh kregi.

    Phla chance mere hubby ka tha Sikar wali ke sath fir meri Sikar wale ke sath aise aise sb ne hum dono ki gaand maare or fir chance thi woh boli phle mere hubby uski gaand maarege as usko unka lund pasand tha or acche se krte hai…..fir mere hubby ke maarne ke baad Sikar wale uski gaand maare but woh apne hubby se nhi ki as usko bhut dard hone lga…..fir atlast hum sb ladies sbka lund chusi or sb ne hum sb ladies ke boobs or face pe jhad gye.

    Aisi masti krte krte kb subah ho gya pata hi nhi chala or sb fresh hoke nange hi sb drawing hall me so gye.

    Dopehar me sb uth ke fresh hoke lunch krke hum dono cpl unke car se return ho gye kuch haseen pal leke jo ki kabhi nhi bhul skti.

    Returnig ke time sb car me hi so gye 2 din ki chudai se sb thak gye the.

    So friends yeh thi hamari 1st group sex ki story…..hope u all like

    Plz like comment reblog

    स्पेशल करवा चौथ

    मैं अरचु आपको अपने करवा चौथ पर किये हुए मस्ती की दास्तान बताने जा रही हूँ. पिछले रविवार को इनके दोस्त का फ़ोन आया जिनकी वाइफ प्रेग्नेंट थी इस वजह से उन्होंने काफी दिनों से मस्ती की नहीं थी तो उन्होंने मेरे साथ मस्ती करने के इरादे से सैम को फ़ोन किआ और अपनी मंशा जाहिर की, इन्होने, उनकी बात सुनी और उनको कहा “एक बार मुझसे बात करके उनको बताते हैं”.

    सैम ने मुझे उनके बारे में बताया तो मैंने हामी भर दी और उन्हें कहा इस सप्ताह के अंत में करते हैं. जब मैंने हाँ किया, उस वक्त मुझे पता नहीं था रविवार को #करवा_चौथ है और उधर सैम ने भी अपने दोस्त को फ़ोन कर बता दिया हम इस रविवार को मस्ती करने वाले हैं.

    कुछ दिनों बाद हम ऐसे ही अपनी सामान्यतया जो चुदाई की बातें लेटने वक्त कपल करते हैं वो कर रहे थे.. तभी अचानक से सैम को याद आया “रविवार को करवा चौथ है, और वो सकते में आ गए फिर अगले ही पल सामान्य होते हुए उन्होंने कहा इस करवा चौथ को मानाने का एक तरीका है जो अभी तक के सभी मनाये हुए करवा चौथों में सबसे अलग होगा और यादगार होगा, है उनके पास..जिसको मैंने भी ख़ुशी से मान लिया. जब सैम ने बात कही तो मैंने सोचा “चलो, इन्होने प्लान बनाया है तो सही ही होगा, और उसके बाद हम ने उसके लिए योजना बनानी शुरू कर दी और उनके दोस्त को बता भी दिया. 

    मन में तरह तरह के सवालात उठ रहे थे “करवा चौथ के दिन किसी और आदमी के साथ चुदाई करना, सही है के नहीं इत्यादि.” दिन बीत रहे थे के एक दिन मैंने सोचा क्यूँ न अपनी फ्रेंड रिया से मिलूं (रिया, भी एक स्विंगर है) और उससे ये सब बातें शेयर करूँ….हो सकता है उससे बात करके मुझे थोडा सकूं मिल जाए और मेरे मन उठने वालों सवालों के जवाब मिल जाए. यही सब सोच कर मैं रिया के घर गई और उसे सब बातें विस्तार से बता दिया.. और बेसब्री से उसके जवाब का इन्तेजार करने लगी.

    मेरी बात को गौर से सुनने के बाद उसने कहा “इसमें कोई गलत बात नहीं. करवा चौथ के दिन किसी और से चुदना कोई गलत नहीं है सबसे पहले इस बात को समझ लो और दूसरी बात ये समझो, इन्सान ही इंसान के काम आता है. उनकी वाइफ प्रेग्नेंट है और वो तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहते हैं तो इसमें गलत क्या है, तुम्हें तो खुश होना चाहिए के तुम उनकी मदद कर रही हो, और वैसे भी किसी जरूरतमंद की मदद करना भी ऊपरवाले की नजर में सही कहलाता है. 

    उसकी पूरी बात सुनने के बाद मैंने उसे कहा "मुझे उनके साथ सेक्स करने में कोई दिक्कत नहीं है और मैंने उन्हें हाँ भी बोल दिया है लेकिन मेरा मन उस दिन करवा चौथ होने की वजह से थोडा असमंजस में है”.

    रिया ने कहा “ ये भी तुम्हारे और सैम के लिए एक नया अनुभव होगा और ये तुम्हें काफी समय तक याद भी रहेगा इसलिए बेझिझक होकर मस्ती करो,”…. रिया से बात करने के बाद मैं काफी शांत हो गई थी और काफी हद तक जो मन में बातें आ रही थी जो मुझे थोडा परेशान, कर रही थी वो गायब हो गई और मैं पूरे तन मन से इसको करने को अब तैयार हो चुकी थी. मुझे इस समस्या से निकालने के लिए मेरी प्यारी सहेली रिया का दिल से धन्यवाद जिसने मुझे प्रोत्साहित किया.

    रविवार को करवा चौथ है और वो एक स्पेशल होने वाला है तो मैंने सोचा क्यूँ न ब्यूटी पार्लर जाकर थोडा सा और स्पेशल हो जाऊं और वैसे भी ये सब नार्मल होता है करवा चौथ के दिन. सारी लडकियां करती हैं तो मैंने भी कराने का सोच लिया और यही सोचकर मैं सैम के साथ पहले शौपिंग और फिर ब्यूटी पार्लर गई वहां मैंने अपनी बिकिनी वैक्स, फेसिअल और बाल कट करवाया.

    शनिवार को हमने मेरी पूरी बॉडी (चूत और चूचों) पर मेहँदी लगवाने का सोचा और इसके लिए हमने मेहँदी वाले का पहले से अपॉइंटमेंट भी ले लिया. पूरे बदन पर मेहँदी लगवाने के लिए एक सुरक्षित जगह होनी चाहिए और उस जगह पर मेहँदी लगते वक्त कोई आना भी नहीं चाहिए. दुर्भाग्यवश, हमारे लिए ऐसी जगह का मिलना थोडा मुश्किल है क्यूंकि हमारी फॅमिली हमारे साथ रहती है इसलिए हमने प्लान में हल्का बदलाव कर मेह्न्दिवाले से सिर्फ अपने हाथ और अपने पैरों पर मेहँदी लगवा लिया.

    रविवार के दिन नहाते वक्त मैंने बगल और अपनी चूत के बाल साफ़ किये और शाम के लिए एक अच्छी साड़ी पहन कर और सज धज कर तैयार हो गई अपने स्पेशल करवा चौथ को मनाने के लिए.रात को साढे आठ बजे चाँद निकलते ही हम दोनों अपने घर के छत पर गए, वहां जाकर चाँद को देखा और अपनी पूजा की उसके बाद हम दोनों कार से सैम के दोस्त के घर गए.

    वहां जाते ही, मैंने दुबारा चाँद को देखा और उनके दोस्त के हाथ से पानी पिया फिर सैम के हाथ से. दोनों बहुत खुश हुए और उन्होंने मुझे साथ ही किस किआ और अपने गले लगा लिया.

    उसके बाद हम सभी ने अन्दर आकर कुछ प्रसाद और मिठाई खाई और उसी वक्त सैम ने ऑनलाइन डिनर का आर्डर देे दिया. दोनों ने कहा, “जब तक डिनर आता है तब तक क्यूंकि न हम ड्रिंक्स लें और डांस करें.. ?? उनकी बात का जवाब मैंने कुछ इस तरह दिया…"मैं कपडे बदलकर आती हूँ”, तो उन दोनों ने कहा “आज सुहागों वाली रात है इसलिए आज साड़ी में ही मस्ती करो”.

    उनके दोनों के दवाब देने पर मैंने भी उसी साड़ी में ही ड्रिंक लेना शुरू किआ. थोड़े पेग के बाद शराब ने जल्दी ही असर दिखाना शुरू भी कर दिया और हमारा सॉफ्ट फन शुरू हुआ. हम सभी एक दुसरे को किस करने लगे और फिर धीरे धीरे दोनों ने मेरे गांड और चूचों को दबाना शुरू कर दिया. उन दोनों की इस हरकत से मेरे अन्दर वासना जागृत हो गई थी.

    सैम ने आगे बढ़कर मेरी साड़ी खोल दी और कहा “ ब्लाउज और पेटीकोट में नाचो”. मैंने जैसे ही नाचना शुरू किआ उन दोनों ने भी मुझे ज्वाइन किआ और फिर हम तीनों ने साथ में नाचना शुरू कर दिया.

    नाचते हुए ही उनके दोस्त ने अपना एक हाथ मेरे ब्लाउज में डालकर मेरे चूचों को दबाते हुए ही दूसरा हाथ मेरे पेटीकोट में डालकर मेरे गांड और चूत को दबाना और मसलना शुरू कर दिया…और साथ में ही मुझे चूमने लगे और किस करने लगे. उन्होंने अपने जाँघों को मेरी जाँघों से रगड़ना भी प्रारंभ कर दिया था.

    उनके द्वारा ऐसा करने पर मैं भी मस्ती में आ गई और मैंने उनके अंडरवियर को निकाल कर उनके लंड से खेलना शुरू कर दिया .मेरे द्वारा ऐसा करने पर उन्हें और मस्ती आने लगी और उनका लौड़ा भी एक दम कड़क होकर मस्ती करने को बेताब हो उठा.

    मैंने जब देखा वो पूरी तरह तैयार हो चुके हैं तब मैं अपने घुटने के बल बैठ गई और आराम से उनका कड़क और शानदार लौड़ा अपने मुंह में लेकर चूसने लगी. अभी थोड़ी ही देर हुए थे ऐसे करते हुए की मैंने देखा सैम भी ताव में आ चुके हैं. सैम ने कहा, “आज वो सिर्फ देखेंगे कुछ करेंगे नहीं”. हम लोगों ने अपना काम जारी रखा लेकिन सैम से बर्दाश्त नहीं हुआ हम दोनों को मस्ती करते हुए देख तो उन्होंने हमें ज्वाइन करने का सोचा..मैं इस बात से बखबर आराम से उनके दोस्त का लौड़ा चूसने में लगी हुई थी तभी अचानक हुई आहट से मेरा ध्यान टूटा तो मैंने देखा सैम भी मेरी तरफ बढे चले आ रहे हैं. मैं ये देखकर काफी खुश हुई और मुस्कुरा कर सैम का स्वागत किआ…और सैम के आते ही उनका भी लौड़ा उनके दोस्त के साथ ही चूसना शुरू किआ.

    थोड़ी देर तक चूसने का कार्यक्रम चला उसके बाद उनके दोस्त मुझे वहां से उठाकर अपने बेडरूम में ले गए जहाँ पर उन्होंने मेरे पेटीकोट और ब्लाउज को खोल दिया. अब मैं सिर्फ अपनी लाल रंग की ब्रा और पेंटी में ही रह गई थी. जब उन्होंने मुझे ऐसे देखा तो उनके होश उड़ गए..उन्होंने इस तरह के बारे में कुछ सोचा नहीं था और उन्होंने मुझे जब ऐसे हाथों में मेहँदी लगाए हुए,माथे पर सिन्दूर, सुहागन की तरह गले में मंगलसूत्र और मैचिंग नई ब्रा पेंटी पहने उनके बेड पर लेटे देखा तो और बेकाबू हो गए.

    उन्होंने आव न देखा ताव जल्दी से मेरी ब्रा पेंटी उतार कर मेरी चिकनी चूत को चाटने लगे और जोर जोर से मेरे चूचे दबाने लगे. मैंने भी उनका जोश बढाया और कहा “हाँ, चाट लो मेरे राजा.. उफ्फ्फफ्फ्फ़ हां आईईई आज तुम मुझे पूरा खा जाओ आआअह्हह्हह पूरा अन्दर तक अपनी जीभ को डालकर चाटो स्सीईईईईइ”. उनका इतना जोश देखकर मुझे और भी जोश आ गया और अब मैं अपनी चूत को उठाकर उनसे चटवाने लगी. कुछ देर उन्होंने मेरे बदन के साथ खेलकर मुझे अपने नीचे ले और खुद मेरे ऊपर सवार हो होकर मुझे किस करके मेरी गर्दन को चाटते हुए मेरे पेट को चूमने लगे.  सैम सामने नंगे कुर्सी पर बैठ कर हम दोनों को देख रहे थे. 

    उनके द्वारा ऐसा करने से मैं भी ताव में आ गई थी और मुझसे थमा भी नहीं जा रहा था उनके कड़क लौड़े को देखकर… तो मैंने उन्हें कहा, “ आआहह सस्सा आहा उफ्फ्फ्फ़ अब जल्दी से मुझे चोद दो, डिनर के बाद दूसरा दौर भी तो करना है”.

    मेरे ऐसा कहने के बाद उनका लौड़ा जोश में बलखा गया तो मैं समझ गई के अब वो मुझे पेलने वाले हैं इसलिए मैंने अपनी टांगें फैलाकर उन्हें निमंत्रण दे दिया और उन्होंने भी मेरा निमंत्रण सहर्ष स्वीकार करते हुए अपना लंड का सुपाडा मेरी चूत की सीध में रखकर एक बार में ही अन्दर पेल दिया और बिना रुके मुझे जोर जोर से चोदने लगे. हलके से दवाब के साथ उनका लंड पूरा का पूरा चूत की जड़ तक जाकर फिट हो गया. उनका मोटा लंड अन्दर लेने में मुझे दर्द हो रहा था क्यूंकि वो मेरी को फैलाता, फाड़ता हुआ धीरे धीरे जगह बना रहा था. उसके बाद उनके जोरदार झटकों ने मुझे जोर जोर से सीत्कार करने पर मजबूर कर दिया आह आह उह उह जैसे शब्द मुंह से निकालने पर मजबूर कर दिया.

    कभी वो अपना लौड़ा बाहर निकाल लेते थे तो कभी अन्दर डाल देते थे थोड़ी देर तक वो मुझे चोदते रहे फिर बाद में उन्होंने मुझे अपनी कमान थमा दी और मैंने फिर उनके ऊपर चढ़कर उनका चोदना शुरू कर दिया. मैंने भी उनको ये दिखा दिया जब औरत चुदाई घमासान होती रही और सैम हम दोनों को मस्ती करते हुए देखते रहे. सैम के दोस्त का मोटा लौड़ा घपा घप मेरी चिकनी चूत में घिरनी की तरह अन्दर बाहर हो रहा था. मैं भी उनके हर झटके का जवाब उनसे दुगुने जोश से अपनी गांड उठा कर देती थी.

    रूम का माहौल एक दम गरम हो चूका था…और अन्दर पलंग के हिलने से जो आवाज आ रही थी उसमें भी एक अलग सी मादकता का एहसास हो रहा था. उन्होंने मेरी अच्छी चुदाई की और चूत के हर कोने पर अच्छे से अपने लौड़े की छाप छोड़ दी. उनकी इस भयंकर चुदाई से मेरी चूत भी दो बार पानी छोड़ चुकी थी. खैर चुदाई का अंत भी आया, और जब वो झड़ने वाले थे तब उन्होंने मेरी चिकनी चूत से अपना लौड़ा निकाल लिया और मेरे चूचों पर अपना माल गिरा दिया.

    एक दौर ख़तम होने के बाद मैं सैम और उनके दोस्त की बाहों के बीच लेट गई. दोनों के नंगे लंड सामने थे और मेहनत के बाद थके हुए नजर आ रहे थे. मैंने दोनों के लंड को कैसे काबू करना है ये जानती थी इसलिए इन्हें अभी खड़ा करना ठीक नहीं समझा और ऐसे ही चुपचाप लेटी रही दोनों के मध्य में.

    थोड़ी देर बाद डिलीवरी वाला आ गया हमारा डिनर लेकर. मैंने दोनों को कहा “मैं नंगी हूँ, आप दोनों में से कोई भी जाओ और खाना ले लो.” तो वो दोनों एक साथ बोले “तौलिया, लपेट लो और डिनर ले आओ डिलीवरी बॉय से.”

    मैंने उनके हुकुम की तामील की और टॉवल लपेट कर डिनर लेने गई. हम तीनों ने साथ ही नंगे होकर ही डिनर लिया.

    डिनर के दौरान सैम ने अपने दोस्त से कहा, “तुम इस बार इसकी चूत लेना और मैं इसकी गांड मारूंगा”…उनके दोस्त ने ख़ुशी से “हाँ” कहा… और दोनों ने मेरी तरफ देखा. मेरे पास “ना” शब्द  कभी न हुआ है और न होगा..मैंने भी हाँ कह दिया. सैम हमेशा कुछ न कुछ नया लेकर आते हैं मेरे लिए जो मुझे पहले तो हैरान करता है पर बाद में बहुत मजा देता है. इसलिए, जब सैम ने ये बात की तो मुझे ऐसा लगा चलो इस बार भी खूब मजा आने वाला है. 

    खाने बाद हम सभी ने थोडा आराम किआ और फिर दुबारा तैयार हो गए दुसरे राउंड के लिए.

    मैंने दोनों के लौड़े से खेलना शुरू कर दिया. मुझे पता था दोनों को पहले खेल कर थोडा गरम करना होगा तभी आगे काम बनेगा. मैंने सैम के दोस्त का लंड पकड़ कर चूसना शुरू किआ और अपने हाथ से सैम का लंड सहलाने लगी. मेरी थोड़ी देर के मेहनत ने अपना रंग दिखाया और दोनों के लौड़े एक नाग की तरह खड़े होकर फुंफकार मारने लगे. ये देखकर मुझे बहुत ही ख़ुशी का एहसास हुआ और ये भी पता चल गया आज मुझे दोनों मिलकर अच्छी तरीके से चोदने वाले हैं और सच कहूँ तो मुझे भी यही चाहिए था. 

    थोड़ी देर पश्चात मैंने सैम का लंड सहलाना बंद कर दिया और उनके दोस्त के लंड को चूसने लगी बिना किसी की तरफ ध्यान दिए हुए. इसी बीच मुझे पता नहीं था सैम मेरे पीछे आकर मेरी गांड की घाटी में अपना कड़क लौड़ा पेलने के पीछे आ चुके हैं. जैसे ही मुझे इस बात का एहसास हुआ तब तक सैम ने अपना मुंह लगा दिया मेरी गांड के छेद पर और उसको चाटने लगे…

    थोड़ी देर तक चाटने के बाद सैम ने अपना लौड़ा मेरी गांड के मुंह पर रखकर धक्का लगा कर अन्दर डाल दिया और लगे मेरी गांड की गहराई नापने. मेरी गांड में ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने मूसल पेल दिया हो और वो मूसल गांड के अन्दर ही हरकतें कर रहा है. हालांकि मुझे दर्द का एहसास भी हो रहा था पर साथ ही साथ मुझे मजा भी आ रहा था. सैम का हथौड़े के सामान कड़क लौड़ा तेजी से मेरी गांड में अन्दर बाहर हो रहा था और मैं भी उस में मदमस्त हो कर अपनी गांड की चुदाई करवा रही थी. इधर मैं उनके दोस्त का लौड़ा जोर जोर से चूस रही थी और उधर सैम मेरी गांड फाड़ने पर तुले हुए थे.

    सैम का लौड़ा इतनी तेजी से अन्दर बाहर हो रहा था की मैं खुद के ऊपर नियंत्रण नहीं रख पा रही थी. मैं सैम के दोस्त का लौड़ा चूस रही थी और सैम के धक्के से मैं खुद पर नियंत्रण नहीं रख पा रही थी और ज्यादा हिलने से सैम के दोस्त का लौड़ा मेरे गले तक आ जाता था. ऐसा मैं जान बूझ कर नहीं कर रही थी ये तो सैम का लंड सब कुछ मुझसे करवा रहा था. सैम ने भी पूरी मस्ती में आकर मेरी गांड में अपना लंड घुसाना जारी रखा. 

    थोड़ी देर बाद मैंने भी सैम को झटके देने शुरू किये जिससे सैम और जोश में आ गए और मुझे एक कुतिया की तरह चोदने लगे. मैं भी सैम के इस रूप को देखकर बहुत हैरान भी हुई और खुस भी.. मुझे काफी अच्छा लग रहा था सैम का ये रूप. कुछ देर बाद सैम मेरी गांड में ही झड गए और उनके दोस्त ने अपना माल मेरे बदन पर निकाल दिया. दुसरे राउंड के बाद थोड़ी देर हमने आराम किआ और उसके बाद जल्दी से फ्रेश हुए और तैयार होकर घर जाने को निकल लिए.

    सैम के दोस्त ने हमें इस चुदाई के लिए शुक्रिया कहा. सैम के दोस्त के शुक्रिया कहने के बाद मैंने उन दोनों का शुक्रिया अदा किआ. सैम को इसलिए की उन्होंने मेरे करवा चौथ को स्पेशल बना दिया और उनके दोस्त को इसलिए की उन्होंने मुझे तसल्ली से चोद कर मुझे खुश कर दिया इस करवा चौथ में और इसे एक ना भूलने वाला करवा चौथ बना दिया.

    रात को हम लोग एक बजे घर पहुंचे. घर पहुँचने के बाद मैंने सैम को एक बार और शुक्रिया अदा किआ इस न भूलने वाले अनोखे और अनूठे अनुभब को मुझे देने के लिए. 

    दोनों का दिल से शुक्रिया.

    तुमहारा बहुत बहुत शुक्रिया मेरी करवाचौथ वाली कहानी लिखने के लिए @harddick21blog…….

    My First Group Sex

    Aaj mai apko btati hun hamari 1st group sex ki kahani or yaadein taaza krugi.

    Jb humne swinging suru ki tb 4-5 baar 2 alag alag couple ke sath swap krne ke baad humne socha group fun ka.

    Hum Delhi pahunche jinke sath 1st time swap kiye the unke sath unke ghar pe swap krne ke baad hum unke car se raat ko Sikar ke liye nikle jahan hume group sex ka plan kiya tha.

    Hum dono cpl apne apne partner badal ke baith gye or nikal gye. Mai aage wali seat pe thi unke sath jo drive kr rhe the or mere hubby piche unki wife ke sath. Hum sub itne ghum mil gye the 4-5 swap ke baad ke ki ab koi sharam nhi aati thi kisi ko kisi se. Bich bich me hum ek dusre ko kiss krte toh toh kabhi lund nikal ke khelte toh kabhi boobs chuste toh kabhi chut me ungli krte pure raaste hum soft fun krte huye gye SIkar.

    Raaste me hum ek dhaba pe ruke chai pine ke liye or fir hum dono lady wahan ke log ko seduce ki bina bra panty ke kapde pehan ke.

    Kuch dur jaane ke baad hum dono lady nangi photo shoot krayi highway pe or jungle me.

    Subah hum Sikar pahunche apne cpl friend ke yahan or naashta krke hum apne apne room me chale gye aaram krne.

    Dopehar me fresh hoke lunch krke sb baatein krne lge or raat ke fun ka plan banane lge.

    Shaam ko humne shopping or local market ghumne ka plan kiya. Hum sub ladies new nity or new designer bra panty li fun ke liye.

    Shopping ke baad hum dinner ke liye restaurant gye or fir dinner krke ghar wapas aa gye. Men sb aate time beer vodka namkeem sb leke aaye.

    Ghar aate hi humne plan kiya ki aaj ki raat 2 groups bnegi…….1st FMF & 2nd MFM means koi bhi men ya lady apne partner ke sath nhi jayega or dono groups apne apne partner ke sath alag room me enjoy krenge. Mai FMF group join ki Sikar wale men ke sath or other lady jiske saath aayi thi or mere hubby & other men Sikar wale ki wife ke sath join krenge. Fir humne drinks lena start kiya or music dance suru ho gya or dhire dhire sb naashe me jhum rhe the or soft fun bhi start ho gya. Kuch der ke baad dono group apne apne partners ke sath apne room me chale gye fun ke liye.

    Hum jaise hi room me gye woh hum dono lady ko bhuke sher ki tarah kiss krne lge or kapde utarne lge or ek durse ko nange krne lge fir woh mujhe kiss krne lge or dusri lady unke lund ke sath khelne lgi or chusne lgi fir mai bhi niche gyi or lund chusne lgi or fir ek ek krke woh raat bhar hum dono ko khub chode. chudai me hum itna mast ho gye the ki time ka pta hi nhi chala or subah ke   baj gye the fir hum fresh hoke teeno nange hi so gye dono side me hum lady or bich me woh dono ke kandhe pe haath rakh ke kiss krke hum so gye.

    Jb nind khuli toh dopehar ho chuki thi or sb fresh hoke drawing hall me sb ek dusre se experience share kr rhe the or fir men sb lunch bahar se order kiye or woh sb bole ki jb delivery boy aayega toh hum sb ladies ko usko seduce krna hai or plan kiye.

    Jb delivery boy aaya tb mai gyi towel me door kholne or andar bulayi or boli paise leke aati hun. Mai room me gyi or dusri lady gyi usko paise dene loose tee bina bra ke jisme more than half ceavage or boobs dikh rhi thi uski itne me 3rd lady gyi pani ke puchne only in camisole…..woh 3 ladies ko aise dekh ke pagal ho gya tha or lund khada ho gya tha uska itne ek ne awaaz lgayi or woh darr ke mare bhag gya.

    Fir hum lunch krke aaram krne gye room me.

    Shaam ko sb fresh hoke raat ka plan bna rhe the kaise krna hai group fun.

    Plan bnane ke baad sb men gye drinks or beer laane ke liye tb hum ladies bhi plan ki jb woh drinks krenge tb hum unko seduce krenge or apna lesbo show start krenge.

    Un sub ke aate hi hum ladies boli aaj drinks hum serve krenge or surprise denge.

    Kitchen me jaake hum ladies drinks bna ke apna dress change krke new nity or bra panty pehan li jo humne shopping ke time li thi.

    Fir humne slow music start krke unko drinks di or hum ladies apna dance start krke seduce krne lgi or dhire dhire striptease krne lgi or apne kapde utar ke unke chehre pe fek di or nude dance krne lgi. Yeh sb dekhte hi sb ke sb shocked ho gye but un sb ke liye asli shock baaki tha fir humne apna apna drinks leke dance krne lge or drinks ko ek dusre ke lips pe gira ke pina lge fir boobs pe gira ke piye or fir chut pe gira ke pi…..yeh dekh ke sb pagal ho gye or enjoy krne lge or comments krne lge sbke sb nashe me fir humne ek dusre ko kiss ki boobs chusi chut chati or gaand bhi……

    Sb ke sb comment kr rhe the yeh hamari biwi kitni mast randi ho gyi saali dusro ke sath chud chud ke khul gyi gyi…..yeh hassen raat kabhi nhi bhulenge yaaro…..cheers for all 3 ladies……

    Fir according to plan hum apna group fun start kiye drawing hall me…..according to plan only 2 men ke sath fun hoga so hum sb ladies 2-2 men select kr 

    Mai Sikar wale or unke friend ko choose ki as daily toh apne pati se toh chudti hi hun.

    Fir hamara group fun start hua or pura room aaaahhhhh ooohhhh yyyeeeaaahhhhh chodo randi bna do aaawaz se bhar gya.

    Jisko jiske sath mann kr rha tha woh uske sath openly sb kuch kr rhe the.

    Kabhi koi kisi ko chodta to koi gaand pe maar ke bolta saali mast randi hai yeh or gaand bhi mast hai.

    Jisko jiske lund ke sath khelne ka mood tha woh uske sath khelne lgti or chusti.

    Aise hi 2-2 round ke baad sb thak gye or fir wahin sb let gye or fir decide hua ki ab last me sb teeno ladies ki gaand maarege sbke saamne.

    Mai or Sikar wali lady taiyar thi as hum dono krti thi but ek lady ready nhi thi but usko manaane ke baad maan gyi but boli phle hum dono ko dekhegi fir woh kregi.

    Phla chance mere hubby ka tha Sikar wali ke sath fir meri Sikar wale ke sath aise aise sb ne hum dono ki gaand maare or fir chance thi woh boli phle mere hubby uski gaand maarege as usko unka lund pasand tha or acche se krte hai…..fir mere hubby ke maarne ke baad Sikar wale uski gaand maare but woh apne hubby se nhi ki as usko bhut dard hone lga…..fir atlast hum sb ladies sbka lund chusi or sb ne hum sb ladies ke boobs or face pe jhad gye.

    Aisi masti krte krte kb subah ho gya pata hi nhi chala or sb fresh hoke nange hi sb drawing hall me so gye.

    Dopehar me sb uth ke fresh hoke lunch krke hum dono cpl unke car se return ho gye kuch haseen pal leke jo ki kabhi nhi bhul skti.

    Returnig ke time sb car me hi so gye 2 din ki chudai se sb thak gye the.

    So friends yeh thi hamari 1st group sex ki story…..hope u all like

    Plz like comment reblog

    Golden Shower Experience

    Today I had great n lovely experience of golden shower with my hubby Sam….

    While fucking me n having sex with me in morning Sam told me that he wants to pee on my gorgeous body n wanna experience golden shower with me….

    I was excited n horny to hear it…..I told him m ready to experience it n let’s do it…..

    Then after fucking me he told me to lie down on floor so that he could pee on body…..

    I lied down on floor n he started to pee on body…..I closed my eyes n mouth n started enjoying it….

    He started peeing on my body from my head to face then on my boobs n nipples then on belly n navel n finally on my pussy area n thigh…..

    As he was peeing the droplets of his pee started rolling down my boobs n nipples giving hot sensation to my body…..

    Then he told me to roll back n he pee on my back n on ass too……

    Then he too lied on floor n asked how it feels….

    I told him i really enjoyed it n it feels like slutty randi wife of urs…..then we kissed each other n went to take shower together in bathroom….

    The weekend has started on a great note for us….hope it continues tomorrow too for us n for other cpls too like us….

    Regards

    Archu

    Thailand Trip with 2 Matured Couple for 10 Days

    Today I(Archu) going to tell u about my Thailand trip when I went alone with 2 matured cpls for 10 days… We with 2 more cpls(Ravi 43 Anu 41 & Amit 40 Jaya 38) decided that we will go to Thailand n have fun but unfortunately at the last minute my hubby Sam holidays cancelled due to some important official work….we were upset n cpls too as we had planned so many about how we wanna enjoy whole trip…..my cpl friends came up with an idea of going alone with them as we have met n had fun too with them…..but spending 10 days alone with them that too in Thailand was not possible for me as I too have a family but my hubby also insists me alot to go along with them as we have booked tickets n hotels too….so finally I also decided to go alone with them…. Before going I had bought many western clothes new lingerie night dress etc…..had bikini wax my body too for the trip…. We all decided we will meet at airport….finally day arrived n me with my hubby went to airport…. we all hugged each other n my hubby told both men to take care of me well as I will not be with him for 10 days so its there responsibility to take care of me….then I bid bye to my hubby n left for security checking….. finally we aboard flight n finally landed in Pattaya after long journey…. Day-1 We went to hotels n checked in our rooms…..both cpls went with their wife to their rooms n I went to my room…. Finally I took long shower n then relaxed in my balcony in towels…..meanwhile both men came to my room n was shocked n surprised to see me in towel in balcony of my room….they make planned that we will spend 3 days in Pattaya 3 days in Phuket n 3 days in Bangkok….. they told that they had amazing bathroom sex with their wife’s n so they thought to spend sometime with me as m alone so dont get bored….finally we had tea together n some planning about how to enjoy….. after spending few hours with them I went to sleep….. Finally all get together for some evening snacks with wine n drinks…. Both men went to receptionist to get information about Pattaya beaches n adult clubs….. Finally after dinner we went to our rooms….as I was changing my clothes Ravi ji came to room n told me to change my dress n come to their room to spend night with them…I also changed in nity n went to their room….. As I entered their room I saw both of them r nude n capturing moments…. as they saw me they invited me to join them n feel free to enjoy openly without any hesitation n shy….. After capturing beautiful moments we all 3 went to balcony nude n sitting n gossiping….. meanwhile Ravi ji started kissing n pressing n having soft fun with us…..finally it ended with great unforgettable 1night of Pattaya…. Day-2 We went to Wong Amat Beach which was secluded n great for relaxing in sunshine….we all ladies were in tiny bikini n exposing ourselves to the passer by….after the long walk on the beach we decided to take sunbathe…..meanwhile some masseur came asked us whether we wanna take massage on the beach or not…..but we decided we will take next day on another beach…..finally after spending 5-6 hours on beach we returned to our hotels…. finally I took bath n went to sleep…. Then at night we planned to go to some adult club n enjoy the night life of Pattaya….. According to the information the show was going to start at 20:00 till 2:00….so we went to the club wearing short n revealing dresses….. As we entered the club I was shocked to see the club with nude cpls n enjoying themselves….. We all went to take some drinks n vodka….finally show started with pole dancer n started teasing me that clothes is not allowed here…..I smiled at her…..finally they started their striptease show n meanwhile all people started shouting n hooting…. Finally all gets nude n dancing…. Then group of men came in their towels n started dancing….one of them came near me of took off his towel n his long thick dick hit my nose n all started laughing…..he insists me to touch his dick n take it in my hand….all were shouting take the meat lady….as I was going to take his dick in my hand Anu took off his clothes n started taking his dick in her hand n pressing it…..meanwhile Jaya also started smooching foreign young guy….I also decided to get nude n enjoy with them….. After few hours of show we all took drinks being nude n started smooching n giving blowjob n enjoying ourselves….. Finally after enjoying the adult club of Pattaya we returned to our rooms…. Then I had threesome with Amit n Jaya n slept with them…. Day-3 We went to Buddha Temple n local market for shopping n buying clothes…. Tasted local dishes of Thailand…. Finally at night we returned to our hotels….we decided we will do nude exhibitionism n tease service boy…. So we called service boy n I n Anu were nude under the blanket…..as he knocked Jaya went to open the door in just bra panty n after finishing his work he saw our nude ass….finally he went n Jaya saw he got hard on…. Then we all had drinks being nude in the balcony….. Day-4 We left Pattaya with some unforgettable n unimaginable n great memories to Phuket…. It was only 2 hrs journey from Pattaya airport to Phuket…..so we reached Phuket….we went to our hotels…. but in Phuket only 2 rooms were booked that means I have to share room with one of them so I decided I will share room with Ravi ji & Anu in Pattaya n with Amit ji & Jaya in Bangkok…. So I with Ravi ji n Anu went to their room n relaxed for sometimes n then we all 3 finally bath together nude….after taking bath Ravi ji told me he wish to fuck my ass in front of Anu as she couldn’t took it in her ass….so I said just think m like ur another wife so do whatever u want I dont have any problem…. he just kissed me….then we had great fuck with Ravi ji n meanwhile Anu was busy capturing moments…. Finally at night after dinner we all went for night walk around the city…. Day-5 We went to Patong beach….where we play some watersports….had lunch n seafood at the beach resorts… Finally in evening we returned to our hotels…. While returning both men planned to have a massage of all 3 ladies by best masseur….so they consult receptionist for best masseur for giving massage to 3 ladies… Then a 25 yrs old young smart masseur to give us nude body massage…. After giving massage we all 3 ladies gets fucked by him too n both Amit ji n Ravi ji busy in capturing moments….. Day-6 We went to Phi Phi Islands which is a beach surrounded by jungle n animals….we took ride n enjoyed on different watersports….finally enjoying whole day at Phi Phi Islands we returned back to our hotels…. Then at night we all get together to capture lovely moments with drinks…. Day-7 Finally we left Phuket with some awesome memories to Bangkok for which flight took approximately 90 minutes to reach Bangkok…. After reaching hotel as earlier decided now I have to share room with Amit ji & Jaya….finally we all 3 took nude bath n had great bathroom sex…. Finally at night we decided to go to open beach for having some fun n sex on open beach…. We went to beach at 21:00 n started walking hand in hand wearing tiny bikini n thongs revealing our cleavage boobs n ass….finally we found a secret place where we can have fun in open…..so we all got nude in no time as we all were excited to experience this….finally one by one started fucking us n one lady busy in capturing n keeping eye on others….finally after fucking all 3 ladies both men said they wanna fuck my ass on open beach so I said m just like 2nd wife to both of u so u r free to anything with me….then finally they both fucked my ass hard which is great unforgettable n unimaginable fuck for all of us…. Finally we returned to our hotels…. Day-8 We went to Siam Park City which is big amusement water park with lots of amazing rides….. After enjoying whole day at water park we returned to our hotels…. While returning we all 3 ladies decided we will surprise Amit ji n Ravi ji with our lesbo session but we will not allow them to fuck us rather we will fuck each other n let them enjoy… Finally after reaching hotels we got together for drinks with music….meanwhile we all 3 ladies started kissing each other to which both men were shocked so I just told them to sit n enjoy the show….we started dancing n striptease ourselves… meanwhile both men started passing comments n saying slag words which made us more n more horny n hot….we started sucking kissing each others boobs pussy n ass…we fuck each others pussy n ass with dildo….meanwhile both men became nude n started slapping our ass n finguring our assholes n said its the best show till now….they said all 3 r my fucking ladies r great open minded slutty wife…. Finally we finished our session…. Day-9 On last day we went to Sea Life Bangkok Ocean World which is big marine world filled with different species of water animals….. its just like an aquarium…. finally we went to Buddha Temple in evening n returned back to our hotels…. At night we got together n decided we will have sex one by one with everyone n finally all ladies will get her anal fucked but Jaya was not ready for anal as she didnt do it but on insists she got agreed….. Finally we started fucking each other n whole room was filled with great fucking sounds……we even fucked Ravi ji n Amit ji ass with our dildo…. Finally after fucking each others we took rest for sometime…. After sometime firstly my ass was fucked as I was experienced in taking it…..so Ravi ji fucked my ass hard n then it was Anu turns which was fucked by Amit ji then finally Jaya by Ravi ji as it was her first time….. then at last Amit ji fucked my ass….finally we captured lovely moments nude n kissed each other n slept nude on same bed…. Day-10 Finally we bid bye to Thailand with some unforgettable n awesome memories…. Finally reaching airport my hubby was waiting there to receive us…. Then we went to hotel n had great sex with my hubby after 10 days….finally we all 3 cpls got together for drinks n shared our experiences n pics n videos with my hubby…. we had group sex too that night….. So it was the story of 10 day long Thailand trip….. I missed my hubby alot during the trip but both cpls took care of me like their own sisters(for Anu & Jaya) & their 2nd wife(for Ravi ji & Amit ji)….. It is unforgettable n unimaginable trip for all 5 of us…. Regards Archu

    Starting of Swinging Lifestyle in English

    Many guys n my lovely followers asked me to write my 1st experience of how I started SWINGING LIFESTYLE…..so today (Archu) will tell my foreign lovers about my 1st sexperience.

    I was born in middle class family who loves to be making new friends hangout wid friends n shopping. As I grow up my body started developing n finally I became adult from teenager when I celebrated my 18th birthday.

    After 12th I got admitted in college for further studies where i met new friends. Soon I got some of the great bunch of guys n girls. We used to hangout together on weekends. Soon my roommates have their bf n used to talk late night thinking what they talk so long. But one day my friend told me that they r doing phone sex n sex n told how it feels. By listening her I also gets horny n excited. Meanwhile we all girls started doing naughty stuffs like watching different categories of porn film doing lesbo wid each other listening to their sex experiences etc. Now I was getting horny to loose my virginity n enjoy the world of sex. Soon I too have a bf n we had sex many times.

    After completing my studies my parents started finding perfect groom for me to get married soon. Soon I got married to my lovely hubby SAMEER(SAM). His nature is very romantic n understandable. He is very good n hard fucker in bed. He always use to fuck me new pose at different places in our house. We decided that we will not keep any secret or tell lie with each other so we shared each n everything what we done before our marriage as according to him there should be trust truth n loyalty between us so that it will increase our love n bonding.

    Soon I got pregnant n blessed wid lovely boy. We were happy n enjoying our parenthood.

    While I was pregnant Sam comes to know about Swinging from his close friend which they were doing.

    One night while having sex with him he told me about Swinging but i didnt mind it as i was busy in enjoying. Next night when we were lying on bed he again told me about but I was shocked by listening it. I told him to tell me in details so he told me evrything about it. After listening it I shouted at him “R u mad”…??? He then started convincing me but I was also like typical Indian lady told him that it cant be possible in real life n u r just telling joke as it cant be possible in Indian society but he didnt give up now he started telling stories of his friend from whom he got to know, started watching porn related to Swinging cuckold threesome gangbang group etc. Day by day I started liking it but my mind was saying let’s enjoy once if I like then continue otherwise leave it but my heart was saying NO its wrong I cant fuck anyone else except my hubby.

    After lots of thinking I told him give me time to think n make up mind n I also told him that dont force me to do.

    After that day I started surfing net to get knowledge about Swinging whenever I was free n alone. During this I got so horny that I started fingering twice or thrice by thinking it.

    After allmost 5-6 months I decided let;s enjoy n give it a chance.

    One fine romantic night while having sex I told him in his ears “Darling, let’s enjoy Swing but on one condition that if I like then we will continue otherwise we will not discuss further:. After listening this he was like his wish has fulfilled which he was eagerly waiting for it n that night he fucked my pussy n bang my ass like hell as it was no tomorrow for me. We had such sex after long time.

    After that we started discussing about various things like how we can do n with whom we should do to keep the privacy etc. He come up with idea n told let’s meet his friend n if we all like we will enjoy.

    We decided to meet casually at public place. We discuss on various topic like families job n their experiences. We all like n decided to enjoy on the coming weekend.

    As the weekend was coming near day by day I was getting nervous day by day thinking how I will do n whether m doing it right or not.

    Day before I have done shopping n buys some gifts for them too.

    Finally the day which we both r waiting for comes. We both went to their house. They welcomed us with snacks tea n coffee. We started chatting about different things. They told us about their experiences n showed us their fun pics n videos too to make me more comfortable. We started having our drinks n started dancing with music on with other. While dancing the room was getting romantic n hotter. They started kissing each other n fondling each other. By seeing this we too gets horny n started kissing n fondllng each other. Meanwhile we all started having soft fun too like touching n pressing boobs n ass. I was enjoying the moment n his friend started complimenting my figure n commenting to which I just pass naughty smile to him. He was saying :Dear Archu ur 36 size boobs r great n waiting for someone hands n mouth to grab it n fuck it hard”. I was shocked that he told right size only by touching n pressing my boobs to which he said he is now experienced so can tell by seeing it also without touching.

    After dancing we had our dinner. But still I was nervous which they saw on my face to which they said dont think much about it just enjoy the moment n make memories.

    After dinner we started our SRSP as we decided if I like then I will Swing.

    While having sex I starts enjoying openly. The whole room was filled with moaning sounds of 2 ladies. Suddenly I told my hubby let’s enjoy Swing today only to which he was like he is in heaven n fucked my pussy n ass like hell. Seeing this his friend asked why he is fucking like hell to which my hubby told that agreed to Swing today only. By listening this he told me dear I havent met any such ladies till now who agrees right away after having SRSP n i smiled at him. He said dear “CONGRATS & WELCOME TO THE CLUB OF SWINGERS”. By listening this I was happy that I will be able taste new dick now.

    After that we swing each other n had an awesome n unforgettable night with them.

    While returning back home I thanked my hubby for such an amazing unbelievable n unforgettable memory.

    After that we met many cpls n singles with whom we had fun with only few selected ones.

    Now we r so much open that whenever my mood is there to have fun I tell my hubby n he arranges. Even i enjoy alone he is not free. 

    Recently I went to Thailand alone wid 2 cpls for 10 days where I enjoyed a lot with them.

    Yesterday also I had fun with my hubby boss n his wife n one of his colleagues.

    Hope u all will like my writing…..plz like comment n share.

    Will share new experience of mine soon.

    HAPPY EID from SAMARCHU 

    Birthday Celebration

    Today, I Archu after a long time got time to write about my experience. Today, I will tell u a story of my 33rd birthday celebration which was 4-5 months back.

    After dinner n finishing all my household work I came on bed at 11.30 and I was going through the Tumblr.

    At exact 12 in the night birthday song started in the house and I was knowing that it is my hubby SAM and kid plans. Then SAM came to me with a bouquet of flowers n kissed me n wished me n my baby(kid) also wished me. After that he took me to my kid room which he alone with his kid decorated with flowers and balloons. Then I cut the birthday cake which he bought for me and took few pics with them.

    Then I slept my kid and went to my room where SAM was eagerly waiting for me. As I reached the room he closed the room and told me to close my eyes. I closed my eyes n was thinking what he will gift me on my birthday. Then he put a beautiful Tanishq necklace on my neck and told me to open my eyes. When I opened my eyes I was awestruck to see it and hugged him n kissed him n thanked him for the gift. Then he said wait one more gift is there and I asked what, then he took out a beautiful red gown for me and a set of red lacy lingerie. Then he told me to wear this when we will go on the lunch in the noon. I said ok and again thanked him for the beautiful gift.

    After that he fucked me 2 rounds and banged my ass too n then we slept.

    In the morning, SAM told me that we are going for lunch so he will come after half day.

    In noon, around 1 he came from office and told me to get ready.

    As I was getting ready he was looking at me like a “Bhookha Sher” and praising my inner beauty and I was giving him naughty smile. Then we went for lunch and had a wonderful lunch. Then we went to mall for shopping for my kid and then we returned to our home.

    When I reached the door of my house I saw door is opened. Immediately I asked SAM whether he locked the door while leaving or not. He said he locked the door properly and checked also before coming down. He said open the door and get inside and see whether theft had entered our house or not. I was scared. When I opened the door it was totally dark as light was off. When I switched on the light, I heard noise of 2-3 cpls singing birthday songs and when I see there were 3 of our best swinging cpls with whom we often have fun. Then I thought, ARCHU get ready to be gangbanged by them.

    There were 3 cpls age 30-26, 38-37, and 45-40. Then they all wished me and brought cake for cutting but when I saw the cake I laughed a lot because it was not a normal cake but an adult cake. One cake was in shape of erected dick(lund) and other one was nude girl lying on bed. Meanwhile my kid told me that he wants to sleep as he was tired and was feeling sleepy so he went to his room and slept.

    Then everyone said lets cut the cake so I went to cut the cake but one of the male said ARCHU wait dont cut the cake like this. I asked then how should I….then other one said cut the cake being nude….when I heard this I told them r u all mad….they told lets celebrate ur birthday in a different way….I said being nude…..they told yeah….I was hesitant but SAM said let’s enjoy this too…..they told me that u have been nude with us so many times then why r u being shy….I told I’m not shying then they told me to enjoy….then ladies helped me to undress….then they told me to cut the dick cake in bra panty only….when I drop my gown their mouth were open to see me in red lacy lingerie with deep cleavage….all started whistling and started saying aaj toh khub bajegi ARCHU.

    When I pick up the knife to cut the cake they said hey ARCHU lund kaatne ke liye hota hai chusne ke liye hota ha(dick is not for cutting its for sucking)…..I laughed and understood what he meant….then I took it in my mouth….but it was too thick and they were saying u have sucked our dick lets see whether u can suck this thick dick or not….after sucking they put cake on my face cleavage stomach thigh everywhere…..then they said now all cpls will be nude and everyone will put cake on ladies nipples pussy n ass and it will be cleaned by men n ladies will put cake on men’s balls n then cleans it…..we all laughed a lot after hearing this…..

    Then I unhooked my bra n took off my panty n then everyone becomes nude….then one men said SAM u just suck the pussy with your tongue like u sucked ARCHU’S cunt….then ladies started saying yeah SAM suck u r great sucker….then he gave naughty smile to them n said aaj bhi chusunga(today also I will suck) to which they told him hum kb se wait kr rhe hai(we are waiting from long time)…..then SAM sucked it and then I put cake on his dick(lund) n he put cake on my nipples(chuchi), pussy(chut), and ass(gaand)…..then everyone puts cake on each others face armpit dick pussy ass everywhere and everyone cleaned it….believe me it was so much fun doing this n it was totally planned by 3 cpls to experience something new in our life….

     Then we dance together n we ladies drank beer n men whiskey n smoke too….meanwhile we were having all type of fun masti….after few hours we sat together n 3 cpls gave me gift n whatever u will get will have to accept it whatever they will said will have to do it….I told them today I’m all urs n whatever u will say I will do it….

    One cpl gave me beautiful saree, one cpl gave me white strapless bra n jeans n one cpl gave me butt plug…..I wore everyones gift n clicked pics with them…..cpl who gave me butt plug he himself puts the butt plug in my ass and slaped it n said ARCHU yaar teri gaand badi mast or gol hai, maaruga aaj gaand teri(ARCHU urs ass is big n round n wants to fuck it)…..toh mai boli hamesha toh maarte, ho aaj bhi maar lena(I said everytime u bang my ass whenever u fuck me)….

    Then we ordered food for them from swiggy….

    After dinner, then we fucked each other 2 rounds n all 3 men banged my ass….I double penetration took 2 dick(lunds) at a time….lot more happened during this fucking session like lesbo, pegging, fucking men’s ass with dildo and many more……

    After fucking each other we relaxed there and having chat with each other and sharing each others view on our experience…..I told it was an unexpected experience but yeah memorable one so thank you for it……then they said its all because of ur nice n humble nature its possible….I asked whose ideas was it then SAM told me that I called them only for party but I was not knowing about the cake n experience which we had today….it was not to anyone not even to the ladies said one men , it was planned by me, liked it or not, he asked…..I told at first I shying but then I thought its a new experience so lets enjoy it n believe me I fully enjoyed with u guys n hope u guys too enjoyed my birthday party……all said we enjoyed….then finally we slept nude on each other…..in morning they went….

    After that SAM asked me whether I enjoyed it or not to which I told him I enjoyed every bit of it n thanks a lot for all the surprises.

    At last I would like to tell u that u say fortunately or unfortunately that time my in-laws was not here so I enjoyed it at my home….

    Hope u will enjoy my 33rd birthday celebration story….and at last let me tell u cake was made by my cpl friend n it was not ordered online n believe me cake was too yummy…..

    Plz like, comment n reblog…..